Create

वर्ल्ड कप 2019: खिलाड़ियों के चयन में प्रत्येक टीम की सबसे बड़ी गलती

Cricket

आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 को शुरु होने में अब कुछ दिन ही बचे रह गए हैं। इस वर्ल्ड कप में शामिल होने वाली सभी 10 टीमों ने खिलाड़ियों की चयन प्रक्रिया 23 अप्रैल की निर्धारित समय सीमा से पहले ही पूरी कर ली है। हालांकि आगे की संभावनाओं को देखते हुए इन टीमों के पास 23 मई तक का समय और है, कि वे चोटिल हुए या फिर खराब प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों का विकल्प पर विचार कर लें।

30 मई से जहां इंग्लैंड में क्रिकेट विश्व कप की शुरुआत हो जाएगी, तो वहीं 23 मई के बाद से सभी 10 टीमों के अभ्यास मैच भी शुरू हो जाएंगे। इस बार का विश्व कप इंग्लैंड में आयोजित किया जा रहा है और इस विशाल टूर्नामेंट का पहला मैच भी मेजबान इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेला जाना है। टूर्नामेंट में प्रत्येक टीम को अन्य 9 टीमों से एक-एक मैच खेलने होंगे और इसमें बेहतर प्रदर्शन करने वाली 4 शीर्ष टीमें ही सेमीफाइनल में पहुंचेंगी।

विश्व कप से पहले किसी भी टीम के लिए खिलाड़ियों का चयन करना सबसे मुश्किल काम होता है, क्योंकि एक छोटी सी गलती से टीम को इसका खामियाजा टूर्नामेंट में हार के रूप में भुगतना पड़ता है। आज हम आपको इस बार के विश्व कप में भी प्रत्येक टीम में खिलाड़ियों के चयन में हुई गलतियों के बारे में बताने जा रहे हैं। चलिए डालते हैं नजर, प्रत्येक टीम की उस गलती पर-

अफगानिस्तान: गेंदबाज शापूर जादरान को बाहर करना

Shapoor Zadran

सबसे पहले अगर हम आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 के लिए अफगानिस्तान क्रिकेट टीम की ओर से खिलाड़ियों के चयन में की गई गलती पर बात करें, तो इस टीम में सबसे अनुभवी गेंदबाज शापूर जादरान को शामिल न किया जाना है। ऑलराउंडर गुलबदीन नैब की अगुवाई वाली इस टीम की घोषणा 23 अप्रैल से पहले ही हो गई थी लेकिन इस टीम में जादरान को जगह नहीं दी गई।

बताते चलें कि जादरान को अफगानिस्तान की टीम का सबसे खतरनाक गेंदबाज माना जाता है, जिन्होंने साल 2015 में ऑस्ट्रेलिया में आयोजित हुए क्रिकेट विश्वकप के दौरान अपनी टीम की ओर से सबसे ज्यादा विकेट लिए थे। फिर भी इस अनुभवी गेंदबाज को टीम ने 2019 में विश्वकप के लिए चुनी गई टीम से बाहर रखा, जो कि आने वाले समय में उनके लिए सबसे बड़ी चूक हो सकती है।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं

वेस्टइंडीज : फेबियन एलन का चयन

Fabian Allen

फेबियन एलन एक ऐसे युवा क्रिकेटर हैं, जिन्हें अभी मात्र 4 वनडे मैच खेलने का अनुभव है। जिसमें उन्होंने अभी मात्र 25 रन ही टीम के लिए बनाए हैं। ऐसे में वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के लिए जिन 15 खिलाड़ियों का चयन किया गया है, उसमें फेबियन एलन को भी जगह दी गई है। फेबियन एक ऑफ स्पिन गेंदबाज होने के साथ-साथ बल्लेबाज भी हैं। लेकिन फिर भी वह टीम के लिए एक फ्रेशर ही हैं।

