Create
Notifications

रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में दोहरा शतक ना लगा पाने का युवा बल्लेबाज ने जताया अफ़सोस, दी बड़ी प्रतिक्रिया

यशस्वी जायसवाल ने उत्तर प्रदेश के खिलाफ दो बेहतरीन पारियां खेली थी
यशस्वी जायसवाल ने उत्तर प्रदेश के खिलाफ दो बेहतरीन पारियां खेली थी
Prashant Kumar

युवा बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) शानदार फॉर्म में चल रहे हैं और उन्होंने अपनी फॉर्म का फायदा उठाते रणजी ट्रॉफी 2021-22 (Ranji Trophy 2021-22) के सेमीफाइनल में दो शतक लगाए। उत्तर प्रदेश के खिलाफ अहम मुकाबले में जायसवाल को उनकी शानदार बल्लेबाजी के लिए प्लेयर ऑफ़ द मैच भी चुना गया।

उत्तर प्रदेश के खिलाफ पहली पारी में यशस्वी जायसवाल ने 227 गेंदों में 15 चौकों की मदद से 100 रन बनाये। हालांकि उन्हें दूसरी पारी में अपना खाता खोलने के लिए 54 गेंदें लग गई लेकिन युवा खिलाड़ी ने शानदार बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया और 372 गेंदों में 181 रन की पारी खेली।

टाइम्स ऑफ़ इंडिया के साथ इंटरव्यू में बाएं हाथ के बल्लेबाज ने दावा किया कि वह दोहरा शतक लगा सकते थे। उन्होंने कहा,

मुझे लगता है कि मैं और अधिक रन बना सकता था, शायद 200। लेकिन यह ठीक है। मैं अपने प्रदर्शन और सेमीफाइनल में टीम के प्रदर्शन से खुश हूं। मैं अभी फाइनल पर ध्यान दे रहा हूं। मैं बड़े मैच में लय जारी रखना चाहता हूं। मैंने कड़ी मेहनत की और कुछ शॉट्स और तकनीकों पर काम किया। समय के साथ, मैंने बहुत आत्मविश्वास हासिल किया है। मुझे अपने खेल और क्षमताओं पर भरोसा है।

दोनों पारियों में शतक लगाने के बाद यशस्वी जायसवाल ने बनाई खास लिस्ट में जगह

सेमीफाइनल की दोनों पारियों में शतक लगाने के बाद, यशस्वी जायसवाल रणजी मैच में दो शतक लगाने वाले मुंबई के पांचवें बल्लेबाज बन गए हैं। वह एक खास लिस्ट में शामिल हो गए हैं, जिसमें सचिन तेंदुलकर, वसीम जाफर, रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे शामिल हैं।

इस खास लिस्ट में शामिल होने को लेकर युवा बल्लेबाज ने कहा,

मुझे इस रिकॉर्ड की जानकारी नहीं थी। जब मैं ड्रेसिंग रूम में लौटा तो मेरे साथियों ने मुझे इस बारे में बताया। मैं सचिन सर, वसीम सर, रोहित और अजिंक्य जैसे दिग्गजों के साथ अपना नाम देखकर सम्मानित महसूस कर रहा हूं।

Edited by Prashant Kumar

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...