"हर कोई पॉइंट्स की बात करता"- जानिए PKL 10 में Gujarat Giants की कप्तानी कर रहे Fazel Atrachali ने दिग्गज और अपने प्रदर्शन को लेकर क्या कहा?

PKL 10
PKL 10 में गुजरात जायंट्स ने काफी अच्छा किया है (Photo: PKL)

PKL 10: गुजरात जायंट्स (Gujarat Giants) ने प्रो कबड्डी (PKL 10) में अभी तक काफी जबरदस्त प्रदर्शन करके दिखाया है और इसी वजह से वो प्ले-ऑफ में पहुंचने के काफी ज्यादा करीब हैं। इस बीच टीम के कप्तान फज़ल अत्राचली भी टीम के प्रदर्शन से खुश हैं और उन्हें उम्मीद है कि टीम आने वाले मुकाबलों में ऐसे ही अच्छा करती रहेगी।

Adani Gujarat Giants इस समय 55 अंकों के साथ 5वें स्थान पर हैं और दो-तीन मैच जीतते ही वो प्ले-ऑफ में पहुंच जाएंगे। हाल ही में फज़ल अत्राचली ने Sportskeeda को खास इंटरव्यू दिया था और इस दौरान उन्होंने टीम की फॉर्म, अपने प्रदर्शन, मोहम्मद नबीबक्श के रोल और आने वाले मैचों के बारे में बात की। आइए नज़र डालते हैं ईरानी खिलाड़ी ने क्या कहा?

#) PKL 10 में आप Gujarat Giants के अबतक के प्रदर्शन को किस तरह देखते हैं?

-शुरुआत में हमारा डिफेंस अच्छा नहीं कर रहा था और कवर पर हमने कई बदलाव भी किए। दीपक और बालाजी को शामिल करने के बाद सुधार देखने को मिला है। डिफेंस में हमने बेहतर करना शुरू किया, तो पिछले कुछ मैचों में रेडर्स के प्रदर्शन में गिरावट आई। हालांकि, तमिल थलाइवाज के खिलाफ हमारे रेडर्स (राकेश और रोहित गुलिया) ने काफी अच्छा किया। अब हम बेहतर हो रहे हैं और 80 प्रतिशत हम सफल हो गए हैं। आने वाले मैचों में हम इससे भी बेहतर प्रदर्शन करेंगे।

#) आपके PKL 10 में अभी तक 50 टैकल पॉइंट्स हैं। अपनी खुद की फॉर्म से आप संतुष्ट हैं और क्या बदलाव कर रहे हैं?

-मैं सीजन की शुरुआत में ज्यादा से ज्यादा समय तक मैट पर रहने की कोशिश कर रहा था और हमारी रणनीति थी कि मैं एडवांस टैकल के लिए नहीं जाऊं और मैट पर रहते हुए टीम को कंट्रोल करूं। कई मौकों पर यह प्लानिंग हमारी काम नहीं की और हमने सोचा कि मैं टैकल के लिए नहीं जाऊंगा तो मेरा काम क्या है। पिछले दो मैचों में मैंने और कोच ने यह तय किया कि मैं टैकल के लिए जाऊंगा। मैं बेहतर खेलूंगा, तो टीम भी अच्छा खेलेगी। आने वाले मैचों में भी मेरी यह रणनीति रहेगी।

#) Gujarat Giants के डिफेंस का प्रदर्शन पिछले दो मैचों में दूसरे हाफ में कमजोर दिखा है, आपको कहां कमी दिखाई दे रही है?

-मैं आपकी बात से सहमत हूं और यह इसलिए हो रहा है क्योंकि हमारी प्लानिंग दूसरे हाफ में मैच कंट्रोल करने की थी। दूसरी टीम को जब पॉइंट्स चाहिए होते हैं, तो वो अटैकिंग गेम खेलते हैं और हमें यह समझना होगा कि कंट्रोल करने का मतलब यह नहीं कि टैकल करना ही नहीं है। हमें एडवांस या कुछ अलग तरह से टैकल की कोशिश नहीं करके सही मौके पर अटैक करना चाहिए।

#) मोहम्मद नबीबक्श के रोल को आप गुजरात जायंट्स में किस तरह देखते हैं और क्या उन्हें आने वाले मैचों में रेडिंग का ज्यादा मौका मिल सकता है?

- मैंने PKL में यह सबसे बड़ी दिक्कत देखी है। हर कोई यह देखता है कि किसने सबसे ज्यादा सुपर 10 और हाई 5 लगाए हैं। मोहम्मद नबीबक्श जब भी मैट पर होते हैं, तो वो डिफेंडर्स का पूरा साथ देते हैं। मैं और वो जब साथ होते हैं, तो रेडर हमारे बीच में से डुबकी नहीं लगा सकता है। वो हमारी टीम के मुख्य खिलाड़ी हैं। हमें जब रेडर की जरूरत होती है, तो वो वहां भी पॉइंट्स लेकर आते हैं। दबंग दिल्ली केसी के खिलाफ भी उन्होंने वैसा ही कुछ किया था। मेरे हिसाब से वो काफी शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। हम अभी दो मेन रेडर्स के साथ खेल रहे हैं और जब वो दोनों बाहर होते हैं, तो हम नबीबक्श को भेजते हैं। उनके रहने से डिफेंस को काफी मजबूती मिलती है।

#) PKL 10 में आपका अगला मैच बंगाल वॉरियर्स के खिलाफ है, क्या आपको लगता है कि कोलकाता के फैंस होम टीम को सपोर्ट करेंगे तो आपके ऊपर दबाव रहेगा?

-मैं 21 साल से खेल रहा हूं और अब इतना दबाव नहीं लेता हूं। फैन जब दूसरी टीम को ज्यादा सपोर्ट करते हैं, तो मुझे खुशी होती है और मैं ज्यादा एग्रेसिव होकर खेल पाता हूं। मुझे ऐसी स्थिती बहुत ज्यादा पसंद आती है। मैं अभी आपको अपनी रणनीति नहीं बता सकता हूंं। हम एक समय पर एक मैच के बारे में ही सोच रहे हैं। हमारा अगला मैच बंगाल वॉरियर्स के खिलाफ है और इस समय पूरा ध्यान उसी तरफ केंद्रित है।

#) गुजरात जायंट्स के ज्यादातर खिलाड़ी अभी तक प्ले-ऑफ नहीं खेले हैं, तो उनसे आप इन मैचों को लेकर क्या कहते हैं?

-मैं हमेशा खिलाड़ियों को कहता हूं कि प्लेऑफ के मैच भी आम मैचों की तरह ही हैं। आपको अपना नेचुरल गेम खेलना है। आपको बहुत ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है और जो भी दबाव होगा उसको मैं देख लूंगा। आपको सिर्फ अपनी स्किल्स के ऊपर ध्यान देने की जरूरत है, इसके अलावा किसी और चीज़ के बारे में सोचना ही नहीं है। मैं सिर्फ यह कहता हूं कि आपको सिर्फ मेरी बात सुननी है और हार नहीं माननी है।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता