PKL 2022 में Dabang Delhi, Haryana Steelers, Gujarat Giants और Bengal Warriors को प्ले-ऑफ में पहुंचने के लिए क्या करना होगा?

PKL 2022
PKL 2022 में प्ले-ऑफ की रेस हुई काफी रोमांचक (Photo: Pro Kabaddi League)

PKL 2022 में अभी तक प्ले-ऑफ के लिए जयपुर पिंक पैंथर्स (Jaipur Pink Panthers), पुनेरी पलटन (Puneri Paltan), बेंगलुरु बुल्स (Bengaluru Bulls), यूपी योद्धाज (UP Yoddhas) और तमिल थलाइवाज (Tamil Thalaivas) ने क्वालीफाई कर लिया है। हालांकि अभी भी एक स्पॉट खाली है, जिसके लिए 4 टीमों के बीच भिडंत देखने को मिल रही है।

दबंग दिल्ली केसी, हरियाणा स्टीलर्स, गुजरात जायंट्स और बंगाल वॉरियर्स अभी भी प्ले-ऑफ की दौड़ में शामिल हैं। इसके अलावा तेलुगु टाइटंस, यू मुंबा और पटना पाइरेट्स आखिरी 6 की रेस से बाहर हो गए हैं। फैंस सोच रहे होंगे आखिर इन चार टीमों में से कौन सी टीम प्ले-ऑफ के लिए क्वालीफाई कर सकती है। इस आर्टिकल में आपको प्ले-ऑफ का पूरा गणित बताने वाले हैं।

PKL 2022 में प्ले-ऑफ में जाने के लिए दबंग दिल्ली केसी को क्या करना होगा?

दबंग दिल्ली केसी के 21 मैचों के बाद 60 अंक हैं और वो ज्यादा से ज्यादा 65 अंक तक जा सकते हैं। इन चारों टीमों में से दिल्ली का ही पलड़ा आखिरी 6 में जाने के लिए सबसे ज्यादा भारी है। उन्हें सिर्फ एक लीग मैच और खेलना है। 8 दिसंबर को उनका मुकाबला बंगाल वॉरियर्स के खिलाफ होना है।

आपको बता दें कि अगर दिल्ली की टीम बंगाल को हरा देती है या वो टाई मैच भी खेलते हैं, तो वो प्ले-ऑफ के लिए क्वालीफाई कर जाएंगे। हालांकि वो बंगाल के खिलाफ हारते हैं, तो उन्हें सुनिश्चित करना होगा कि मैच 7 या उससे कम के अंतर से हारे। ऐसी स्थिति में उनके 61 अंक हो जाएंगे और बेहतर स्कोर डिफेंस के जरिए वो अगले दौड़ में जा सकते हैं।

बंगाल वॉरियर्स के खिलाफ मुकाबला 7 से ज्यादा पॉइंट्स से हारने की स्थिति में उन्हें हरियाणा स्टीलर्स, बंगाल वॉरियर्स और गुजरात जायंट्स के बचे हुए मैच हारने की उम्मीद करनी होगी।

PKL 2022 में प्ले-ऑफ में पहुंचने के लिए गुजरात जायंट्स को क्या करना होगा?

गुजरात जायंट्स के इस समय 21 मैचों के बाद 56 पॉइंट्स हैं और वो 61 पॉइंट तक ही जा सकते हैं। उन्हें सबसे पहले अपने आखिरी मैच में जयपुर पिंक पैंथर्स को हराना होगा। जयपुर की फॉर्म को देखते हुए गुजरात के लिए उन्हें 20 से ज्यादा पॉइंट्स से हराना मुमकिन दिखाई नहीं दे रहा है। इसी वजह से उन्हें उम्मीद करनी होगी कि हरियाणा स्टीलर्स कम से कम एक मैच हारे और दूसरी तरफ दबंग दिल्ली केसी को अपना मैच 7 से ज्यादा अंतर से हारना होगा।

