सभी प्रारूपों में बेहतर कप्तान बनेंगे विराट कोहली : एमएस धोनी

भारतीय टीम के सीमित ओवरों के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का मानना है कि उनके उत्तराधिकारी विराट कोहली खेल के तीनों प्रारूपों में बेहतर कप्तान बनेंगे। भारतीय टेस्ट कप्तान की तारीफ करते हुए धोनी ने कहा कि विराट हमेशा खुद को आगे धकेलता है और यही है जो उसे विशेष बनाता है। धोनी के तमिलनाडु टी20 प्रीमियर लीग की आधिकारिक वेबसाइट से बातचीत में कहा, 'विराट ने इतने वर्षों में शानदार प्रदर्शन किया है, अगर आप ध्यान से देखेंगे तो पाएंगे कि आप अपना खेल कैसे सुधार सकते हैं। भारत के लिए पहला मैच खेलने के बाद उसने हमेशा सुधार किया है और हमेशा टीम की जीत में योगदान देने की कोशिश की। उसने छोटा योगदान देकर नहीं बल्कि मैन ऑफ द मैच बनकर अपनी उपयोगिताएं साबित की।' उन्होंने साथ ही कहा, 'मुझे लगता है कि जब फिटनेस की बात होती है तो वह खुद को काफी धकेलता है। खेल को पढ़ना, अपनी योजनाओं का क्रियान्वयन करना कुछ ऐसी चीजें हैं जो उन्हें विशेष बनता है। उन्हें रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (आरसीबी) की कप्तानी का अनुभव है, तथा वो एक वर्ष से अधिक समय से टेस्ट कप्तान भी बने हुए हैं। मुझे लगता है कि आरसीबी की कप्तानी करने से विराट में काफी परिपक्वता आई है। मेरे ख्याल से उन्होंने शानदार काम किया है और उनका भविष्य भी काफी उज्जवल है।' धोनी अब वेस्टइंडीज के खिलाफ अमेरिका में 27 और 28 अगस्त को होने वाले दो अंतरराष्ट्रीय टी20 मैचों में खेलते नजर आएंगे। उन्हें इस छोटी सीरीज का बेसब्री से इंतजार है तथा वो नए कोच अनिल कुंबले के साथ भी काम करने के लिए उत्सुक हैं। धोनी ने कहा, 'अनिल भाई की कप्तानी में और उनके साथ मैंने खेला है। वह विशेष हैं। वह उन चुनिंदा खिलाड़ियों में से हैं जो परिस्थिति अपने पक्ष में नहीं होने के बावजूद भी अपनी गेंदबाजी को लेकर काफी आक्रामक रहते थे। उन्होंने कड़ी मेहनत की है और देश के लिए शानदार प्रदर्शन किया है। वह बहुत ही शानदार हैं।' धोनी ने आगे कहा, 'कुंबले की ईमानदारी, कड़ी मेहनत, प्रभाव और हंसने की भावना शानदार है। उनका मजाक करने का तरीका अलग था। जब हम साथ खेलते थे तब अगर आप उनकी बात सही समय पर समझ जाए तो आप समझ जाएंगे कि उन्होंने मजाक में जवाब दिया है और फिर वो वहां से चले जाते थे। इसलिए यह शानदार है। हम टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर है जो हमारे लिए काफी अच्छा है और मुझे लगता है कि यह हमारा विशेष समय है।' टेस्ट से संन्यास लेने के बाद धोनी के पास काफी खाली समय है और वह इसका उपयोग फिटनेस पर कम करके कर रहे हैं। उन्होंने इस दौरान अपना दो किलो वजन घटाया है।