EXCLUSIVE : अजय ठाकुर ने हमें रास्ता दिखाया, हिमाचल के खिलाड़ियों ने कैसे Pro Kabaddi में बनाई अपनी जगह, विशाल भारद्वाज ने खुलकर रखी अपनी बातें

Rahul
Photo Courtesy : Dabang Delhi K.C. Instagram
Photo Courtesy : Dabang Delhi K.C. Instagram

Pro Kabaddi: प्रो कबड्डी (Pro Kabaddi League) के 10वें सीजन का कारवां देश की राजधानी दिल्ली पहुँच गया है। घरेलू टीम दबंग दिल्ली केसी (Dabang Delhi K.C) आज अपने होम लेग की शुरुआत कर रही है। दिल्ली का प्रदर्शन अभी तक टूर्नामेंट में शानदार रहा है। दिल्ली की टीम 10 जीत के साथ अंक तालिका में तीसरे स्थान पर बनी हुई है। ऐसे में अपने पहले घरेलू मुकाबले से पहले दिल्ली टीम के दिग्गज स्टार प्लेयर विशाल भारद्वाज ने हिमाचल प्रदेश के खिलाड़ियों और भारत के लिए खेल चुके दिग्गज खिलाड़ी अजय ठाकुर से मिली प्रेरणा को लेकर खुलकर बातचीत की है।

स्पोर्ट्सकीड़ा से हुई खास बातचीत में विशाल भारद्वाज ने प्रो कबड्डी की चकाचौंध और युवा खिलाड़ियों का इसमें ढलने को लेकर अपनी बात रखी। उन्होंने इस सन्दर्भ में कहा,

'सभी नए खिलाड़ी गाँव में मिट्टी या फिर अकादमी पर मैट पर अभ्यास करते हैं लेकिन जब वह प्रो कबड्डी की रौनक देखते हैं तो कुछ नया पाते हैं। ऐसे में हम उन्हें यहाँ के माहौल को लेकर समझाते है और उन्हें अपने गेम पर फोकस करने के लिए कहते हैं।'

विशाल भारद्वाज ने कबड्डी के दिग्गज खिलाड़ी अजय ठाकुर के नाम पर भी चर्चा की और कहा,

'जैसे कि मैं हिमाचल प्रदेश से हूँ और हमारे अजय ठाकुर भाईसाहब व रोहित राणा भी हिमाचल से हैं तो ये लोग हमें बताते थे कि हमें कैसे अपने खेल में मेहनत करनी होगी। कैसे हम Pro Kabad खेल सकते हैं। अजय ठाकुर ने हमें रास्ता दिखाया कि हम कैसे बड़े स्तर पर कबड्डी खेल सकते हैं। उसके बाद हमने कड़ा अभ्यास किया और ट्रायल दिए जिससे हमारा चयन प्रो कबड्डी में हुआ। इसलिए मैं युवा खिलाड़ियों को भी कहना चाहता हूँ कि वह भी लगातार मेहनत करते रहे और अपने मौके पर जबरदस्त प्रदर्शन करें।'

Pro Kabaddi के 10वें सीजन में विशाल भारद्वाज का प्रदर्शन

Pro Kabaddi के इस सीजन में विशाल भारद्वाज ने 13 मैचों में 26 अंक प्राप्त किये है, जिसमें 24 टैकल पॉइंट्स और 2 रेड पॉइंट्स शामिल है। इसके अलावा उनके PKL में 300 अधिक टैकल पॉइंट्स और 20 हाई-फाइव है।

विशाल भारद्वाज ने हिमाचल और हरियाणा के खिलाड़ियों में फर्क बताते हुए आगे कहा कि,

'हिमाचल प्रदेश और हरियाणा के खिलाड़ियों में ज्यादा फर्क नहीं है। बस हमारे प्रदेश में सुविधाओं की कमी है जोकि हरियाणा में नहीं है। हरियाणा में कई सारी अकादमी है जहाँ अच्छी सुविधाएँ मौजूद है लेकिन अब धीरे धीरे हिमाचल से खिलाड़ी निकल कर आ रहे हैं। इस सीजन भी 6 से 7 खिलाड़ी खेल रहे हैं

Quick Links

Edited by Rahul