हरियाणा स्टीलर्स अपने दोनों मैच जीत जाती है और गुजरात भी आखिरी मैच जीतती है, तो उन्हें उम्मीद करनी होगी कि उनका स्कोर डिफरेंस हरियाणा से बेहतर रहे। गुजरात अभी 8 पॉइंट के डिफरेंस से आगे हैं और उन्हें उम्मीद करनी होगी कि स्टीलर्स उनसे आगे नहीं निकल पाए, तभी वो प्ले-ऑफ के लिए क्वालीफाई कर पाएंगे। अपना मैच हारते ही गुजरात जायंट्स भी प्ले-ऑफ की रेस से बाहर हो जाएंगे।

PKL 2022 में हरियाणा स्टीलर्स को प्ले-ऑफ में पहुंचने के लिए क्या करना होगा?

इस समय हरियाणा स्टीलर्स के 20 मैचों के बाद 51 अंक हैं और वो 61 अंक तक ही जा सकते हैं। हरियाणा स्टीलर्स को 8 दिसंबर को तेलुगु टाइटंस और 10 दिसंबर को तमिल थलाइवाज के खिलाफ खेलना है। हरियाणा स्टीलर्स को सबसे पहले अपने बचे हुए मुकाबलों को एकतरफा अंदाज में जीतना होगा।

इसके अलावा उन्हें दबंग दिल्ली केसी (7 पॉइंट से ज्यादा) और गुजरात जायंट्स के हारने की उम्मीद भी करनी होगी। ऐसी स्थिति में हरियाणा की टीम सीधे प्ले-ऑफ के लिए क्वालीफाई कर जाएगी। हालांकि अगर गुजरात जायंट्स अपना मैच जीत जाती है और दबंग दिल्ली केसी अपने मैच से एक भी अंक लेने मे कामयाब होती है, तो हरियाणा स्टीलर्स को दोनों मैचों को मिलाकर जीत का अंतर कम से कम 40 से ऊपर रखना होगा।

इसी स्थिति में वो प्ले-ऑफ के लिए क्वालीफाई कर सकते हैं। उनका स्कोर डिफरेंस इस समय -24 है, जोकि उनके खिलाफ जा रहा है। दबंग दिल्ली का स्कोर डिफरेंस 16 और गुजरात जायंट्स का -16 है। तीनों ही टीमों में स्कोर डिफरेंस हरियाणा का सबसे ज्यादा खराब है और इसी वजह से उनके लिए दिल्ली और गुजरात का हारना काफी ज्यादा जरूरी होने वाला है।

PKL 2022 में बंगाल वॉरियर्स को प्ले-ऑफ में पहुंचने के लिए क्या करना होगा?

बंगाल वॉरियर्स के इस समय 20 मैचों के बाद 50 अंक हैं और वो ज्यादा से ज्यादा 60 पॉइंट तक जा सकते हैं। उनका स्कोर डिफरेंस इस समय -1 है। बंगाल को 8 दिसंबर को दबंग दिल्ली केसी और फिर लीग के आखिरी मुकाबले में पटना पाइरेट्स का सामना करना है। बंगाल वॉरियर्स के लिए प्ले-ऑफ की राह सबसे ज्यादा मुश्किल दिखाई दे रही है।

बंगाल वॉरियर्स को सबसे पहले दबंग दिल्ली केसी को 7 से ज्यादा अंतर से हराना होगा और अपने आखिरी लीग मैच में पटना पाइरेट्स को कम से कम 4 पॉइंट के अंतर से हराना होगा। साथ ही उन्हें गुजरात जायंट्स के आखिरी मैच में हारने और हरियाणा स्टीलर्स की भी कम से कम एक मैच में हार की उम्मीद करनी होगी।

इस स्थिति में बंगाल वॉरियर्स और दबंग दिल्ली केसी के 60-60 अंक हो जाएंगे। बंगाल वॉरियर्स बेहतर स्कोर डिफरेंस के साथ प्ले-ऑफ के लिए क्वालीफाई कर सकती है। हालांकि दिल्ली की टीम बंगाल के खिलाफ एक अंक भी हासिल कर लेती है, वो बंगाल वॉरियर्स प्ले-ऑफ की रेस से बाहर हो जाएंगे।

Quick Links

App download animated image Get the free App now