INDvSL: विराट कोहली टेस्ट सीरीज में टीम के रूप में निरंतरता बरकरार रखना चाहते हैं

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने यह साफ़ कर दिया है कि वे श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज को हल्के में नहीं लेंगे। उन्होंने कहा कि हमने श्रीलंका को क्लीन स्वीप किया था लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि इस सीरीज में हम उन्हें अलग तरीके से लेंगे। कोहली ने इस बात पर जोर दिया कि हम एक टीम के रूप में अपनी निरंतरता बरकरार रखना चाहेंगे।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक कोहली ने कहा कि प्रत्येक मैच अहम होता है तथा प्रत्येक सीरीज बड़ी होती है। ऐसा नहीं है कि हमारे सीरीज हारने पर आप लोग कुछ नहीं कहेंगे। जब आप देश के लिए खेलते हो, तो सब कुछ महत्वपूर्ण होता है। हम एक टीम के रूप में अच्छा करना चाहते हैं और कोई अंतर नहीं रखना चाहते।

ओपनिंग जोड़ी को लेकर कोहली ने कहा कि जब दो लोग अच्छा कर रहें हो और एक बाहर हो तो स्थिति नियंत्रण में होती है। ऐसा केएल राहुल और शिखर धवन के साथ हुआ था लेकिन अब तीन में से दो को चुनना मुश्किल है। कोहली ने ऐसा इसलिए कहा क्योंकि मुरली विजय की टीम में वापसी हुई है और राहुल तथा धवन फॉर्म में हैं। ऐसे में इन दोनों के बीच ही प्रतिस्पर्धा होगी।

इसके अलावा कोहली ने यह भी कहा कि परिस्थितियों के अनुसार टीम का समन्वय स्थापित करते हुए हम मैदान पर उतरेंगे। जीत सभी के दिमाग में रहेगी फिर चाहे हम भारत में खेल रहें हो या बाहर। विपक्षी टीम को ध्यान में रखते हुए हम टीम के रूप में अपनी निरंतरता बरकरार रखना चाहेंगे।

गौरतलब है कि 2012 में इंग्लैंड से टेस्ट सीरीज हारने के बाद से भारत ने घर में अब तक कोई टेस्ट सीरीज नहीं गंवाई है। इस पर कोहली ने कहा कि रिकॉर्ड ध्यान में रखते हुए इस सीरीज में भी हम जीत दर्ज करना चाहेंगे।

उल्लेखनीय है कि भारत में श्रीलंका के खिलाफ भारतीय टीम ने 17 मुकाबले खेले हैं और 10 में जीत दर्ज की है। 7 मैच ड्रॉ समाप्त हुए हैं तथा श्रीलंका को अब तक किसी भी टेस्ट को जीतने में सफलता नहीं मिली है। इसी को लेकर कुछ दिनों पहले श्रीलंका के कप्तान दिनेश चांडीमल ने कहा भी था कि भारत में टेस्ट जीतना एक सपना है। उनका सपना पूरा होता है या नहीं यह आगामी वक्त पर ही पता चलेगा।

Edited by Staff Editor