कबड्डी

Pro Kabaddi 2018: गुजरात फार्च्यूनजायंट्स टीम की ताकत और कमजोरी पर एक नजर

प्रो कबड्डी लीग के सीजन 5 में गुजरात फार्च्यूनजायन्ट्स उपविजेता रही थी

प्रो कबड्डी लीग के पिछले सीजन की उपविजेता टीम गुजरात फार्च्यूनजायन्ट्स का फार्च्यून आगामी सीजन में चमकेगा या नहीं यह उसके नए खिलाड़ियों पर निर्भर रहने वाला है। पिछले सीजन के मुकाबले टीम में अनेक बदलाव किये गएँ है लेकिन विरोधी टीमों की यह नहीं भूलना होगा कि पिछले वर्ष भी गुजरात एक नई टीम  के रूप में प्रो कबड्डी लीग खेलने के लिए मैदान पर उतरी थी, जिसने दमदार तरीके से फाइनल तक का सफ़र तय किया था। गुजरात की टीम ने नीलामी से पहले 2 खिलाड़ियों को रिटेन किया, जिसमें युवा रेडर सचिन तंवर और डिफेंडर सुनील कुमार शामिल रहे। इसके साथ ही टीम ने अपने पुराने खिलाड़ियों को वापस शामिल भी किया।

गुजरात फार्च्यूनजायन्ट्स के दल में इस सीजन सबसे कम खिलाड़ी नजर आयेंगे लेकिन सभी खिलाड़ी युवा और दमदार हैं, जो आगामी सीजन में टीम को विजेता बना सकते हैं और पिछले वर्ष एक कदम से चूंकने वाली गुजरात टीम क भाग्य बदल सकते हैं। आइये नजर डालते हैं गुजरात फार्च्यूनजायन्ट्स टीम पर, जो सीजन 6 के लिए मैदान पर कबड्डी-कबड्डी की हुंकार भरती हुई नजर आएगी।

टीम की ताकत

गुजरात टीम सीजन 6 में अपने रेडर्स पर निर्भर रहने वाली है। पिछले वर्ष अलग-अलग टीमों के लिए शानदार प्रदर्शन करने वाले युवा रेडर्स, जिसमें अजय कुमार, के प्रपंजन, महेंद्र राजपूत शामिल हैं ये सभी आगामी सीजन में सचिन तंवर का साथ देते हुए नजर आयेंगे। चारो ही खिलाड़ियों ने सीजन 5 में शानदार प्रदर्शन किया था और सीजन 6 में वह गुजरात के लिए अपने बेहतरीन प्रदर्शन को दोहराना चाहेंगे।

टीम की कमजोरी

गुजरात टीम के पास युवा रेडर्स काफी मात्रा में हैं, जो टीम की जीत में योगदान देंगे। इसके साथ ही डिफेंस में भी टीम का संतुलन लाजवाब है लेकिन ऑलराउंडर श्रेणी में फ्रंचाइजी नीलामी के समय डगमगाती हुई नजर आई, जिसके कारण टीम में केवल 3 ही ऑलराउंडर शामिल हुए। रोहित गुलिया, हादी ओश्तोरक और अनिल ये तीनो खिलाड़ी गुजरात के ऑलराउंड विभाग की जिम्मेदारी संभालेंगे। तीनों खिलाड़ियों के पास ज्यादा अनुभव नहीं और न  ही यह प्रो कबड्डी लीग के दिग्गज खिलाड़ी हैं, जिसके कारण गुजरात को आगामी सीजन में ऑलराउंड विभाग की वजह से बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

उपविजेता से विजेता बनने का मौका

गुजरात फार्च्यूनजायन्ट्स ने पिछले सीजन एक नई टीम के अवतार में प्रो कबड्डी लीग में जन्म लिया और दमदार खेल को दर्शाते हुए एकतरफा फाइनल में अपनी जगह बनाई लेकिन फाइनल में गुजरात का फार्च्यून देखने को नहीं मिला और टीम को ख़िताब गवांना पड़ा। इस बार बेहतरीन रेडर्स के साथ टीम के पास अनुभवी डिफेंडर्स की मौजूदगी है, जो इस साल टीम को चैंपियन बना सकती है। इसलिए गुजरात के पास मौका होगा कि वह अपने पिछले सीजन की हार को इस साल विजेता होने के रूप में बदले पायें।

इन खिलाड़ियों को खलेगी कमी

प्रो कबड्डी लीग के सीजन 5 में अगर किसी टीम का डिफेंस सबसे जबरदस्त था, तो वह गुजरात की टीम का था। क्योंकि ईरान देश के दो दमदार डिफेंडर अबोजार मिघानी और फैजल अत्राचली विपक्षी टीम के रेडर के मन में अपना खौफ बनाये रखते और गुजरात के लिए मैच जीतने में अपना अहम योगदान देते थे लेकिन इस सीजन इन दोनों खिलाड़ियों का साथ गुजरात की टीम से छूट गया है। फैजल आगामी सीजन में यू मुम्बा के लिए खेलेंगे, तो मिघानी तेलुगु की टीम के लिए शिरकत करते नजर आयेंगे। इन दोनों खिलाड़ियों के आलावा गुजरात के कप्तान सुकेश हेगड़े भी सीजन 6 में दूसरी टीम का हिस्सा होंगे।

प्रो कबड्डी सीजन 6 के लिए उपविजेता गुजरात फार्च्यूनजायंट्स की टीम

सचिन तंवर, महेंद्र गणेश राजपूत, के प्रपंजन, अजय कुमार, डोंग जियोन ली, शुभम अशोक पालकर, ललित चौधरी, विक्रम खंडोला, अनिल, यशवंत बिश्नोई, धर्मेंदर, सुनील कुमार, परवेश भैंसवाल, ऋतुराज शिवाजी कोरावी, सचिन विट्टाला, अमित शर्मा, सी कलाई अरासन, अमित, हादी ओस्त्रोक, रोहित गुलिया।