COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit

Pro Kabaddi 2018: तमिल थलाइवाज टीम की ताकत और कमजोरी पर एक नजर

208   //    16 Jun 2018, 23:15 IST

भारतीय कबड्डी टीम के कप्तान अजय ठाकुर की अगुआई में पिछले वर्ष प्रो कबड्डी लीग में अपनी शुरुआत करने वाली तमिल थलाइवाज के लिए इस बार की प्रो कबड्डी नीलामी शानदार रही। पिछले वर्ष के मुकाबले तमिल फ्रंचाइजी ने इस बार टीम में मजबूत और दिग्गज खिलाड़ियों को शामिल किया है। इसके साथ ही टीम ने अपने पुराने और भरोसेमंद खिलाड़ियों पर विश्वास जताते हुए उन्हें रिटेन भी किया, जिसके चलते यह टीम आगामी सीजन में प्रो कबड्डी लीग के ख़िताब की प्रबल दावेदार मानी जा सकती है। तमिल थलाइवाज ने अजय ठाकुर और अमित हूडा जैसे दो धुरंधर खिलाड़ियों को रिटेन किया, क्योंकि इन खिलाड़ियों का प्रदर्शन पिछले वर्ष टीम के लिए लाजवाब रहा था।

तमिल थलाइवाज के लिए प्रो कबड्डी लीग का पांचवा सीजन बेहद खराब रहा, हालांकि टीम ने आखिरी मैचों में वापसी करने के प्रयास किये लेकिन शुरुआत में पिछड़ने के बाद टीम प्लेऑफ्स के लिए क्वालीफाई नहीं कर पाई। आगामी सीजन में नए और दिग्गज खिलाड़ियों से सजी तमिल थलाइवाज का नया और हैरान करने वाला रूप देखने को मिल सकता है और इन खिलाड़ियों के दमदार प्रदर्शन पर यह टीम विजेता भी बन सकती है। आइये नजर डालते हैं तमिल थलाइवाज की ताकत और कमजोरी पर और साथ ही टीम के पास कई मौके होंगे, जिसपर वह खरा उतरना चाहेगी। अतः अंत में तमिल थलाइवाज को अपने पुराने खिलाड़ियों को कमी खल सकती है, जो इस बार टीम के साथ नहीं होंगे।

टीम की ताकत

तमिल थलाइवाज टीम की ताकत आगामी सीजन में अनुभवी खिलाड़ियों का शामिल होना रहेगा। अजय ठाकुर के साथ इस बार जसवीर सिंह, मंजीत छिल्लर, सुकेश हेगड़े जैसे धुरंधर खिलाड़ी तमिल के लिए मैदान पर उतरेंगे। यह सभी खिलाड़ी प्रो कबड्डी लीग के सबसे दिग्गज खिलाड़ी हैं और इन खिलाड़ियों का दमदार प्रदर्शन इस बार टीम को चैंपियन बना सकता है। हालांकि अजय ठाकुर और सुकेश हेगड़े का प्रदर्शन पिछले वर्ष शानदार रहा लेकिन जसवीर सिंह और मंजीत छिल्लर पिछले 2 सीजन से अपने प्रदर्शन में शांत रहे हैं। यदि यह सभी अनुभवी खिलाड़ी अपनी फॉर्म को बरक़रार रख पाए, तो तमिल थलाइवाज आगामी सीजन में बेहतर प्रदर्शन कर सकती है।

टीम की कमजोरी

तमिल थलाइवाज टीम की कमजोरी का आंकलन अगर किया जाए, तो टीम ऑलराउंड विभाग में बेहद कमजोर दिखाई पड़ रही है। रेडिंग विभाग में टीम के पास अजय ठाकुर, जसवीर सिंह और सुकेश हेगड़े जैसे शानदार खिलाड़ी हैं, तो डिफेंस में टीम के पास अमित हूडा, सी अरुण और सुनील जैसे युवा खिलाड़ी मौजूद हैं लेकिन ऑलराउंड विभाग में तमिल थलाइवाज के पास केवल मंजीत छिल्लर के रूप में एक अनुभवी खिलाड़ी मौजूद हैं, जिनका फॉर्म पिछले सीजन केवल औसत ही रहा था। उनके आलावा सभी खिलाड़ी नए हैं और इसलिए तमिल थलाइवाज को किसी अन्य उम्दा ऑलराउंडर की कमी खल सकती है।

दिग्गज खिलाड़ियों को अपनी फॉर्म वापस लाने  का मौका

तमिल थलाइवाज ने जसवीर सिंह और मंजीत छिल्लर को आगामी सीजन के लिए अपनी टीम में शामिल किया है। इन दोनों खिलाड़ियों के लिए पिछला सीजन औसत ही रहा था, इसलिए इस साल हुई नीलामी में दोनों खिलाड़ियों की पुरानी टीमों ने भरोसा नहीं जताया और इन्हें टीम से ड्रॉप कर वापस भी खरीदने योग्य नहीं समझा। जसवीर सिंह ने एक खिलाड़ी के तौर पर सीजन 1 का ख़िताब अपने नाम किया है, तो मंजीत पिछले 5 सीजन से अलग-अलग टीमों के कप्तान रहे हैं। इसलिए इन दोनों खिलाड़ियों को अभी भी कम नहीं आँका जा सकता और इन दिग्गज खिलाड़ियों के पास भी मौका होगा कि वह अपने आप को प्रो कबड्डी का दिग्गज खिलाड़ी साबित करें, जैसे वह वर्षों से करते आ रहे हैं।

इन खिलाड़ियों की खलेगी कमी

तमिल थलाइवाज को आगामी सीजन में अपने पुराने खिलाड़ियों की ज्यादा कमी नहीं खलेगी लेकिन एक खिलाड़ी जरुर ऐसा रहेगा, जिसको टीम हर समय अपने जहन में रखेगी। पिछले वर्ष जब अजय ठाकुर का फॉर्म खराब चल रहा था, तो युवा रेडर के. प्रपंजन ने दरामोदार सँभालते हुए टीम के लिए अपना अहम योगदान दिया था लेकिन सीजन 6 में प्रपंजन थलाइवाज टीम का हिस्सा नहीं होंगे। इसलिए इस युवा खिलाड़ी का न  होना थलाइवाज टीम को भारी पड़ सकता है। प्रपंजन आगामी सीजन में गुजरात फार्च्यूनजायंट्स की तरफ से खेलते नजर आयेंगे।

प्रो कबड्डी सीजन 6 के लिए तमिल थलाइवाज की टीम:

अजय ठाकुर, सुकेश हेगड़े, जसवीर सिंह, सुरजीत सिंह, के जयसीलन, अतुल एमएस, अनिल कुमार, अभिनन्दन चंदेल, आनंद, रजनीश, अमित हूडा, दर्शन, सी अरुण, सुनील कुमार, जै मिन ली, डी प्रदप, मंजीत छिल्लर, चैन सिक पार्क, विमल राज।

Fetching more content...