Create

संजू सैमसन को इन बड़े कारणों की वजह से मिलनी चाहिए थी टी20 वर्ल्ड कप टीम में जगह

Northamptonshire v India - T20 Tour Match
संजू सैमसन को नहीं मिली टी20 वर्ल्ड कप टीम में जगह
सावन गुप्ता

संजू सैमसन (Sanju Samson) को अगर भारत के दुर्भाग्यशाली क्रिकेटरों में से एक कहा जाए तो गलत नहीं होगा। वो एक ऐसे खिलाड़ी रहे हैं जिनके पास टैलेंट तो काफी है लेकिन कभी भी भारत के लिए वो अपने उस टैलेंट के हिसाब से नहीं खेल पाए। आईपीएल में जरूर कुछ मौकों पर उन्होंने बेहतरीन पारियां खेलीं लेकिन इंडियन टीम के लिए वो उस तरह का प्रदर्शन नहीं दिखा सके। यही वजह है कि वो टीम से अंदर-बाहर होते रहे।

संजू सैमसन एक ऐसे प्लेयर हैं जो अपने दम पर मैच जिताने की क्षमता रखते हैं। वो जब अपने पूरे लय में खेलते हैं तो फिर लोग रोहित शर्मा के पुल शॉट और विराट कोहली के कवर ड्राइव को भी भूल जाते हैं। संजू सैमसन काफी क्लीन शॉट मारते हैं। हालांकि इन सबके बावजूद वो आगामी टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम में जगह नहीं बना पाए।

संजू सैमसन को एक बार फिर नहीं मिला वर्ल्ड कप टीम में मौका

भारतीय चयनकर्तओं ने टी20 वर्ल्ड कप के लिए ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक को टीम में शामिल किया है। जबकि संजू सैमसन को टीम मैनेजमेंट ने फिर से नजरअंदाज कर दिया। सैमसन ने इस साल के शुरुआत में भारतीय टी20 टीम में वापसी की थी और इस दौरान उन्होंने क्रमश: 39, 18, 77, 30*, और 15 रन बनाये हैं लेकिन इतने रन टीम में वापसी करने के लिए काफी नहीं थे।

अगर हम ऋषभ पंत से सैमसन की तुलना करें तो पंत का भी प्रदर्शन टी20 में वैसा नहीं रहा है लेकिन इसके बावजूद संजू सैमसन को मौका ना देकर पंत को मौका दिया गया। काफी सारे फैंस का मानना है कि पंत की बजाय सैमसन को टी20 वर्ल्ड कप टीम में जगह मिलनी चाहिए थी। इसकी कई सारी वजहें हैं।

पहली बात तो ये कि ऋषभ पंत बाएं हाथ के बल्लेबाज जरूर हैं लेकिन उनका प्रदर्शन टी20 मैचों में अच्छा नहीं रहा है। ऐसा लगता है कि वो मिडिल ऑर्डर में परफॉर्म नहीं कर सकते हैं। वहीं दूसरी तरफ संजू सैमसन को आप किसी भी पोजिशन पर खिला सकते हैं। आईपीएल में वो अलग-अलग पोजिशन पर खेल चुके हैं और परफॉर्म भी किया है। इससे टीम का कॉम्बिनेशन काफी बैलेंस्ड हो जाता।

इसके अलावा संजू सैमसन ऐसे खिलाड़ी हैं जिनकी टाइमिंग काफी लाजवाब होती है। वो गेंद पर जबरदस्ती प्रहार नहीं करते हैं और टाइमिंग के हिसाब से अपने शॉट्स लगाते हैं। ऑस्ट्रेलिया की कंडीशंस में ऐसे बल्लेबाज काफी जबरदस्त साबित हो सकते हैं। वहीं संजू सैमसन के होने से आपको मिडिल ऑर्डर में एक ऐसा बल्लेबाज मिल जाता जो किसी भी पोजिशन से टीम को मैच जिताने की क्षमता रखता हो। वो कुछ ही गेंदों पर मैच का पासा पलटने की क्षमता रखते हैं।


Edited by सावन गुप्ता

Comments

comments icon

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...