वनडे क्रिकेट इतिहास में सबसे कम उम्र में शतक लगाने वाले 5 खिलाड़ी

न्यूजीलैंड की 17 वर्षीय बल्लेबाज अमेलिया केर ने हाल ही में सबसे कम उम्र में दोहरा शतक और सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर बनाकर अपना नाम क्रिकेट इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज करा दिया है। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया की बेलिंडा क्लार्क के नाम महिला वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा व्यक्तिगत स्कोर का रिकार्ड था। लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि यह रिकार्ड केर ने सिर्फ 17 साल की उम्र में तोड़ा है। हालाँकि, सभी क्रिकेट खिलाड़ियों का यह सपना होता है कि वे जल्द से जल्द अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए खेलें और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने देशों का प्रतिनिधित्व करें लेकिन किसी खिलाड़ी का बहुत कम उम्र में कोई विश्व रिकार्ड तोड़ना या शतक लगाना सचमुच शानदार है। तो आइये पुरुषों और महिलाओं की वनडे टीम में बहुत कम उम्र में शतक लगाने वाले 5 खिलाड़ियों पर एक नज़र डालें:

#5 शार्लोट एडवर्ड्स

शार्लोट एडवर्ड्स ने अपने 20 साल के क्रिकेट करियर में महिला वनडे इतिहास में कई कीर्तिमान स्थापित किये हैं। जब एडवर्ड्स ने 1996 में अपने क्रिकेट करियर की शुरुआत की तो उस समय वह इंग्लैंड के लिए खेलने वाली सबसे कम उम्र की खिलाड़ी बनी थीं। इस युवा महिला क्रिकेटर ने इंग्लैंड महिला टीम के दक्षिण अफ्रीका दौरे में अपने 18 वें जन्मदिन पर वनडे में अपना पहला शतक लगाया था। उनके शानदार 102 रनों की बदौलत इंग्लैंड ने 253 रन बनाए थे, हालाँकि उनका पहला शतक टीम के किसी काम ना आ सका और इंग्लैंड महिला टीम ये मैच हार गयी थी। इसके बाद इस प्रतिभाशाली क्रिकेटर ने इंग्लैंड का नेतृत्व भी किया और इंग्लैंड की महिला और पुरुष टीमों में सबसे सफल कप्तानों में से एक रहीं। उन्होंने 220 मैचों में इंग्लैंड का नेतृत्व किया और अपनी टीम को तीन एशेज सीरीज़ (2008, 2013 और 2014) और 2009 में वनडे विश्व कप और टी -20 विश्व कप का ख़िताब जिताया।

#4 उस्मान ग़नी (17 साल, 242 दिन)

उस्मान गनी अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के स्टार खिलाडी हैं और बहुत तेज़ी से उन्होंने अपने प्रदर्शन में सुधर किया है। इस स्टाइलिश सलामी बल्लेबाज ने 17 साल की उम्र में अपनी अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत की थी। इतना ही नहीं, अपने चौथे वनडे में उन्होंने केवल 17 साल की उम्र में शतक लगाकर इतिहास रच दिया। ज़िम्बाव्बे के खिलाफ चौथे वनडे मैच में उन्होंने 143 गेंदों पर 118 रनों की पारी खेली। उस पारी में अफगानिस्तान के लिए दूसरा सबसे बड़ा स्कोर गुलबदिन नाइब (23 ) ने बनाया था। हालाँकि गनी का यह शतक टीम के काम न आ सका और जिम्बाब्वे ने यह मैच जीत लिया, गनी अभी 21 साल के हैं और अफ़ग़ानिस्तान के क्रिकेट के भविष्य के लिए वह बेहद अहम खिलाड़ी हैं।

#3 लॉरा वोल्वार्ट

दक्षिण अफ़्रीकी बल्लेबाज़ लॉरा वोल्वार्ट ने फरवरी 2016 में इंग्लैंड के ख़िलाफ अपने वनडे करियर की शुरुआत की थी। अगस्त 2016 में वह दक्षिण अफ्रीका के क्रिकेट इतिहास में महिला और पुरुष टीमों में सबसे कम उम्र में शतक बनाने वाली बल्लेबाज़ बनी थी। उस समय 17 वर्षीय इस प्रतिभाशाली सलामी बल्लेबाज ने आयरलैंड के खिलाफ 105 रनों की पारी खेली और अपनी टीम की 67 रनों से जीत में अहम भूमिका निभाई थी। वोलवार्ट के अभी क्रिकेट की शुरुआत की है और वह 2018-19 सत्र से पहले दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड द्वारा राष्ट्रीय अनुबंध से सम्मानित चौदह खिलाड़ियों में से एक हैं।

#2 शाहिद आफ़रीदी (16 साल, 217 दिन)

पाकिस्तान के धाकड़ बल्लेबाज़ शाहिद आफरीदी ने अक्टूबर 1996 में 16 साल की उम्र में अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की शुरुआत की थी, जब उन्हें केन्या के खिलाफ पाकिस्तान की प्लेइंग-XI में शामिल किया गया था। हालाँकि इस मैच में उन्हें बल्लेबाज़ी का मौका नहीं मिला और गेंदबाज़ी में भी उन्हें कोई विकेट हासिल नहीं हुआ। लेकिन इसी टूर्नामेंट में दो दिनों बाद जब उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ अपना अगला मुक़ाबला खेला तो कसर पूरी कर दी। 'बूम बूम' आफरीदी को 3 नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा गया था, और अंतर्राष्ट्रीय करियर में ये आफ़रीदी की पहली पारी थी, इस युवा बल्लेबाज़ ने ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी करते हुए वनडे क्रिकेट में 37 गेंदों में सबसे तेज शतक लगाकर इतिहास रच दिया और उनका यह रिकॉर्ड 18 सालों तक कायम रहा। और इस तरह, शाहिद 'बूम बूम' आफरीदी, 16 साल और 217 दिन की उम्र में वनडे क्रिकेट के इतिहास में सबसे कम उम्र में सबसे तेज़ शतक लगाने वाले दुनिया के पहले और एकमात्र खिलाड़ी बने।

#1 मिताली राज (16 साल, 205 दिन)

मिताली दोरई राज भारतीय महिला क्रिकेट की सबसे सफल कप्तान हैं और लगभग दो दशकों तक उन्होंने महिला क्रिकेट का पूरा स्वरूप बदल दिया है। महिला क्रिकेट के इतिहास में वह सबसे ज़्यादा रन बनाने वाली बल्लेबाज़ तो हैं ही, इसके साथ-साथ उनके नाम सबसे कम उम्र में शतक लगाने का रिकार्ड भी दर्ज है। मिताली को सिर्फ 14 साल की उम्र में 1997 क्रिकेट विश्वकप की टीम में शामिल किया गया लेकिन उन्हें कोई मैच खेलने का मौका नहीं मिला। इसके बाद 16 साल की उम्र में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पर्दापण किया और आयरलैंड के खिलाफ 114 रनों की पारी खेलकर टीम इंडिया को 161 रनों से जीत दिलाई थी, मिताली का वनडे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे कम उम्र में शतक लगाने का रिकॉर्ड आज भी क़ायम है। लेखक: माल्या पिलानी अनुवादक: आशीष कुमार

App download animated image Get the free App now