COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit

स्लो ओवर रेट से निपटने के लिए विश्व क्रिकेट समिति ने दिए अहम सुझाव

13   //    08 Aug 2018, 15:03 IST

एमसीसी की विश्व क्रिकेट समिति ने स्लो ओवर रेट की समस्या से निपटने के लिए अहम सुझाव दिए हैं। लॉर्ड्स में हुई एमसीसी की दो दिवसीय बैठक के दौरान कई मुद्दों पर चर्चा हुई जिसमें स्लो ओवर रेट का मुद्दा प्रमुख था। इस बैठक में ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान रिकी पोटिंग, भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली और इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइक गेटिंग समेत कई दिग्गज खिलाड़ी मौजूद रहे।

बैठक में स्लो ओवर रेट की समस्या के समाधान के लिए 'शॉर्ट क्लॉक' का सुझाव दिया गया। इसके बारे में विस्तार से बताते हुए रिकी पोटिंग ने कहा ' इस नियम के तहत सभी फील्डरों को एक तय समय के अंदर वापस अपनी-अपनी फील्डिंग पोजिशन पर जाना होगा और गेंदबाज को भी उसी समय के अंदर गेंदबाजी के लिए तैयार होना होगा। वहीं जब नया बल्लेबाज क्रीज पर आएगा तो उसके पास भी एक तय सीमा होगी जिसके अंदर उसे गेंदबाज का सामना करने के लिए तैयार होना पड़ेगा।

वहीं इससे निपटने के लिए एक रन पेनल्टी का भी सुझाव दिया गया। रिकी पोटिंग ने कहा कि खिलाड़ियों के ऊपर जुर्माना लगा देने से कोई प्रभाव नहीं पड़ता है, वो फिर से वही गलती दोहराते हैं, इसलिए रन पेनल्टी लगाई जाएगी। इससे उनके ऊपर काफी असर पड़ेगा। पोटिंग ने कहा कि इससे टीम का कप्तान अपने खिलाड़ियों को लेकर ज्यादा जागरूक रहेगा और गेंदबाजों से जल्दी-जल्दी ओवर करने को कहेगा। उन्होंने कहा कि जिस तरह का मैच हाल ही में इंग्लैंड और भारत के बीच हुआ, उस स्थिति में 20 रन की भी पेनल्टी टीम को काफी भारी पड़ सकती है।

गौरतलब है इस साल के कैरेबियन प्रीमियर लीग में स्लो ओवर रेट को लेकर एक नए तरह के नियम का प्रावधान किया गया है। इसके मुताबिक अगर कोई टीम तय समय के अंदर अपने ओवर नहीं कर पाती है तो पेनल्टी के रूप में उसके नेट रन रेट से 0.05 प्वांट घटा दिए जाएंगे। आईसीसी ने बैठक के दौरान एक आंकड़ा पेश किया कि पिछले 11 साल के दौरान पहली बार टेस्ट मैचों में ओवर रेट सबसे कम रहा और टी20 का ओवर रेट और भी कम रहा। इसी वजह से समिति ने इस तरह का सुझाव दिया है।

Fetching more content...