Pro Kabaddi League 2022: 3 कारण क्यों गत विजेता दबंग दिल्ली केसी PKL 9 में अपने टाइटल को डिफेंड नहीं कर पाएगी

क्या दबंग दिल्ली PKL का खिताब बचा पाएगी?
क्या दबंग दिल्ली PKL 9 का खिताब जीत पाएगी? (Photo: Pro Kabaddi League)

PKL: प्रो कबड्डी लीग (Pro Kabaddi League, PKL) के 8वें सीजन की चैंपियन दबंग दिल्ली (Dabang Delhi) की नजर आगामी सीजन में अपने टाइटल को डिफेंड करने पर होगी। PKL 8 में दबंग दिल्ली लीग स्टेज के बाद अंक तालिका में 22 मुकाबलों में 75 पॉइंट्स के साथ दूसरे स्थान पर रहे थे और उन्होंने सीधे सेमीफाइनल में जगह बनाई थी।

उन्होंने फाइनल में पटना पाइरेट्स को 37-36 से हराते हुए खिताबी जीत दर्ज की थी। हालांकि किसी भी टीम के लिए लगातार दो सीजन में चैंपियन बनना आसान नहीं होता है। PKL के इतिहास में एक मात्र पटना पाइरेट्स ऐसी टीम है, जिसने लगातार तीन बार खिताबी जीत दर्ज की है।

इस आर्टिकल में हम ऐसे तीन कारणों के बारे में बताने वाले हैं कि क्यों दबंग दिल्ली PKL 9 में खिताबी जीत दर्ज नहीं कर पाएंगे।

#3) PKL 9 में दबंग दिल्ली का डिफेंस नहीं है सेटल

PKL 8 की तरह इस सीजन में भी दबंग दिल्ली का डिफेंस काफी कमजोर दिखाई दे रहा है। उन्होंने ऑक्शन से पहले संदीप नरवाल, जीवा कुमार और जोगिंदर सिंह नरवाल जैसे मुख्य डिफेंडर्स को रिलीज कर दिया था। दबंग दिल्ली ने इस सीजन में कई युवा खिलाडियों को मौका दिया है।

इसमें संदीप ढुल लेफ्ट कॉर्नर और अमित हूडा राइट कॉर्नर पर खेलेंगे। इसके अलावा में राइट कवर पर रवि कुमार खेलते हुए दिखाई दे सकते हैं। टीम के डिफेंस में क्वालिटी की कमी नहीं है, लेकिन पूरे डिफेंस को बदलना टीम के खिलाफ जा सकता है। डिफेंस का अगल तालमेल नहीं बनता है, तो पिछले सीजन की तरह रेडर्स पर अतिरिक्त दबाव आ जाएगा।

#2 PKL 8 की चैंपियन दबंग दिल्ली को फिर होगी नवीन कुमार से उम्मीद

दबंग दिल्ली को सीजन 8 का खिताब जिताने के पीछे नवीन कुमार का काफी योगदान रहा था और उन्होंने प्रभावशाली प्रदर्शन से मोस्ट वैल्युएबल प्लेयर्स (MVP) का अवॉर्ड जीता था। हालांकि, दबंग दिल्ली इस सीजन भी नवीन कुमार के ऊपर ही पूरी तरह से निर्भर करने वाली है। आपको बता दें कि दबंग दिल्ली में सबसे अधिक पॉइंट्स नवीन कुमार और विजय मलिक ही लेते हैं।

अगर इन दोनों खिलाड़ियों को किसी कारण से चोट लग जाती है या फॉर्म ऊपर नीचे हो जाती है, तो दबंग दिल्ली के पास कोई भी बैक-अप विकल्प नहीं है। इसी वजह से उनके लिए टाइटल को रिटेन कर पाना काफी ज्यादा मुश्किल हो सकता है।

#1 लीडरशिप

दबंग दिल्ली के पिछले सीजन खिताब जीतने का श्रेय उनके अनुभवी लाइन-अप को दिया जा सकता है। मनजीत छिल्लर, संदीप नरवाल, जोगिंदर नरवाल और जीवा कुमार जैसे खिलाड़ियों ने टीम को कई मैच जिताने में अहम भूमिका निभाई थी। PKL 8 के बाद मनजीत चिल्लर रिटायर हो गए और अन्य खिलाड़ियों को रिलीज कर दिया था।

इस वजह से दबंग दिल्ली में अनुभवी प्लेयर्स की कमी दिख रही है और इस सीजन में यह टीम के लिए सबसे बड़ी चुनौती होने वाली है। टीम को ना सिर्फ अच्छा कप्तान ढूंढ़ना है, बल्कि ऐसे खिलाड़ी भी चाहिए जो मुश्किल स्थिति में दूसरे खिलाड़ियों को गाइड कर सकें। युवा खिलाड़ी अगर उम्मीदों पर खरा नहीं उतरते हैं, तो उनके लिए यह सीजन काफी मुश्किल हो सकता है।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता