COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

इमरान खान के आग्रह पर टाली थी संन्यास की घोषणा : सुनील गावस्कर

35   //    18 Aug 2018, 11:20 IST

1992 क्रिकेट विश्व कप की विजेता टीम पाकिस्तान के कप्तान इमरान खान अब पड़ोसी मुल्क के प्रधानमंत्री बन चुके हैं। उन्होंने अपने शपथ-ग्रहण समारोह में उन्होंने अपने दौर के साथी खिलाड़ियों को भी बुलावा भेजा था। मगर भारत से नवजोत सिंह सिद्धू के अलावा कोई और उस कार्यक्रम में शामिल नहीं हो सका। बहरहाल इस मौके पर भारत के पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने इमरान खान से जुड़ा एक अहम खुलासा किया है।

सुनील गावस्कर ने एक अंग्रेजी अखबार के कॉलम में लिखा है कि जब वह भारत के इंग्लैंड दौरे के बाद संयास लेने की योजना बना रहे थे तो इमरान ने ही उन्हें ऐसा करने से मना किया था। साथ ही भारत को उसी की सरजमीं पर हराने की चुनौती भी दी थी। दरअसल, 1986 में भारत के इंग्लैंड दौरे के बाद गावस्कर संयास लेने की योजना बना रहे थे। गावस्कर ने आगे लिखा है कि हम लंदन के एक इटालियन रेस्तरां में बैठे लंच कर रहे थे। उस दौरान मैंने इमरान से कहा कि अगर अगले दौरे की घोषणा इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी टेस्ट से पहले नहीं हुई तो मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से अपने संयास की घोषणा कर दूंगा।'

इमरान खान ने सुनील गावस्कर की ये बात सुनते ही उनसे कहा 'अभी आप रिटायर नहीं हो सकते। पाकिस्तान अगले साल भारत आ रहा है और मैं भारत को भारत में हराना चाहता हूं। अगर आप उस टीम का हिस्सा नहीं होंगे तो इसमें वह मजा नहीं आएगा। चलो एक आखिरी बार एक-दूसरे का सामना करें।' आखिरकार कुछ दिनों में ही दौरे की घोषणा हो गई। पाकिस्तान ने सीरीज का आखिरी टेस्ट मैच जीता। इससे पहले के सभी मैच ड्रॉ रहे थे। इस तरह पाकिस्तान ने पहली बार भारत में टेस्ट सीरीज भी अपने नाम की। हालांकि पाकिस्तान सीरीज के बाद भी उन्होंने सन्यास की घोषणा नहीं की क्योंकि वह कुछ समय बाद लॉर्ड्स में होने वाले एमसीसी के 200 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में लॉर्ड्स स्टेडियम में होने वाले टेस्ट मैच में खेलना चाहते थे। जब मैच के लिए टीम की घोषणा हुई तो उसमें कपिल देव, दिलीप वेंगसरकर, इमरान खान और जावेद मियांदाद थे। इस मुकाबले में सुनील गावस्कर और इमरान खान के बीच 182 रनों की साझेदारी हुई। सुनील गावस्कर ने बताया कि इस दौरान मैदान पर हम दोनों के बीच हुई बातचीत बेहद मज़ेदार थी।

सुनील गावस्कर ने इमरान खान के राजनीतिक संघर्ष की प्रशंसा करते हुए उम्मीद जताई है कि वह भारत-पाक के बीच संबंधों व राजनीतिक मुद्दों को सुलझाने पर जरूर विचार करेंगे।

ANALYST
I usually write what I am asked to write .
Advertisement
Fetching more content...