PKL 1000वां मैच: Pro Kabaddi League की ऑल-टाइम प्लेइंग 7 पर नज़र, कौन है टीम का कप्तान और किसे मिली जगह?

PKL
PKL की ऑल-टाइम प्लेइंग 7 में कौन-कौन शामिल?

PKL: 26 जुलाई 2014 को जब प्रो कबड्डी लीग (PKL) की शुरुआत हुई थी, तो किसी ने नहीं सोचा था यह लीग भारत में एक अलग ही मुकाम हासिल करने में कामयाब होगी। PKL भारत में क्रिकेट के बाद दूसरी सबसे बड़ी स्पोर्ट्स लीग है और पिछले 10 सीजन में लगातार फैंस इस खेल से जुड़ते गए हैं।

15 जनवरी 2024 का दिन Pro Kabaddi League इतिहास में काफी महत्वपूर्ण होने वाला है और इस लीग का 1000वां मुकाबला बंगाल वॉरियर्स और बेंगलुरु बुल्स के बीच खेला जाने वाला है। दोनों टीमों के बीच यह ऐतिहासिक मुकाबला जयपुर में खेला जाएगा। इस लीग के जरिए भारत को कई खिलाड़ी मिले हैं जोकि फैंस के फेवरिट बनने में कामयाब हुए। इसमें राहुल चौधरी, नवीन कुमार, परदीप नरवाल, अर्जुन देशवाल, मनिंदर सिंह जैसे खिलाड़ी शामिल हैं।

PKL अपने 1000वें मैच के लिए पूरी तरह तैयार है, लेकिन इससे पहले हम आपको Pro Kabaddi League की ऑल-टाइम 7 के बारे में बताने वाले हैं। इस टीम में हमने 3 रेडर्स और 4 डिफेंडर्स को रखा है। इसके अलावा इस टीम में 7 सब्स्टीट्यूट खिलाड़ियों को भी रखा है। आइए नज़र डालते हैं कौन हैं PKL की ऑल-टाइम प्लेइंग 7 में शामिल।

फज़ल अत्राचली (लेफ्ट कॉर्नर)

PKL के सबसे बड़े डिफेंडर की बात की जाएगी, तो निश्चित तौर पर उसमें फज़ल अत्राचली का नाम जरूर आएगा। वो इस लीग में 400 से ऊपर टैकल पॉइंट्स हासिल करने वाले इकलौते डिफेंडर हैं। अपने करियर में फज़ल ने 158 मुकाबले खेले हैं, जिसमें उनके 456 टैकल पॉइंट्स हैं। वो 27 हाई 5 लगा चुके हैं और 26 सुपर टैकल भी उन्होंने किए हैं। वो बतौर खिलाड़ी दो बार PKL का खिताब जीत चुके हैं और इसके साथ ही कप्तान के तौर पर भी पिछले सीजन पुनेरी पलटन को फाइनल तक लेकर गए थे।

अनूप कुमार (लेफ्ट इन और कप्तान)

'कैप्टन कूल' के नाम से मशहूर अनूप कुमार सिर्फ PKL के ही नहीं बल्कि विश्व के सबसे बड़े खिलाड़ियों में से एक हैं। बतौर रेडर और कप्तान उनका प्रदर्शन लाजवाब रहा है और उनके बिना यह टीम निश्चित तौर पर अधूरी है। अनूप ने अपने करियर में 91 मुकाबले खेले, जिसमें उनके 596 पॉइंट्स हैं। उन्होंने रेडिंग में 527 और डिफेंस में 69 पॉइंट्स हासिल किए हैं। वो 13 सुपर 10 लगा चुके हैं। इस बीच पहले सीजन में वो बेस्ट रेडर और MVP भी बने थे। अनूप इस टीम के कप्तान भी होंगे। अपनी कप्तानी में वो यू मुंबा को एक बार चैंपियन बना चुके हैं और लगातार तीन सीजन में फाइनल तक लेकर गए थे।

मंजीत छिल्लर (लेफ्ट इन)