हालांकि फेबियन को क्षेत्ररक्षण में काफी उम्दा खिलाड़ी माना जाता है लेकिन इसके अलावा उनके अपने आप को साबित करने के लिए अभी कुछ भी नहीं है। वहीं उनकी जगह मर्लोन सैमुअल्स जैसे अनुभवी खिलाड़ी को टीम में कोई जगह नहीं दी गई। ऐसे में वेस्टइंडीज के टीम चयन के दौरान हुई यह चूक विश्वकप के दौरान टीम को नुकसान भी पहुंचा सकती है।

श्रीलंका : दिनेश चांडीमल को बाहर करना

Dinesh Chandimal

आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में शामिल होने वाली श्रीलंकाई टीम ऐसी टीम होगी, जिसके ज्यादातर अनुभवी खिलाड़ी इस टीम का साथ छोड़ चुके हैं। जिनमें सबसे बेहतरीन खिलाड़ी महेला जयवर्धने और कुमार संगाकारा का नाम शामिल हैं। वहीं इस टीम की कमान एक ऐसे खिलाड़ी के हाथ में है, जो एक बेहतरीन टेस्ट खिलाड़ी तो हैं, लेकिन इनका वनडे क्रिकेट रिकॉर्ड बेहद खराब है। श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के कप्तान दिमुथ करुणारत्ने 17 वनडे मैचों में 200 से ज्यादा रन बनाने में भी असफल रहे हैं।

वहीं इस टीम में शामिल दिनेश चांडीमल एक ऐसे अनुभवी खिलाड़ी थे, जिन्होंने जयवर्धने और संगाकारा दोनों के साथ काफी क्रिकेट खेला है और इन्हें 150 वनडे मैचों का अनुभव है। ऐसे में दिनेश चांडीमल को 15 सदस्यों वाली वर्ल्डकप टीम से बाहर का रास्ता दिखाना टीम की सबसे बड़ी गलती साबित हो सकती है।

बांग्लादेश: अबू जायद का चयन

Abu Jayed

विश्व कप के लिए टीम चयन में बांग्लादेश की टीम ने हैरान करने वाला काम किया है। बांग्लादेश की टीम ने विश्व कप 2019 के लिए जिस 15 सदस्यीय टीम का चयन किया है, उसमें ऐसे खिलाड़ी को शामिल किया है, जिसने अभी तक वनडे मैचों में डेब्यू ही नहीं किया है। इनका नाम है अबू जायद।

जायद को अनुभवी इमरुल कायस की जगह पर टीम में शामिल किया गया है। वहीं टीम के पास तस्कीन अहमद जैसे अनुभवी खिलाड़ी शामिल हैं, लेकिन उसकी जगह तेज गेंदबाज जायद को टीम में जगह दी गई, जिनके पास 5 टेस्ट मैच और 3 टी20 मैच का ही अनुभव है और इस छोटे से करियर में भी वह काफी महंगे गेंदबाज साबित हुए हैं। ऐसे में जायद आने वाले विश्वकप में टीम की परेशानी का सबसे बड़ा कारण बन सकते हैं।

पाकिस्तान : मोहम्मद आमिर को छोड़ना

Mohammad Amir

पाकिस्तान की क्रिकेट टीम ने भी श्रीलंकाई क्रिकेट टीम वाली गलती दोहराई है। इस टीम ने विश्व कप के लिए चुने गए खिलाड़ियों में मोहम्मद आमिर जैसे तेज गेंदबाज को जगह नहीं दी है। मोहम्मद आमिर का पुराना रिकॉर्ड बेहद शानदार है और वह टीम के सबसे घातक गेंदबाजों में गिने जाते हैं। उन्होंने साल 2017 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी।

हालांकि इस टीम में उनके अलावा कई अन्य पेसर भी शामिल हैं, फिर भी आमिर एक ऐसे गेंदबाज हैं, जिन्हें काफी लंबा अनुभव है और इंग्लैंड की गेंदबाजी परिस्थितियां भी उनके अनुकूल हैं। फिर भी टीम के द्वारा इस खिलाड़ी को बाहर बैठाया जाना हैरान करता है और शायद यह खिलाड़ियों के चयन में पाकिस्तान की सबसे बड़ी चूक भी साबित हो सकती है।

दक्षिण अफ्रीका: रीज़ा हेंड्रिक्स को छोड़ना

Reeza Handriks

दक्षिण अफ्रीका की टीम वैसे तो कई बेहतरीन खिलाड़ियों से सजी हुई है और इस टीम को विश्व कप ट्रॉफी का प्रबल दावेदार भी माना जा रहा है। फिर भी इस खिलाड़ी ने आईसीसी क्रिकेट विश्वकप 2019 के लिए टीम चयन में एक छोटी सी गड़बड़ी कर दी। इस टीम में डेविड मिलर, फाफ डू प्लेसी, जेपी डुमिनी और क्विंटन डी कॉक जैसे दिग्गज खिलाड़ी शामिल हैं, जो अकेले ही मैच का रुख पलट सकते हैं।

वहीं टीम के चयन में एक ऐसे खिलाड़ी को शामिल नहीं किया गया, जिसके जरिए साउथ अफ्रीकन टीम की ओपनिंग बल्लेबाजी क्रम और भी ज्यादा सुधर सकता था। हम बात कर रहे हैं, रीज़ा हेंड्रिक्स की, जो एक बेहतरीन ओपनर बल्लेबाज माने जाते हैं। खिलाडियों के चयन से पहले रसी वैन डर डुसेन और रीज़ा हेंड्रिक्स दोनों ही बेतरीन खिलाड़ियों के नाम पर मुहर लगना तय माना जा रहा था लेकिन अंत में केवल डुसेन ही टीम में जगह बनाने में कामयाब हो सके, जबकि हेंड्रिक्स को बाहर का रास्ता दिखाई गया।

जबकि हेंड्रिक्स को अगर टीम में शामिल किया जाता, तो वे खराब फॉर्म से जूझ रहे ओपनर बल्लेबाज हाशिम अमला का एक बेहतरीन विकल्प हो सकते थे। ऐसे में यह दक्षिण अफ्रीका टीम की सबसे बड़ी चूक मानी जा रही है।

न्यूजीलैंड : टॉम ब्लंडेल का चयन

Thomas Blundell

न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के लिए जिन 15 खिलाड़ियों का चयन किया गया है, उससे इस टीम की लगभग सभी कमियां पूरी हो जाती हैं। लेकिन टीम को एक अच्छे कीपर बैट्समैन की कमी शायद अभी भी खल रही है। टीम ने इस जिम्मेदारी के लिए टॉम लैथम को चुना है, जबकि उनके बैकअप के लिए टीम में टॉम ब्लंडेल को शामिल किया गया है। टीम का यह फैसला सभी को खटक रहा है।

क्योंकि ब्लंडेल के पास अभी अनुभव की काफी कमी है और अगर टूर्नामेंट के दौरान कीपर बल्लेबाज लैथम अगर खेलने में असमर्थ होते हैं, तो ब्लंडेल को अपने आप को लैथम की जगह पर सेट कर पाना काफी मुश्किल काम होगा। क्योंकि ब्लंडेल ने अभी तक अपना वनडे डेब्यू नहीं किया है और ऐस में उनसे विश्वकप के दौरान बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद करना नाइंसाफी होगी। ऐसे में यह फैसला न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम की सबसे बड़ी चूक साबित हो सकती है।

