स्टार स्पोर्ट्स प्रो कबड्डी के इतिहास के पांच सबसे महंगे खिलाड़ी

jasmer-singh-gulia-1466841887-800

इस टूर्नामेंट ने भारत के बहुत पुराने खेल 'कबड्डी' की रौनक लौटा दी है। 2014 में उद्घाटन से ही प्रशंसकों का भरपूर मनोरंजन करने वाला स्टार स्पोर्ट्स प्रो कबड्डी एक बार फिर 25 जून से उत्साह बढ़ाने के लिए लौट रहा है। टूर्नामेंट को अधिक प्रतिस्पर्धी और रोमांचक बनाने के लिए आयोजकों ने फैसला किया है कि प्रत्येक टीम से दो को छोड़कर हर खिलाड़ी को नीलामी में शामिल किया जाएगा। टूर्नामेंट से दो महीने पहले नीलामी हुई, जिसमें करीब 200 खिलाड़ी शामिल हुए। अंत में 8 टीमों ने 15।6 करोड़ रूपए खर्च करके 96 खिलाड़ियों को खरीदा। ईरान के हादी ओश्तोरक को 21।1 लाख रूपए में खरीदा गया, जो नीलामी में सबसे महंगे खिलाड़ी रहे। हालांकि, यह रिकॉर्ड नीलामी में कई दफे टूट चुका है, क्योंकि 10 सबसे महंगे खिलाड़ियों ने रिकॉर्ड रकम हासिल की है। चलिए आज स्टार स्पोर्ट्स प्रो कबड्डी के इतिहास के पांच सबसे महंगे खिलाडियों पर गौर करते हैं : #5) जसमेर सिंह गुलिया (तेलुगु टाइटन्स) - 35.5 लाख 35.5 लाख की मोटी रकम खर्च करके तेलुगु टाइटन्स ने पुनेरी पलटन के पूर्व सितारा खिलाड़ी जसमेर सिंह गुलिया की सेवाएं हासिल की। अनुभवी ऑल-राउंडर ने पलटन के साथ एक सत्र बिताया जबकि टूर्नामेंट के पहले दो सत्रों में उन्होंने दबंग दिल्ली की जर्सी धारण की हुई थी। 33 वर्षीय खिलाड़ी को योद्धा माना जाता है और जिस भी टीम से वह खेले हैं, उसके प्रमुख खिलाडियों में से एक रहे। अनुभवी धर्मराज चेरालाथान के जाने के बाद टाइटन्स को ऐसे खिलाड़ी की जरुरत थी जो युवाओं की मदद कर सके और जसमेर को हासिल करने से उनकी यह खोज पूरी होती दिखाई दे रही थी। युवा संदीप नरवाल और संदीप धुल ने जसमेर से काफी कुछ सीखा। जसमेर ने अब तक 33 मैच खेले हैं, जिसमे 93 अंक हासिल किए हैं। 86 अंक उन्होंने डिफेंस (रक्षात्मक शैली) से बनाए। टाइटन्स ने रक्षात्मक विभाग में काफी निवेश किया है और ऐसे में पूर्व दिल्ली व पुणे के खिलाड़ी से अपने अनुभव का फायदा लेने की उम्मीद है। #4) फजेल अत्राचली (पटना पाइरेट्स) - 38 लाख fazel-atrachali-1466841966-800 ईरान के कप्तान पिछले सत्र की खोज माने गए, जब उन्होंने बड़े मंच पर तीन बार की फाइनलिस्ट यू मुंबा की टीम से खेला। 24 वर्षीय फजेल ने अपने प्रदर्शन से अनुभवी डिफेंडर सुरेंदर नाडा और विशाल माणे को टीम से बाहर कर मुंबा को फाइनल तक पहुंचाया। बाएं तरफ के डिफेंडर के लिए नीलामी में काफी जद्दोजहद हुई, जिसमें पटना पाइरेट्स 38 लाख की मोटी रकम चुकाकर जीता। इस बोली के साथ ही फजेल ने टूर्नामेंट के इतिहास में सबसे महंगे ईरानी कबड्डी खिलाड़ी की दौड़ में मेराज शेख और हादी ओश्तोरक को काफी पीछे छोड़ दिया। संदीप नरवाल और सुनील कुमार के जाने से फजेल पर गत चैंपियन के डिफेंस विभाग की जिम्मेदारी होगी। #3) जीवा कुमार (यू मुंबा) - 