मंजीत छिल्लर भी PKL इतिहास के सबसे बड़े ऑल-राउंडर में से एक रहे हैं। काफी समय तक वो इस लीग के सबसे सफल डिफेंडर रहे हैं और बतौर कवर डिफेंडर उनका रिकॉर्ड भी शानदार है। वो अपने करियर में बेंगलुरु बुल्स, पुनेरी पलटन, जयपुर पिंक पैंथर्स, तमिल थलाइवाज और दबंग दिल्ली केसी जैसी टीमों के लिए खेले हैं। मंजीत ने अपने करियर में 132 मैच खेले, जिसमें उनके 616 पॉइंट्स हैं। उन्होंने टैकल करते हुए 391 और रेडिंग करते हुए 225 पॉइंट्स हासिल किए हैं। वो 25 हाई 5 और 2 सुपर 10 भी लगा चुके हैं। वो दो बार बेस्ट डिफेंडर भी बन चुके हैं और इसके अलावा एक बार PKL का खिताब भी जीत चुके हैं।

सुरजीत सिंह (राइट इन)

मंजीत छिल्लर की तरह सुरजीत सिंह भी PKL के सबसे बेहतरीन कवर डिफेंडर्स में से एक हैं। वो अलग-अलग टीमों के लिए अपने करियर में खेल चुके हैं। इस बीच 139 मुकाबलों में उनके 400 पॉइंट्स हैं, जिसमें टैकल के जरिए उन्होंने 382 पॉइंट्स हासिल किए हैं। वो 32 हाई 5 भी लगा चुके हैं और 25 सुपर टैकल भी उन्होंने किए हैं। मंजीत और सुरजीत की जोड़ी कवर पर काफी खतरनाक साबित हो सकती है।

परदीप नरवाल (सेंटर)

PKL के सबसे सफल रेडर के बिना इस टीम की कल्पना भी नहीं की जा सकती। परदीप नरवाल ना सिर्फ तीन बार Pro Kabaddi League का खिताब जीत चुके हैं, बल्कि वो इस लीग में सबसे ज्यादा रेड पॉइंट्स, सुपर 10, सुपर रेड लगाने वाले रेडर भी हैं। डुबकी किंग ने इस लीग के जरिए अपना अलग ही नाम बनाया है। डुबकी किंग के 166 मैचों में 1683 पॉइंट्स हैं, जिसमें रेडिंग में 1674 रेड पॉइंट्स हैं। वो 84 सुपर 10 लगा चुके हैं और 75 सुपर रेड भी लगाई हैं। इसके अलावा वो MVP और बेस्ट रेडर भी रह चुके हैं।

मनिंदर सिंह (राइट इन)

बंगाल वॉरियर्स के कप्तान मनिंदर सिंह PKL के दूसरे सबसे सफल रेडर हैं और इसके साथ ही वो दो बार खिताब भी जीत चुके हैं। मनिंदर ने 133 मैचों में 1356 पॉइंट्स स्कोर किए हैं, जिसमें रेडिंग के जरिए 1342 रेड पॉइंट्स आए हैं। वो 69 सुपर 10 लगा चुके हैं और 46 सुपर रेड भी उन्होंने लगाई हैं। मनिंदर लगातार अपनी टीम के लीड रेडर के तौर पर खेल रहे हैं और जिस तरह वो खेल रहे हैं अगले 3-4 सीजन में भी वो डॉमिनेट करते हुए दिखाई दे सकते हैं।

नितेश कुमार (राइट कॉर्नर)

Pro Kabaddi League इतिहास में नितेश कुमार ही इकलौते ऐसे डिफेंडर हैं, जिन्होंने एक सीजन में 100 टैकल पॉइंट्स लिए हैं। नितेश ने बतौर राइट कॉर्नर सीजन 6 में यह कारनामा किया था और वो इस सीजन बेस्ट डिफेंडर भी बने थे। नितेश ने अपने करियर में 126 मुकाबले खेले हैं, जिसमें उनके 351 पॉइंट्स हैं और 347 पॉइंट्स उन्होंने टैकल के जरिए हासिल किए हैं। उन्होंने 23 हाई 5 लगाए हैं और 27 सुपर टैकल भी किए हैं। वो इस लीग के सबसे शानदार राइट कॉर्नर में से एक हैं।

PKL 1000वां मैच: Pro Kabaddi League की ऑल-टाइम प्लेइंग 7 इस प्रकार?

अनूप कुमार (कप्तान), फज़ल अत्राचली, परदीप नरवाल, मंजीत छिल्लर, सुरजीत सिंह, मनिंदर सिंह और नितेश कुमार।

सब्स्टीट्यूट

सुरेंदर नाडा, पवन कुमार सेहरावत, नवीन कुमार, सुनील कुमार, जीवा कुमार, अजय ठाकुर और रविंदर पहल।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता
Be the first one to comment