Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

क्या होता अगर सौरव गांगुली की अगुवाई में वर्ल्डकप 2003 का चैंपियन भारत बन जाता ?

Modified 09 Sep 2016, 14:42 IST
Advertisement

कभी-कभी लगता है कि काश ज़िन्दगी में भी रिवाइंड बटन होता और हम अपने बीते पलों को बेहतर तरीके से जी लेते। खासकर खेलों की दुनिया में इस बात का मलाल हमेशा रहता है कि अगर हम ऐसा करते तो ऐसा हो जाता। फैन्स अक्सर ऐसी बातों को लेकर चाय की दूकान, बार और कैफे में चर्चा करते रहते हैं। साल 2003 के विश्वकप फाइनल में भारतीय फैन्स के दिल उस वक्त टूट गये थे, जब टीम इंडिया 20 साल बाद विश्वकप ख़िताब से मात्र एक कदम दूर रह गयी थी। उस टीम में हमारे सभी चहेते क्रिकेटर गांगुली, सहवाग, द्रविड़ और सचिन शानदार फॉर्म में थे। ये एक पीढ़ी की टीम थी। अगर उस वक्त ये मैच भारत के फेवर आ जाता तो क्या होता, अगर सचिन फैन्स के भरोसे पर खरे उतरते तो क्या होता, क्या होता अगर भारतीय खिलाड़ी पॉन्टिंग को 121 गेंदों में 140 रन से पहले ही आउट कर देते, जिसकी वजह से ऑस्ट्रेलिया ने इस मैच में 2 विकेट पर 359 का लक्ष्य रखा था। बतौर भारतीय फैन्स हम केवल कयास लगा सकते हैं साथ ही क्रिकेट ऐसा खेल है, जिसमें हम कुछ कल्पना भी सकते हैं। यहां हम उस मैच के परिणाम पर कयास लगाते हुए अपनी संभावनाओं को आपके सामने रख रहे हैं, जो कुछ इस तरह हैं:

#1 ऑस्ट्रेलिया की वनडे में बादशाहत न शुरू होती

oz-2003-1473330979-800 ऑस्ट्रेलिया की टीम का जलवा विश्व क्रिकेट में 1999 में ही शुरू हो गया था। साल 2003 में उन्होंने लगातार दूसरी बार खिताबी जीत हासिल की थी। इसलिए ऑस्ट्रेलियाई टीम इस प्रारूप में सब पर भारी साबित हो रही थी। इसके बाद साल 2007 में इस टीम ने लगातार तीसरी बार वर्ल्डकप ख़िताब पर कब्जा करके सबको हैरान कर दिया। अगर भारत 2003 में जीत हासिल करता तो ऑस्ट्रेलिया की जीत का सिलसिला थम जाता। जो उनके 20 साल के वर्चस्व को भी खत्म कर देता।
1 / 5 NEXT
Published 09 Sep 2016, 14:42 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit