Create
Notifications

3 युवा भारतीय खिलाड़ी जिन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में खुद को साबित करने का मौका मिल सकता है 

प्रमुख खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में कुछ नए खिलाड़ी प्लेइंग XI में आएंगे
प्रमुख खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में कुछ नए खिलाड़ी प्लेइंग XI में आएंगे
Ayushman Chaudhary

हर बार की तरह एक बार फिर भारतीय युवा टीम की क्षमता को आंकने और उन्हें खुद को साबित करने के लिए वेस्टइंडीज दौरे पर तीन वनडे मैचों की श्रृंखला के लिए भेजा गया है, जिसकी अगुवाई अनुभवी ओपनर शिखर धवन (Shikhar Dhawan) करेंगे। वनडे श्रृंखला के लिए कई बड़े खिलाड़ियों को आराम दिया गया है, जिसमें रोहित शर्मा (Rohit sharma) ऋषभ पंत (Rishabh Pant) और हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) शामिल हैं। वहीं विराट कोहली (Virat Kohli) और जसप्रीत बुमराह (Jasprit Bumrah) को पूरे वेस्टइंडीज दौरे के लिए आराम दिया गया है।

इस नई नवेली भारतीय युवा टीम में काफी क्षमता दिखती है और सभी युवा खिलाड़ी एकदिवसीय में अपनी प्रतिभा दिखाने की पूरी कोशिश करेंगे। इस आर्टिकल में हम ऐसे ही 3 युवाओं का जिक्र करने जा रहे हैं, जो भारतीय वनडे टीम में मौका पाकर खुद को साबित करना चाहेंगे।

3 युवा भारतीय खिलाड़ी जिन्हें वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे सीरीज में खुद को साबित करने का मौका मिल सकता है

#3 ऋतुराज गायकवाड़

वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे में पदार्पण कर खुद को साबित कर सकते हैं गायकवाड़
वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे में पदार्पण कर खुद को साबित कर सकते हैं गायकवाड़

पिछले साल श्रीलंका के खिलाफ T20I में अपना पदार्पण करने वाले ऋतुराज वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे में अपना पदार्पण कर सकते हैं। हालाँकि उन्होंने अभी तक खेले गए 9 T20I मैचों में मात्र 16.88 की औसत से 135 रन बनाए हैं जिसमें एक अर्धशतक शामिल है। उनके T20I के आंकड़े बेशक उनकी प्रतिभा को परिभाषित नहीं करते परन्तु ऋतुराज के खेल की प्रतिभा हमने पिछले साल के आईपीएल में देखी थी।

उस आईपीएल के आंकड़े उन्हें सभी युवा खिलाड़ियों से कहीं न कहीं ऊपर रखते हैं। यही कारण है कि उनके अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लगातार नाकाम होने के बावजूद लगातार उन्हें मौके मिल रहे हैं। एकदिवसीय मुकाबलों में उनके पास T20I की तरह जल्दबाजी करने की जरूरत नहीं होगी, उनके पास समय लेकर खेलने का वक़्त होगा, जो कि उनकी शैली है।

#2 अर्शदीप सिंह

मैच के दौरान ग्लासेस लगाते तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह
मैच के दौरान ग्लासेस लगाते तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्शदीप कंसिस्टेंट परफॉर्मर हैं। उनके आईपीएल आंकड़ों में भले ही ढेर सारे विकेट ना दिखें, मगर उनका लगातार अपनी टीम के लिए रन रोकना और बल्लेबाजों को परेशान करना, उन्हें बाकी गेंदबाजों से अलग बनाता है। युवा गेंदबाज ने इंग्लैंड के खिलाफ T20I श्रंखला में पदार्पण किया और अपनी गेंदबाजी से सभी इंग्लिश बल्लेबाजों को परेशान किया और साथ ही 2 बल्लेबाजों को पवेलियन का रास्ता भी दिखाया।

वेस्टइंडीज के खिलाफ वनडे में अगर वो डेब्यू करते हैं तो ये देखना काफी दिलचस्प होगा कि लंबे प्रारूप में उनकी गेंदबाजी किस तरह निखर कर आती है। उनके पास एकदिवसीय मुकाबलों का अनुभव न होने के कारण शुरुआत में थोड़ा मुश्किल हो सकती है लेकिन उन्होंने दबाव वाली परिस्थितियों में बेहतर प्रदर्शन किया है और मौका मिलने पर कैरेबियाई टीम के खिलाफ भी अपना जौहर दिखाने में पीछे नहीं रहेंगे।

#1 शुभमन गिल

शुभमन गिल को वनडे में ज्यादा मौके नहीं मिले हैं
शुभमन गिल को वनडे में ज्यादा मौके नहीं मिले हैं

यह कहना गलत नहीं होगा कि शुभामन गिल आने वाले समय में क्रिकेट जगत को अपना मुरीद बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। गिल जिस प्रकार के खिलाड़ी हैं उनका बेस्ट अभी भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आना बाकी है। शुभमन गिल को सभी क्रिकेट एक्सपर्ट आने वाले समय का सितारा मानते हैं और यह सिर्फ इसीलिए है क्योंकि अंडर-19 में उन्होंने अपनी प्रतिभा दिखाई थी।

गिल टेस्ट क्रिकेट में ओपनर के तौर पर टीम में खुद को कई मौकों पर साबित कर चुके हैं लेकिन अभी भी उन्हे अपनी जगह पक्की करने के लिए कुछ अविश्वसनीय खेल दिखाना होगा। वनडे क्रिकेट में उन्हें अभी उतने मौके मिले ही नही हैं कि वो खुद को साबित कर सकें। वनडे में गिल ने मात्र 3 एकदिवसीय मैच खेले हैं, जिसमे उन्होंने 16.33 की औसत से 49 रन बनाए हैं। वेस्टइंडीज दौरा गिल के लिए अपनी प्रतिभा दिखाने का एक बेहतरीन मौका होगा, जहाँ वो अच्छा प्रदर्शन करके खुद को साबित करना चाहेंगे।


Edited by Prashant Kumar

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...