ऑस्ट्रेलिया : पीटर हैंड्सकॉम्ब को बाहर करना

Peter Handcombs

विश्व कप के लिए खिलाड़ियों का चयन करने वाली सबसे पहली टीम ऑस्ट्रेलिया थी। इस टीम में वैसे तो कई स्टार खिलाड़ी शामिल किए गए हैं, फिर भी एक ऐसे खिलाड़ी को टीम में जगह नहीं दी गई है, जिसकी वजह से शायद टीम के फैन्स को निराशा हाथ लग सकती है। वो खिलाड़ी हैं, पीटर हैंड्सकॉम्ब।

क्योंकि टीम में स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर जैसे धुरंधर खिलाड़ियों की निलंबन की स्थिति में हैंड्सकॉम्ब सबसे परफेक्ट खिलाड़ी साबित होते हैं। वहीं ऑस्ट्रेलिया की टीम विश्वकप के दौरे पर केवल एक ही विकेट कीपर एलेक्स केरी के साथ जा रही है, ऐसे में किन्हीं कारणों से उनका खेल प्रभावित होता है, तो टीम को हैंड्सकॉम्ब जैसे बेहतरीन विकेट कीपर बल्लेबाज की कमी खलेगी।

भारत: अंबाती रायडू को बाहर करना

Ambati Raydu

विश्व कप जीतने वाली टीमों में भारत को भी सबसे प्रबल दावेदार माना जा रहा है, ऐसे में हर किसी की नजर भारत की ओर से खिलाड़ियों के चयन पर टिकी हुई थीं। वैसे तो इस टीम में कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी शामिल हैं लेकिन सभी की नजर दो खिलाड़ियों पर टिकी हुई थी।, जिनमें पहला नाम है अंबाती रायडू का और दूसरा नाम है रिषभ पंत का। लेकिन दोनों ही खिलाड़िंयों को टीम में जगह नहीं दी गई।

पंत का टीम में शामिल न किया जाना सभी को समझ में आता है लेकिन रायडू जैसे अनुभवी बल्लेबाज की जगह विजय शंकर जैसे नए खिलाड़ी को टीम में शामिल किया जाना बिल्कुल हैरान करने वाला फैसला है। विजय शंकर को टीम में नंबर 4 की जिम्मेदारी दी गई है, जबकि रायडू पहले ही इस क्रम पर टीम के लिए बल्लेबाजी कर चुके हैं। हालांकि रायडू इन दिनों खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं और इस कराण उन्हें टीम से बाहर किया गया। लेकिन रायडू के पास कई बड़े टूर्नामेंट खेलने का अनुभव है, जबकि विजय शंकर इस मामले में नए हैं।

इंग्लैंड : मार्क वुड का चयन

Mark wood

इंग्लैंड इस बार के क्रिकेट विश्वकप की मेजबानी करेगा, ऐसे में उसके फैन्स की नजर अपनी टीम पर होंगी और इस टीम पर सबसे बेहतर प्रदर्शन करने का दबाव भी होगा। हालांकि इंग्लैंड की क्रिकेट टीम कई बेहतरीन खिलाड़ियों से सजी हुई है। हाल ही में इंग्लैंड के धाकड़ बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो का लाजवाब प्रदर्शन आईपीएल में सबके सामने भी आया।

इस टीम में उनके अलावा कई अन्य बेहतरीन खिलाड़ी शामिल हैं, जिसमें मोइन अली, जो रूट, इयान मॉर्गन और बेन स्टोक्स का नाम भी शामिल है, फिर भी टीम के 15 खिलाड़ियों में एक ऐसे खिलाड़ी का नाम भी शामिल है, जिनका चयन शायद उचित नहीं है, वह हैं तेज गेंदबाज मार्क वुड। मार्क वुड का चयन इसलिए भी सबको खल रहा है, क्योंकि उन्होंने हाल में ऐसा कुछ भी नहीं किया है, जो उन्हें इस पद पर चुना जाए। वहीं उनकी जगह क्रिस जॉर्डन जैसे अनुभवी खिलाड़ियों को टीम से बाहर बैठाया गया है, जो शायद एक गलत फैसला साबित हो सकता है।

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़
Be the first one to comment