40 लाख jeeva-kumar-1466842003-800 शुरुआती तीन सत्रों में अपने खिलाड़ियों को बरकरार रखने वाली यू मुंबा को आखिरकार चौथे सत्र से पहले नीलामी के लिए नए खिलाड़ियों का चयन करने के लिए मजबूर होना पड़ा। हालांकि, रिटेन किए खिलाड़ियों के अलावा मुंबा किसी भी कीमत पर अपने खूंखार जीवा कुमार को हासिल करना चाहती थी। दूसरे सत्र की विजेता मुंबा ने अपने पूर्व भरोसेमंद जवान को खरीदने के लिए 40 लाख रूपए की मोटी रकम खर्च की। कुमार ने सभी सत्रों में यू मुंबा का प्रतिनिधित्व किया है। 35 वर्षीय कुमार ने कबड्डी के कोर्ट पर अपने अनुभव के साथ काबिलियत को बखूबी दर्शाया है। यू मुंबा के लिए जीवा एक चट्टान की तरह रहे, जिन्होंने स्टार स्पोर्ट्स प्रो कबड्डी में 38 मैच खेले और 85 डिफेंस अंक हासिल किए। सुरेंद्र नाडा, मोहित छिल्लर और फजेल अत्राचली के जाने से कोच भास्करन एडाचेरी को इस बात की खुशी जरुर होगी कि आगामी सत्र में जीवा उनकी नई टीम के सदस्य होंगे। #2) संदीप नरवाल (तेलुगु टाइटन्स) - 45.5 लाख sandeep-narwal-1466842045-800 पिछले सत्र के सर्वश्रेष्ठ डिफेंडर संदीप नरवाल हमेशा ही ऊंची कीमत हासिल करने वाले खिलाड़ियों की श्रेणी में शामिल हैं। हालांकि पटना पाइरेट्स ने आगामी सत्र के लिए उनकी सेवाएं नहीं लेने का फैसला किया। पटना की इस चूक का फायदा तेलुगु ने उठाया और अन्य टीमों को मात देते हुए युवा खिलाड़ी को अपने साथ जोड़ा। टाइटन्स ने संदीप को खरीदने के लिए नीलामी में 45.5 लाख रूपए में खरीदा। प्रतिभा होने के साथ ही संदीप ने पटना के खिताब विजयी अभियान के दौरान मनप्रीत सिंह की गैरमौजूदगी में अपनी नेतृत्व शैली का प्रदर्शन भी किया। संदीप ऑल-राउंडर हैं। वह शानदार रैड मारने के साथ ही गजब का डिफेंस भी करते हैं। उन्होंने अब तक 46 मैच खेले हैं और इस दौरान 147 रैड व 119 डिफेंस अंक बनाए। दो होनहार रैडर्स राहुल चौधरी व सुकेश हेगड़े को रिटेन करने के कारण तेलुगु ने डिफेंस विभाग के लिए काफी निवेश किया। संदीप और अनुभवी जसमेर से उम्मीद है की वो टीम को मजबूती प्रदान करें। #1) मोहित छिल्लर (बेंगलुरु बुल्स) - 53 लाख mohit-chillar-1466842070-800 स्टार स्पोर्ट्स प्रो कबड्डी के इतिहास के सबसे महंगे खिलाड़ी हैं मोहित छिल्लर! यू मुंबा के पूर्व सितारा खिलाड़ी पर हाल ही में संपन्न नीलामी में सबसे महंगी बोली लगी। पिछले सत्र में बेंगलुरु बुल्स ने युवाओं को विकसित करने की योजना से आगे बढ़ते हुए नीलामी में बड़ा निवेश करने का मन बनाया। 22 वर्ष के छिल्लर ने अब तक 43 मैच खेले हैं और अच्छा अनुभव हासिल कर लिया है। उन्होंने पहले तीन सत्रों में १२३ डिफेंस अंक हासिल किए हैं। बेंगलुरु को अपने नए खिलाड़ी से काफी उम्मीद है। मोहित और कप्तान सुरेंदर नाडा के रहते बुल्स को उम्मीद होगी कि वह पिछले वर्ष की निराशा को भूलते हुए काफी आगे तक का सफर तय करेगी। स्टार स्पोर्ट्स प्रो कबड्डी

Edited by Staff Editor