Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

कबड्डी विश्व कप 2016: कौन होंगे टूर्नामेंट में भारत के शुरूआती सात?

CONTRIBUTOR
Modified 06 Oct 2016, 17:50 IST
Advertisement
अगले हफ्ते शुरू हो रहे कबड्डी विश्व कप की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है। भारत, संयुक्त राज्य अमेरिका, जापान, दक्षिणी कोरिया, बंगलादेश, ऑस्ट्रेलिया, ईरान, थाईलैंड, अर्जेंटीना, इंग्लैंड, पोलैंड समेत १२ देश इस बार कबड्डी विश्व -चैंपियन बनने के लिए जूझेंगे। टूर्नामेंट के उदघाटन मैच में गत विजेता भारत का सामना होगा साउथ कोरिया के साथ और भारत के कप्तान रहेंगे स्टार रेडर अर्जुन अवार्ड विजेता अनूप कुमार । भारत ने 2007 में ईरान को हरा कर ये विश्व कप जीता था और कप इस बार भी मेजबान देश के पास कायम रहे, ये सुनिश्चित करने के लिए ख़ास तौर पर विश्व कप से पूर्व एक विशेष प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया गया था जिसके बाद विश्व कप के लिए 14 सदस्यीय टीम चुनी गयी है । हालांकि, कोच बलवान सिंह और उनके सहयोगी ई भास्करन के लिए सबसे बड़ी समस्या है भारत में स्टार कबड्डी खिलाड़ियों का बहुतायत में होना। इतने सारे खिलाड़ी और हर खिलाड़ी एक ऐसा सितारा जिसकी भारतीय ड्रीम टीम में कहीं न कहीं जगह बनी ही हुई है। फिलहाल इस विश्व कप के लिए चुनी गयी टीम है- अनूप कुमार(कप्तान), अजय ठाकुर, दीपक हुड्डा, धर्मराज चेरलाथन, जसवीर सिंह, किरण परमार, मंजीत छिल्लर (उपकप्तान), मोहित छिल्लर, नितिन तोमर, प्रदीप नरवाल, राहुल चौधरी, संदीप नरवाल, सुरेंद्र नाडा और सुरजीत। 14 स्टार खिलाड़ियों की ये टीम कौशल, अनुभव और युवा जोश का उत्तम सम्मिश्रण है। स्पोर्ट्सकीड़ा के हिसाब से ये 7 खिलाड़ी दक्षिण कोरिया के खिलाफ खेल की शुरुआत कर सकते है - अनूप कुमार (कप्तान, रेडर) हरियाणा का ये पुलिसवाला अपने शांत स्वभाव और दबाव की स्थिति में सहज रहने की क्षमता के कारण "कैप्टन कूल" के नाम से भी जाना जाता है, और यही गुण उन्हें भारतीय टीम की अगुवाई के लिए सर्वश्रेष्ट उमीदवार बनाता है। चूँकि अनूप प्रो कबड्डी लीग के चार संस्करणों में यू मुम्बा के कप्तान रह चुके हैं इसलिए उन्हें टीम की जिम्मेदारियों और जरूरतों की अच्छी समझ भी है। 32 वर्षीय ये खिलाड़ी दाहिने रेडर के रूप में खेलता है। टो-टच इसकी विशेषता है और ज़रूरत के मुताबिक़ सही रणनीति का चुनाव कर खेलना इसका कौशल। प्रो कबड्डी के पहले संस्करण का सबसे मूल्यवान खिलाड़ी और दूसरे संस्करण की विजेता टीम का कप्तान, एशियाई खेल में दो स्वर्ण पदक विजेता- अनूप कुमार। ये तय है कि इनका मार्गदर्शन भारतीय टीम के लिए तनाव की स्थिति में सहज खेल के प्रदर्शन में बहुमूल्य साबित होगा। मंजीत छिल्लर (उपकप्तान, ऑल राउंडर) manjeet-chhillar-1475494669-800 प्रो कबड्डी लीग से एक और कप्तान, पुनेरी पलटन के पूर्व कप्तान रह चुके 30 वर्षीय मंजीत छिल्लर इस विश्व कप उपकप्तान रहेंगे। खेल की शैली के मामले में एक ऑल राउंडर, प्रो कबड्डी लीग में छिल्लर के सिर्फ 59 मैचों में 400 से अधिक अंक हैं। मंजीत डिफेन्स में टीम की रीढ़ तो हैं ही, जरूरत के वक़्त अपनी ज़बरदस्त रेडों के दम पर टीम को अंक दिलाने और संकट से उबारने की क्षमता भी बखूबी रखते हैं। पूर्व पहवान रह चुके मंजीत को उनके सोलो टैकल्स के लिए जाना जाता है। उनका शारीरिक बल और डिफेंस में मजबूत पकड़ टूर्नामेंट में टीम की स्थिति मज़बूत बनाए रखेगी।
1 / 4 NEXT
Published 06 Oct 2016, 17:50 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit