Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

कबड्डी विश्वकप 2016 : ग्रुप स्टेज के टॉप 5 रेडर्स

CONTRIBUTOR
Modified 21 Oct 2016, 16:06 IST
Advertisement
इन दिनों दुनिया भर में कबड्ड़ी का सुरूर छाया हुआ है । भारत में खेला जा रहा कबड्डी विश्व कप 7 अक्टूबर को शुरु हुआ और दिनो दिन इसका रोमांच बढ़ता जा रहा है ।पूल मैचों के दौरान कई उलट फेर देखने को मिले हैं और खतरनाक तरीके से कई बार मैचों के परिणाम बदलते देखे हैं । कहा जाता है कि आक्रमण बचाव का सबसे अच्छा तरीका है, और ज्यादातर खिलाड़ी इस दौरान इसी नीति पर चलते नजर आ रहे हैं । टीम को लीड कर रहे कप्तानों को अपने खिलाड़िया से किसी भी हाल में अपने विरोधी टीम के मुंह से जीत छीन लाने की ही उम्मीद होती है और खिलाड़ी बखूबी ऐसा ही कर रहे हैं और अपनी टीम के लिए हर हाल में प्वाइंट बटोर रहे हैं । कबड्डी 2016 में ही अभी तक 1424 प्वाइंट्स बटोरे जा चुके हैं । खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए पॉइंट लाने के लिए कभी दुश्मनों की मांद में घुसकर पैरों की अंगुली छू जाना कभी फुर्ती से हाथ छू जाना, कभी चतुराई से फ्रॉग जंपिंग तो कभी चुपके से डुबकी कला का इस्तमाल करके, कभी बैक और कभी स्कॉर्पियन किक करके दुश्मनों के छक्के छुड़ा दिये । यहाँ हम जिक्र कर रहे हैं उन 5 सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों का जिन्होंने 2016 कबड्डी में अपने अटैक का लोहा मनवाया: #5 डेविड मोसाम्बाई (केन्या) david-mosambayi-1476964035-800 भले ही केन्या की टीम सेमीफाइनल मुकाबलों तक न पहुंच पाये पर उनके कप्तान डेविड मोसाम्बाई ने इस विश्वकप में न केवल अपनी टीम को अच्छी तरह लीड ही नहीं किया बल्कि खुद के प्रदर्शन के बल पर खुद को और अपनी टीम को किसी भी विरोधी के सामने ख़तरनाक साबित किया है। प्रो-कबड्डी में पुनेरी पलटन का हिस्सा रहे इस खिलाड़ी ने अपना असली जौहर पोलैंड के खिलाफ दिखाते हुए 6.4 के स्ट्राइक रेट के साथ शानदार 21 प्वाइंट अपने नाम किये । इस खिलाड़ी का दबदबा इतना है कि हर टीम मैच से पहले इस खिलाड़ी को सम्हालने के लिए योजना बनाती है कि कैसे इन्हें मैट से दूर रखकर अपनी जीत सुनिश्चित की जाए । चैम्पियनशिप के दौरान एक समय जब केन्या का सामना थाईलैंड से हुआ और इस खिलाड़ी के 20 मिमिट कोर्ट में रहते भी टीम ने पूरे मैच में सिर्फ 2 पॉइंट अर्जित किये , इसके हालांकि इसके बाद जब टीम के संयुक्त राज्य अमेरिका के खिलाफ पिछले मैच में उतरी तो वो अपने खोए हुए सम्मान, सुपर 10 में प्रवेश और प्रतिद्वंद्वी को अपनी डिफेंस स्किल के साथ साथ जाते जाते अपना आक्रामक रूप भी दिखाया। डेविड एक पूर्व सुरक्षा गार्ड हैं , पर अपनी बढ़ती लोकप्रियता के कारण उन्हें अपना काम छोड़ना पड़ा। अब एक सफल विश्व कप के बाद , इतना तो तय है कि जब वो जब अपने घर पहुंचेंगे तो उनके चाहने वालों की तादात बढ़ चुकी होगी।
1 / 5 NEXT
Published 21 Oct 2016, 16:06 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit