Create

IPL 2018 : आईपीएल के एक सीज़न में सर्वाधिक शिकार करने वाले विकेटकीपर

आईपीएल में बल्लेबाज और गेंदबाज के साथ-साथ विकेटकीपर की भूमिका भी अहम होती है। बल्लेबाज की हल्की सी चूक को भांपकर पवेलियन रवाना कर देना ही अच्छे विकेटकीपर की निशानी है। आइए नजर डालते हैं ऐसे विकेटकीपरों पर जिन्होंने एक सीजन में सर्वाधिक शिकार किए। #1 कुमार संगकारा - कुमार संगकारा ने आईपीएल के चौथे सीज़न में डेक्कन चार्जर्स की ओर से 13 मैचों की 13 पारियों में 19 शिकार किये जो कि किसी भी एक सीज़न में सर्वाधिक शिकार का रिकॉर्ड है। इस दौरान उन्होंने 17 कैच लिए और 2 स्टंपिंग की। उस सीज़न में संगकारा का एक पारी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 5 डिसमिसिल रहा जिसमें पांचों बार उन्होंने बल्लेबाज को कैच आउट किया। #2 दिनेश कार्तिक - आईपीएल के अब तक के सबसे सफल विकेटकीपर दिनेश कार्तिक ने 2015 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की ओर से खेलते हुए 18 डिसमिसिल किये। जो कि आईपीएल के एक सीज़न में किसी विकेटकीपर द्वारा किया गया दूसरा सर्वाधिक डिसमिसिल है। उन्होंने उस दौरान 14 कैच लपके तो वहीं 4 बार बल्लेबाज को स्टम्प आउट किया। #3 एडम गिलक्रिस्ट - डेक्कन चार्जर्स से खेलते हुए गिलक्रिस्ट ने 2009 में 16 मैचों की 16 पारियों में 18 शिकार किये। हालांकि इन 18 शिकार में एक बार भी बल्लेबाज को स्टम्प आउट करना शामिल नहीं रहा। गिलक्रिस्ट का इस दौरान एक पारी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 4 आउट रहा। #4 नमन ओझा - नमन ओझा ने 2016 में सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से 17 मैचों में विकेटकीपिंग करते हुए 18 बार बल्लेबाज को पवेलियन भेजा। इन 18 डिसमिसिल में 18 बार उन्होंने बल्लेबाज को विकेटों के पीछे कैच किया। इस टूर्नामेंट में इनका एक पारी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 4 शिकार रहा। #5 दिनेश कार्तिक - दिनेश कार्तिक का एक और सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2009 में दिल्ली की ओर से खेलते हुए 15 मैचों की इतनी ही पारियों में 17 शिकार रहा है। इस सीज़न में इनके द्वारा किये गए 17 डिसमिसिल में 12 कैच और 5 स्टम्प शामिल रहे। इस सीज़न की एक पारी में इन्होंने 2 कैच और 2 स्टम्प किये जो कि इनकी पारी का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा।

#6 महेंद्र सिंह धोनी - 17 शिकार (2013)
#7 नमन ओझा - 16 शिकार (2012)
#8 रॉबिन उथप्पा - 15 शिकार (2011)
#9 रॉबिन उथप्पा - 15 शिकार (2017)
#10 ब्रेंडन मैकलम - 14 शिकार (2012)
Edited by Staff Editor
Be the first one to comment