अब वीरेंदर सहवाग करेंगे क्रिकेट से भ्रष्टाचार को दूर

क्रिकेट का खेल अपने-आप हमेशा से ही लोगों में लोकप्रिय रहा है चाहे वो अच्छे कारणों की वजह से हो या फिर किसी और कारण से। क्रिकेट के रोमांच की वजह से लोग इसको देखने के लिए दूर-दूर से स्टेडियम में जमा होते हैं। पर इस रोमांच को फिक्सिंग और भ्रष्टाचार नाम के काले साये ने पिछले कुछ समय से अपनी चपेट में ले लिया है, जिसे लेकर दुनिया भर के बोर्ड परेशान हैं। पूर्व भारतीय खिलाड़ी बिशन सिंह बेदी और कीर्ति आज़ाद ने मिलकर क्रिकेट में चल रहे भ्रष्टाचार को दूर करने के लिए एक गेट-टूगेदर किया, जिसमें उन्होंने डीडीसीए में होने वाले भ्रष्टाचार को ख़त्म करने की ठानी है। इस गेट-टूगेदर में दिल्ली, हरयाणा और पंजाब के बड़े-बड़े क्रिकेटर शामिल हुए। पूर्व भारतीय दिग्गज बल्लेबाज़ वीरेंदर सहवाग भी इस कार्यक्रम का हिस्सा बने। भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू किये गए इस कार्यक्रम में सहवाग की मौजूदगी से इस आयोजन टीम के एक सीनियर मेम्बर बेहद खुश हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक सहवाग ने लोढ़ा समिति रिपोर्ट में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर कुछ भी नहीं कहा। पर आयोजककर्ताओं का ये मानना है की उनकी मौजूदगी बेहद महत्पूर्ण साबित हुई और साथ ही साथ इस बात का भी संकेत दे रही थी कि कहीं न कहीं सहवाग भी इस आन्दोलन में भाग लेना चाहते हैं। सहवाग जिनके नाम टेस्ट में दो तिहरा शतक दर्ज है इस कार्यक्रम में जमा हुए लोगों को देखकर काफी खुश थे और तो और उन्होंने बेदी जी के पैर छू कर उनसे आशीर्वाद भी लिया। दिल्ली क्रिकेट में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर शुरू की गई इस मुहीम में कीर्ति आजाद, बिशन सिंह बेदी के साथ और भी बड़े खिलाड़ियों ने इसमें अपना हाथ बढ़ाया है। अब देखना ये है कि इन बड़े खिलाड़ियों द्वारा शुरू की गई ये मुहीम कितनी सफल हो पाती है।

Edited by Staff Editor