चेज़ और जोसेफ़ के सामने भारत का टॉप ऑर्डर ढेर, अश्विन और साहा ने स्कोर 200 के पार पहुंचाया

भारत और वेस्टइंडीज़ के बीच 4 टेस्ट मैचों की सीरीज़ का तीसरा टेस्ट मंगलवार को सेंट लूसिया में शुरू हुआ, जहां पहले दिन भारतीय टॉप ऑर्डर पूरी तरह फ़्लॉप रहा। लेकिन इसके बाद आर अश्विन (75*) और ऋद्धिमान साहा (46*) ने शानदार बल्लेबाज़ी करते हुए भारत को मैच में वापसी करा दी है। जमैका टेस्ट में हारा हुआ मैच ड्रॉ कराने के बाद मेज़बान टीम के हौसले इतने बुलंद हो जाएंगे शायद ही किसी ने सोचा होगा। 4 टेस्ट मेचों में 1-0 की बढ़त के साथ जब भारतीय क्रिकेट टीम जमैका से सेंट लूसिया पहुंची, तो पिच में कोई ख़ास फ़र्क नहीं था बस हरी की जगह भूरी घास थी, यानी नमी मौजूद थी। टॉस कैरेबियाई कप्तान ने जीता और आत्मविश्वास से लबरेज़ जेसन होल्डर ने बेझिझक भारतीय बल्लेबाज़ों को न्योता दे दिया। इस मैच में वेस्टइंडीज़ ने जहां राजेंद्र चंद्रिका और देवेंद्र बिशू की जगह लियोन जॉनसन और अलज़ारी जोसेफ़ को मौक़ा दिया, तो वहीं विराट कोहली के तीन फ़ैसलों ने सभी को हैरान कर दिया। टीम इंडिया ने इस मैच में चेतेश्वर पुजारा, अमित मिश्रा और उमेश यादव को बाहर बैठाया और उनकी जगह रोहित शर्मा, रविंद्र जडेजा और भुवनेश्वर कुमार को प्लेइंग-XI में शामिल किया। कैरेबियाई गेंदबाज़ सेंट लूसिया की इस उछाल भरी पिच पर एक अलग ही रंग में दिख रहे थे, मैच के तीसरे ओवर में ही शैनन गैब्रियल ने शिखर धवन को पैवेलियन का रास्ता दिखा दिया, उन्होंने सिर्फ़ एक रन बनाए थे। नंबर-3 पर आए थे इन फ़ॉर्म विराट कोहली, और उनके सामने थे अपना पहला मैच खेल रहे तेज़ गेंदबाज़ अलज़ारी जोसेफ़। जोसेफ़ को भारतीय फ़ैंस नहीं भूल सकते, क्योंकि ये वही गेंदबाज़ थे जिन्होंने इसी साल की शुरुआत में अंडर-19 वर्ल्डकप में भारतीय अंडर-19 टीम को ख़िताबी जीत से महरूम कर दिया था। जोसेफ़ ने इस बार विराट कोहली को सिर्फ़ 3 रनों पर अपना शिकार बनाया, जो उनके करियर का पहला विकेट भी था। 19 रनों पर दो विकेट खोने के बाद दबाव भारत पर था, लेकिन यहां से के एल राहुल (50) और अजिंक्य रहाणे (35) ने तीसरे विकेट के लिए सूझ बूझ की पारी खेलते हुए 58 रनों की साझेदारी कर दी थी। लेकिन लंच से ठीक पहले राहुल अपना अर्धशतक बनाते ही चेज़ की गेंद पर आउट हो गए। लंच तक भारत का स्कोर 87/3 रन था, दूसरे सत्र में उम्मीद थी पुजारा की जगह आए रोहित शर्मा से कि वह एक बड़ी पारी खेलते हुए अपने चयन को सही साबित करेंगे, लेकिन रोहित शर्मा (9) को भी अलज़ारी जोसेफ़ ने विकेट के पीछे कैच आउट कराते हुए भारत को चौथा और बड़ा झटका दे दिया था। रहाणे और आर अश्विन पर अब ज़िम्मेदारी थी संकट से बाहर निकालने की थी, लेकिन चेज़ की गेंद पर स्वीप लगाने की कोशिश में रहाणे क्लीन बोल्ड हो गए। भारत की आधी टीम पैवेलियन लौट चुकी थी। चाय तक भारत ने 5 विकेट के नुक़सान पर 130 रन बना लिए थे, अश्विन 23 और साहा 1 रन बनाकर खेल रहे थे। अंतिम सत्र में इन दोनों बल्लेबाज़ों ने बेहतरीन बल्लेबाज़ी की और छठे विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी निभाते हुए भारत का स्कोर पहले 150 के पार पार पहुंचा दिया था। आर अश्विन ने वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ एक और अर्धशतक पूरा करते हुए भारत को संकट से निकालते हुए 200 रनों के पार पहुंचा दिया था। इसके बाद वेस्टइंडीज़ ने नई गेंद ज़रूर ली, लेकिन अश्विन और साहा ने शानदार बल्लेबाज़ी जारी रखी और शतकीय साझेदारी करते हुए भारत को कोई झटका नहीं लगने दिया। दिन का खेल ख़त्म होने तक टीम इंडिया ने 5 विकेट के नुक़सान पर 231 रन बना लिए थे, अश्विन (72*) और साहा (46*) के बीच अब तक 101 रनों की साझेदारी हो चुकी है। दूसरे दिन भारत का पहला टारगेट होगा 300 के स्कोर को पार करते हुए दबाव एक बार फिर वेस्टइंडीज़ पर डाला जाए। संक्षिप्त स्कोर कार्ड भारत पहली पारी 234/5 (अश्विन 75*, चेज़ 2/38)

Edited by Staff Editor