5 कैरेबियाई खिलाड़ी जो भारत के ख़िलाफ़ चल रही मौजूदा टेस्ट सीरीज़ की खोज हैं

kb-1470159782-800

वेस्टइंडीज़ क्रिकेट की चमक ख़ास तौर से सफ़ेद कपड़ों में फीकी पड़ती जा रही है। क्रिकेट के सबसे छोटे फ़ॉर्मेट में वह अभी भी बेस्ट हैं, लेकिन क्रिकेट के असली 'टेस्ट' में वह फ़ेल हो रहे हैं। भारत के साथ मौजूदा सीरीज़ भी उसी का एक उदाहरण है। भारत बिल्कुल आराम से उन्हें क्रिकेट के हर एक विभाग में चारो खाने चित करता जा रहा है। वेस्टइंडीज़ की इस दशा को देखकर और उसके इतिहास को जानकर अफ़सोस आता है। हालांकि, अभी भी कैरेबियन टीम के लिए सबकुछ ख़त्म नहीं हुआ है, और उन्होंने इस बात को जताने की कोशिश भी है। भारत के ख़िलाफ़ अब तक पहले और दूसरे टेस्ट में भले ही कैरेबियाई टीम एक टीम की तरह न खेल पाई हो, लेकिन उनके कुछ खिलाड़िओं ने उम्मीद ज़रूर जगाई है। आज आपके सामने हम ऐसे ही 5 खिलाड़ियों की फ़हरिस्त लेकर आए हैं, जो इस सीरीज़ की खोज और वेस्टइंडीज़ का भविष्य हो सकते हैं। #1 क्रेग ब्रैथवेट वेस्टइंडीज़ का पुराना स्ट्रोकप्ले, वही कैलिप्सो अंदाज़ और उसी रंग में बल्लेबाज़ी करने की क्षमता इस सलामी बल्लेबाज़ क्रेग ब्रैथवेट में नज़र आ रही है। क्रेग ब्रैथवेट का डिफ़ेंस भी बेहद शानदार हैं, लेकिन अपनी शुरुआत को वह बड़ी पारी में तब्दील कर पाने में नाकाम रहे हैं। जब किसी भी खिलाड़ी को परखने का ज़रिया उसके द्वारा किया जाने वाले स्कोर है, तो इससे भी इंकार नहीं किया जा सकता कि प्रतिभा भी परखने का पैमाना होती है। यही वजह है कि चयनकर्ता भी इस बल्लेबाज़ को लगातार मौक़े दे रहे हैं। वह टीम के उपकप्तान भी हैं, जो ये दर्शाता है कि इस खिलाड़ी पर सभी को भरोसा है, बस ज़रूरत है धैर्य की। ब्रैथवेट के असरदार ऑफ़ स्पिनर भी हैं, लिहाज़ा आने वाले वक़्त में ये खिलाड़ी कैरेबियाई टीम की खोई चमक लौटाने में क़ामयाब हो सकता है। #2 रॉस्टन चेज़ chase-1470159873-800 अगर प्रदर्शन ही परखने का आधार है तो फिर इस खिलाड़ी ने दूसरे टेस्ट में ही साबित कर दिया है कि वह कैरेबियाई टीम के लिए लंबी रेस का घोड़ा हो सकता है। रॉस्टन चेज़, ऑफ़ स्पिनर और निचले क्रम का उपयोगी बल्लेबाज़। भारत के ख़िलाफ़ दूसरे टेस्ट में 5 भारतीय बल्लेबाज़ों को अपनी स्पिन गेंदबाज़ी का शिकार बनाते हुए साबित कर चुके हैं कि उनका चयन तुक्का नहीं था। घरेलू क्रिकेट में भी इस हरफ़नमौला खिलाड़ी ने कमाल का प्रदर्शन किया है। जहां चेज़ ने 59.16 की औसत से 710 रन बनाए थे और सबसे ज़्यादा रन बनाने वालों में चौथे नंबर पर थे। चेज़ को एक विशेषज्ञ बल्लेबाज़ माना जाता है, जो गेंदबाज़ी भी कर सकता है, ऐसे में गेंद से 5 विकेट लेकर इस खिलाड़ी ने साबित किया है कि वह कैरेबियाई टीम का भविश्य हैं। #3 शेन डॉरिच dowrich-1470160002-800 छोटे कद के इस विकेटकीपर को विकेट के पीछे देखते हुए ख़ूब मज़ा आता है, और जिस अंदाज़ में डॉरिच अपने दस्तानों में गेंद को समाते हैं, वह दिग्गज जेफ़ डॉजन की याद दिला देते हैं। विकेट कीपिंग के अलावा डॉरिच विकेट के सामने यानी बल्ले से भी एक प्रतिभाशाली बल्लेबाज़ मालूम पड़ते हैं, जिसकी एक झलक पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में दिखी थी। जब उन्होंने भारतीय गेंदबाज़ों का डटकर सामना किया था और 57 रनों की पारी खेली थी। घरेलू क्रिकेट का उनका प्रदर्शन भी ये साबित करने के लिए काफ़ी है कि इस छोटे कद के विकेटकीपर बल्लेबाज़ का भविष्य उज्जवल है। डॉरिच ने 2014-15 सीज़न में 51.25 की बेहतरीन ओसत से 615 रन बनाए थे। #4 जर्मेन ब्लैकवूड jb-1470160078-800 पहले टेस्ट मैच में इस बल्लेबाज़ ने शून्य का चश्मा पहना, लेकिन जब दूसरे टेस्ट में बल्लेबाज़ी करने आए तो सभी अपना मुरीद बना लिया। भारत के ख़िलाफ़ दूसरे टेस्ट में जब 7 रनों पर 3 कैरेबियाई बल्लेबाज़ पैवेलियन लौट गए थे, तब हरी पिच पर जर्मेन ब्लैकवूड ने विकेट के चारो ओर रन बनाते हुए सभी का दिल जीत लिया था। पिछले एक डेढ़ साल से इस खिलाड़ी को वेस्टइंडीज़ का भविष्य बताया जा रहा है, हालांकि उनके शॉट खेलने के चयन पर थोड़ा संशय ज़रूर है। अगर ब्लैकवूड ये समझ जाएं और परखना सीख जाएं कि किस गेंद को छोड़ना चाहिए और किसे मारना चाहिए, तो ये बल्लेबाज़ निश्चित तौर पर कैरेबियाई टीम के लिए काफ़ी लंबे समय तक खेल सकता है। #5 शैनन गैब्रियल sg-1470160159-800 वेस्टइंडीज़ के लिए टेस्ट क्रिकेट में पिछड़ने का एक कारण ये भी है कि कैरेबियाई द्वीप से तेज़ गेंदबाज़ निकलकर आना कम हो गए। कभी तेज़ गेंदबाज़ों की फ़ैक्ट्री के नाम से जाना जाने वाला कैरेबियाई द्वीप आज पिछड़ गया। लेकिन दाएं हाथ के इस तेज़ गेंदबाज़ ने एक उम्मीद की किरण जगाई है, और अगर उनकी गेंदो पर मिले मौक़ों को लपक लिया जाए, तो इसी सीरीज़ में ये तेज़ गेंदबाज़ वेस्टइंडीज़ की पहचान लौटाने में मदद कर सकता है। ट्रिनिडाड और टोबैगो के इस गेंदबाज़ के पास उछाल भी है और रफ़्तार भी जिससे किसी भी बल्लेबाज़ी लाइन अप को ध्वस्त किया जा सके। लेकिन बस इन्हें तराशने की ज़रूरत है और अगर ऐसा कर पाने में वेस्टइंडीज़ क्रिकेट बोर्ड क़ामयाब हुए तो शैनन गैब्रियल कैरेबियाई टीम में वही चमक ला सकते हैं।

Edited by Staff Editor