Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

वर्ल्ड कप 2019: आईसीसी ने महेंद्र सिंह धोनी के विकेटकीपिंग ग्लव्स से सेना का लोगो हटवाने को कहा

Richa Gupta
ANALYST
न्यूज़
722   //    Timeless

Enter caption

महेंद्र सिंह धोनी की भारतीय सेना के प्रति दीवानगी किसी से छिपी नहीं है। उन्होंने कई बार कहा है कि वह अगर क्रिकेट में न होते तो सेना में भर्ती होते। उनका सेना के प्रति प्रेम आईसीसी वर्ल्डकप 2019 में भी नजर आ रहा है। दरअसल, उन्होंने विश्वकप में अपनी विकेटकीपिंग के दस्तानों पर सेना के बलिदान बैज का लोगो लगा रखा है। अब भारतीय टीम के दिग्गज खिलाड़ी से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने इस लोगो को हटाने के लिए कहा है। आईसीसी ने इसके लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) से अपील की है कि वे धोनी से उनके ग्लव्स में लगे सेना के खास लोगो को हटाने के लिए कहें। धोनी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विश्वकप के अपने पहले मैच में सेना के लागो वाला दस्ताना पहनकर खेले थे।

आईसीसी ने बीसीसीआई से कहा है कि वह सुनिश्चित करवाएं कि धोनी यह लोगो अपने विकेट कीपिंग दस्ताने से हटवा दें। आईसीसी के महाप्रबंधक क्लेयर फरलोंग ने कहा कि हमने भारतीय बोर्ड से इस चिन्ह को हटवाने की गुजारिश की है। धोनी के दस्ताने पर बलिदान ब्रिगेड का चिन्ह है। इसे सिर्फ पैरामिलिट्री कमांडो को ही लगाने का अधिकार है। इस बैज में 'बलिदान' शब्द को देवनागरी लिपि में लिखा गया है। यह बैज चांदी से बना होता है। बैज के दोनों तरफ विंग्स और बीच में खंजर होता है। धोनी ने साल 2015 में आगरा स्थित पैरा ब्रिगेड के साथ प्रशिक्षण लिया था।

वहीं, सोशल मीडिया पर महेंद्र सिंह धोनी की काफी तारीफ हो रही है लेकिन आईसीसी की सोच और नियम अलग हैं। आईसीसी के नियम के मुताबिक, आईसीसी के कपड़ों या अन्य चीजों पर अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान राजनीति, धर्म या नस्लभेदी जैसी चीजों का संदेश नहीं होना चाहिए। धोनी को 2011 में पैराशूट रेजिमेंट में लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद उपाधि मिली थी।

 Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...