Create
Notifications

Free Fire में बैन एकाउंट को अन बैन कैसे करें?

Free Fire: How to unban suspended IDs (Picture Courtesy: ff.garena.com)
Free Fire: How to unban suspended IDs (Picture Courtesy: ff.garena.com)
reaction-emoji
·
Sawan E-Sports

Free Fire में सभी खिलाड़ियों को ID बैन होने का डर रहता है और यह सबसे बड़ा कारण है। सभी उपयोगकर्ता जानते हैं। Free Fire की प्राइवेसी और पॉलिस उनके डेवेल्पर्स के द्वारा बेहत मजबूत बनाई गई है, जिससे खिलाड़ी को कोई खतरा नहीं है।

लेकिन उसके बावजूद कई खिलाड़यों के एकाउंट बैन हो जाते है और अधिकांश खिलाड़ी ऑनलाइन Free Fire ID को अन बैन करने के तरीके सर्च करते हैं। तो इस आर्टिकल में हम Free Fire में बैन एकाउंट को वापिस अन बैन कैसे करें बताने वाले हैं।

ये भी पढ़ें:- Free Fire में मुफ्त गन स्किन्स कैसे हासिल करें?


Free Fire ID को अन बैन कैसे करें?

Garena Free Fire में ऐसे कई सारे कारण है, जिससे एकाउंट बैन हो जाते हैं। अगर खिलाड़ी को किसी भी बैन एकाउंट को अन बैन करने के लिए अपील करनी है तो निचे दी गई स्टेप्स का पालन करें:

स्टेप 1: खिलाड़ी को बैन एकाउंट के खिलाफ अपील करने के लिए Free Fire के सहायता वाले सेक्शन में जाना होगा, अपील करने के लिए यहां दी गई लिंक पर क्लिक करें।

स्टेप 2: उसके बाद फॉर्म में खिलाड़ी को IGN, Free Fire ID, लेवल और बैन होने के कारण की जानकारी देनी पड़ेगी। ध्यान रहे अगर खिलाड़ी द्वारा दी गई जानकारी गलत होती है, तो अपील गलत मानी जाएगी।

स्टेप 3: सही जानकारी डालने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक करें। खिलाड़ी को बैन के बारे में जानकारी दिखेगी।

यह ध्यान रखना होगा, Free Fire में खिलाड़ी को फर्जी एप्लिकेशन और हैक इस्तेमाल करने के लिए बैन किया था, तो खिलाड़ी द्वारा की गई अपिम अमान्य की जाएगी।

खिलाड़ी को अपील सबमिट करने से पहले निचे दी गई गाइड को फॉलो करें:

Clauses that players should review before appealing (Picture Courtesy: ffsupport.zendesk.com)
Clauses that players should review before appealing (Picture Courtesy: ffsupport.zendesk.com)

बैन के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए यहां क्लिक करें।

ये भी पढ़ें:-Free Fire में रिडिम्प्शन सेंटर से मुफ्त में इनाम किस तरह हासिल किये जा सकते हैं?


Edited by Sawan E-Sports
reaction-emoji

Comments

comments icon2 comments
Fetching more content...