टीम चयन से पहले होगा खिलाड़ियों का यो-यो टेस्ट: बीसीसीआई

बीसीसीआई ने फैसला लिया है कि टीम के चयन से पहले खिलाड़ियों का फिटनेस टेस्ट होगा और उसमें पास होने के बाद ही प्लेयर्स को टीम में चुना जाएगा। हाल ही में मोहम्मद शमी, अंबाती रायडू को टीम में चुने जाने के बाद भी यो-यो टेस्ट में फेल होने के कारण टीम से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था। इससे पहले संजू सैमसन भी इस टेस्ट में फेल हो गए थे, जिसके बाद उनका नाम भारत ए टीम से वापस ले लिया गया था। अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट और इंग्लैंड टूर के लिए भारतीय टीम का ऐलान आईपीएल के बीच में ही कर दिया गया था। हालांकि सभी खिलाड़ियों का फिटनेस टेस्ट हाल ही में बैंगलोर के एनसीए में हुआ। इस पूरे मुद्दे पर प्रशासकों की समिति के अध्यक्ष विनोद राय, डायना एडुल्जी, बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी और सबा करीम के बीच बातचीत हुई। मीटिंग के बाद बीसीसीआई ने पीटीआई से कहा, "आगे जाकर खिलाड़ियों को फिटनेस टेस्ट पास करने के बाद ही टीम में चुना जाएगा। आईपीएल के कारण इस बार खिलाड़ियों का फिटनेस टेस्ट टीम के चयन के बाज हुआ, जिससे हालात काफी खराब हो गए थे और ऐसी चीजें दोबारा नहीं होंगी।" रायडू ने आईपीएल में शानदार प्रदर्शन के दम पर इंग्लैंड दौरे पर होने वाले एकदिवसीय टीम में वापसी की थी, लेकिन वो यो-यो टेस्ट पास नहीं कप पाए, जिसके बाद उनकी जगह टीम में सुरेश रैना को जगह मिली। रायडू से पहले शमी भी इस टेस्ट को पास नहीं कर पाए और उनकी जगह अफगानिस्तान के खिलाफ हुए ऐतिहासिक टेस्ट में युवा तेज गेंदबाद नवदीप सैनी को मौका मिला था। हालांकि शमी को इंग्लैंड के खिलाफ होने वाली 5 मैचों की सीरीज से पहले एक बार फिर अपनी फिटनेस को साबित करने का मौका मिलेगा। इस मीटिंग में पहले इस बात का ऐलान भी किया गया था कि उत्तराखंड की टीम इस रणजी ट्रॉफी खेलते हुए अपना डेब्यू करेगी।