Create

क्या Free Fire को भारत में अनबैन किया जाएगा?

Free Fire MAX image via ff.garena.com
Free Fire MAX image via ff.garena.com
reaction-emoji reaction-emoji
Ujjaval E-Sports

Free Fire भारत में बैन है और इसे लेकर सभी के मन में सवाल रहते हैं। हर कोई इस गेम को वापस देखना चाहता है क्योंकि यह शुरुआत से ही चर्चा का विषय है।


Free Fire के अनबन को लेकर जानकारी

इस गेम में कई बार खिलाड़ी बैन हो जाते हैं (Image via Sportskeeda)
इस गेम में कई बार खिलाड़ी बैन हो जाते हैं (Image via Sportskeeda)

Garena के इस बैटल रॉयल गेम को बैन किया गया है। PUBG Mobile के बैन होने के बाद भारतीय फैंस Free Fire खेल रहे थे लेकिन महीनों पहले इसे भी बैन किया गया था। हालांकि, Free Fire MAX उपलब्ध है वहीं PUBG की जगह BGMI को लाया गया था। BGMI को हालांकि, फिर से बैन कर दिया गया है।

यह सभी बैन भारतीय सर्वर की मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स और इनफार्मेशन ने IC एक्ट के सेक्शन 69A के चलते इस PUBG Mobile और उसके Lite वर्जन को सितंबर 2020 में बैन किया था और बाद में Krafton ने खुद गेम को कुछ बदलावों और नियमों के साथ गेम को लॉन्च किया।

BGMI को इस साल 28 जुलाई को बैन कर दिया गया क्योंकि IT Ministry के अनुसार अभी भी इसे PUBG Mobile हैंडल करता है। देखा जाए तो PUBG Mobile की वापसी BGMI के रूप में देखने को मिली थी और इसी वजह से शायद Garena भी Free Fire में बदलाव करेगा।

दोनों गेम एक जैसे हैं (Images via Garena/Sportskeeda)
दोनों गेम एक जैसे हैं (Images via Garena/Sportskeeda)

Free Fire के पास एक MAX वर्जन है, जो अभी भारत में उपलब्ध है। Garena अपने असली नाम के साथ MAX वर्जन को चला रहा है लेकिन अगर गेम में चेंज होता है तो फिर MAX वर्जन का नाम बदल सकता है। Garena असल में Free Fire और उसके MAX वर्जन दोनों को रिब्रांड किया जा सकता है।

Free Fire ईस्पोर्ट्स  काफी चर्चा का विषय था (Image via Sportskeeda)
Free Fire ईस्पोर्ट्स काफी चर्चा का विषय था (Image via Sportskeeda)

कई रिपोर्ट्स के अनुसार Garena के ईस्पोर्ट्स सेक्शन में काम करने वाले लोग भारत में नेपाल शिफ्ट हो गए हैं। उन्होंने यह भी बताया है कि Garena का नेपाल सर्वर पर ध्यान बढ़ गया है और यहां ईस्पोर्ट्स को बड़ा मौका दिया जाएगा।

youtube-cover

Edited by Ujjaval E-Sports
reaction-emoji reaction-emoji

Comments

comments icon
Fetching more content...