COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

Pro Kabaddi 2018: पुणेरी पलटन टीम की ताकत और कमजोरी पर एक नजर

527   //    12 Jun 2018, 07:21 IST

प्रो कबड्डी लीग का आगाज़ इस साल अक्टूबर महीने में होगा। भारत की दूसरी सबसे बड़ी लीग के लिए नीलामी की प्रक्रिया पूरी हो गई है। पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी 12 टीमों ने नए खिलाड़ियों और अपने पुराने दिग्गज खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया है। इनमें से कुछ ऐसे खिलाड़ी भी रहे, जो अपनी पुरानी टीम में वापस आये और आगामी सीजन में टीम के लिए अपना अहम योगदान देते हुए नजर आयेंगे। पिछले वर्ष के सबसे महंगे खिलाड़ी और यूपी योद्धा का नेतृत्व करने वाले नितिन तोमर की अपनी पूर्व टीम पुणेरी पलटन में वापसी हुई है, जिसके चलते पुणे की टीम को सीजन 6 के लिए ज्यादा मजबूती भी मिली है।

सीजन 6 के लिए पुणेरी पलटन में नितिन तोमर का शामिल होना व टीम के रिटेन दिग्गज खिलाड़ी और नए युवा खिलाड़ियों की भरमार से पुणेरी पलटन नए जोश में नजर आएगी। पुणे ने 3 दिग्गज खिलाड़ियों को रिटेन किया, जिसमें संदीप नरवाल, राजेश मोंडल और गिरीश एर्नाक शामिल रहे। आगामी सीजन में यह टीम सबसे मजबूत नजर आ रही है क्योंकि टीम के पास अपने पुराने खिलाड़ी और नए खिलाड़ियों का मिश्रण है। आइये नजर डालते है पुणेरी पलटन की ताकत और कमजोरी पर और साथ ही टीम के पास क्या मौका होगा व किन खिलाड़ियों की कमी पुणे को सीजन 6 में खल सकती है।

टीम की ताकत

पुणे टीम की ताकत उसके रिटेन खिलाड़ियों में बसी हुई है। दमदार ऑलराउंडर संदीप नरवाल, बेहतरीन रेडर राजेश मोंडल और जबरदस्त डिफेंडर के रूप में अपना लोहा मनवा चुके गिरीश एर्नाक टीम के लिए शानदार प्रदर्शन करते हुए नजर आयेंगे। इन तीनो खिलाड़ियों का साथ इस बार प्रो कबड्डी के सबसे बेहतरीन खिलाड़ी नितिन तोमर देते हुए नजर आयेंगे। इन दिग्गज खिलाड़ियों के प्रदर्शन पर ही पुणेरी पलटन आगामी सीजन में अपनी किस्मत अजमा सकती है।

टीम की कमजोरी

रेडिंग विभाग में नितिन तोमर और राजेश मोंडल टीम का दरामोदार संभालेंगे, जो टीम की ताकत के रूप में सभी के सामने आएगा लेकिन ऑलराउंडर खिलाड़ियों की सूची में संदीप नरवाल के आलावा और डिफेंस में गिरीश एर्नाक के आलावा टीम के पास कोई भी अन्य अनुभवी खिलाड़ी मौजूद नहीं है, जिसका खामियाजा पुणे को 3 महीने तक लम्बे चलने वाले इस सीजन में भुगतना पड़ सकता है। इन 4 खिलाड़ियों पर ही पुणे की टीम ज्यादा निर्भर नजर आ रही है।

नए और युवा खिलाड़ियों के पास मौका

पुणे की टीम केवल 4 खिलाड़ियों पर आगामी सीजन के लिए निर्भर है और ऐसे में नए व युवा खिलाड़ियों के पास मौका होगा कि वह सीजन 6 में दमदार प्रदर्शन दर्शायें, जिससे टीम का भरोसा उनपर ज्यादा हो और वह टीम की जीत में अपना अहम किरदार निभा सकें। रेडिंग विभाग में नितिन तोमर व राजेश मोंडल का साथ दीपक कुमार दहिया जैसे युवा खिलाड़ी देते नजर आयेंगे और डिफेंस में गिरीश को बजरंग, रवि कुमार, विकास खत्री जैसे युवा खिलाड़ियों का साथ मिलेगा, तो  वहीँ ऑलराउंडर के रूप में संदीप के साथ अमित कुमार और संजय श्रेष्ट जैसे दमदार खिलाड़ी होंगे।

इन खिलाड़ियों की खलेगी कमी

पुणेरी पलटन ने इस नीलामी में दीपक निवास हूडा को रिटेन नहीं किया और उन्हें नीलामी में दोबारा से टीम में शामिल करने का मौका भी गवां दिया, जिसके चलते दीपक की कमी पुणे को बहुत खलेगी क्योंकि पिछले वर्ष दीपक ने पुणे के लिए लाजवाब प्रदर्शन किया था। दीपक के साथ दिग्गज खिलाड़ी धर्मराज चेरालाथन भी सीजन 6 में यू मुम्बा की टीम में शामिल कर लिए गए। इन दोनों खिलाड़ियों की कमी शायद ही कोई खिलाड़ी पूरी कर पायेगा।

प्रो कबड्डी सीजन 6 के लिए पुणेरी पलटन की टीम:

नितिन तोमर, राजेश मोंडल, जीबी मोरे, दीपक कुमार दहिया, परवेश, अक्षय जाधव, मोनू, विकाश खत्री, गिरीश एर्नाक, विनोद कुमार, रवि कुमार, रिंकू नरवाल, बजरंग, संदीप नरवाल, अमित कुमार, तकामित्सू कोनो, संजय श्रेष्ठ।

Advertisement
Fetching more content...