Create

"मनप्रीत बैठा है, मैं जब हूं तो खिलाड़ियों को चिंता नहीं करनी"- PKL 9 से पहले हरियाणा स्टीलर्स के कोच ने टीम के रेडर्स और डिफेंडर्स को लेकर दिया अहम बयान

PKL
हरियाणा स्टीलर्स के कोच मनप्रीत सिंह (Photo: Haryana Steelers Instagram)
मयंक मेहता

Pro Kabaddi League: हरियाणा को कबड्डी का गढ़ कहा जाता है और जितने बड़े खिलाड़ी इस राज्य ने देश को दिए हैं उतने शायद ही किसी दूसरे राज्य ने दिए हो। इसके बावजूद कबड्डी की सबसे बड़ी लीग Pro Kabaddi League में हरियाणा की टीम अपनी टीम अभी तक खिताबी जीत दर्ज नहीं कर पाई है।

4 सीजन खेलने के बाद भी हरियाणा स्टीलर्स की टीम एक बार भी फाइनल तक नहीं पहुंच पाई है, लेकिन आगामी सीजन के लिए टीम काफी बदली हुई दिखाई दे रही है। नए कोच (मनप्रीत सिंह) की अगुआई में इस बार टीम काफी संतुलित दिखाई दे रही है। इसी वजह से PKL के 9वें सीजन के लिए हरियाणा स्टीलर्स को खिताब जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा है।

हरियाणा स्टीलर्स से सबसे ज्यादा उम्मीद उनके कोच मनप्रीत सिंह के कारण भी की जा रही है। मनप्रीत बतौर खिलाड़ी पटना पाइरेट्स के साथ खिताब जीत चुके हैं और बतौर कोच भी वो दो बार गुजरात जायंट्स को फाइनल तक लेकर जा चुके हैं।

हमारा मार्गदर्शन करने वालों को धन्यवाद! 🙏🏻#HappyTeachersDay to every coach, mentor and guide out there. #ShaanSeSteelers #DhaakadBoys https://t.co/SNqdeQkw7k

मनप्रीत सिंह ने Pro Kabaddi League के 9वें सीजन के शुरू होने से पहले स्पोर्ट्सकीड़ा से खास बातचीत की। इस दौरान उन्होंने कई अहम मुद्दों के बारे में बात की और उस खिलाड़ी का नाम भी बताया जो आगामी सीजन में अपनी छाप छोड़ सकता है। आइए नजर डालते हैं मनप्रीत सिंह ने क्या कहा:

#) PKL 9 में हरियाणा स्टीलर्स की टीम को आप किस तरह आंकते हैं और इस सीजन टीम से क्या उम्मीद की जा सकती है?

-) हमने जो ऑक्शन में प्लानिंग की थी, उसमें बस हम एक खिलाड़ी को नहीं खरीद पाए थे। हम पवन सेहरावत को नहीं ले पाए, लेकिन उनकी जगह हमने दो अच्छे रेडर्स (मनजीत और के प्रपंजन) को खरीदा। वो दोनों काफी अच्छी फॉर्म में हैं और मुझे उम्मीद है कि यह दोनों वो काम करके देंगे जो पवन को करना था। हमने जो टीम चुनी है उससे पूरी तरह संतुष्ट हैं। हमें पूरी उम्मीद है कि इस टीम को लेकर फाइनल खेलेंगे और ट्रॉफी जीतेंगे।

#) पहली बार आप हरियाणा स्टीलर्स के कोच बने हैं, इस जिम्मेदारी को लेकर कितने उत्साहित हैं? साथ ही हरियाणा स्टीलर्स अभी तक खिताबी जीत नहीं दर्ज कर पाई है इसका कितना दबाव होगा?

-) मैं काफी ज्यादा उत्साहित हूं, अपने घर में हूं और अपनी टीम को कोचिंग करूंगा। मेरे लिए इससी बड़ी बात और कुछ नहीं हो सकती है। मेरे ऊपर कोई दबाव नहीं है। मुझे खुशी होगी कि मैं हरियाणा का कोच हूं और टीम को दबाव से निकाल पाऊं। Pro Kabaddi League के 9वें सीजन की ट्रॉफी हम जीते और हमारा यह ही लक्ष्य होने वाला है। भगवान ने चाहा, तो इस सीजन यह जरूर होगा।

#) हरियाणा स्टीलर्स के रेडिंग विभाग को आप किस तरह देखते हैं और जितने विकल्प टीम के पास है वो आपके लिए चुनौती रहेगी?

-) हमारा रेडिंग विभाग काफी अच्छा है। हमारे पास लेफ्ट और राइट दोनों साइड के रेडर्स मौजूद हैं। चार रेडर हमारे पास लेफ्ट के हैं और 4 ही रेडर राइट के हैं। मैच के हिसाब से ही हमारी जो प्लानिंग रहेगी उसी के मुताबिक हम रेडर्स को खिलाएंगे। जिस साइड पर हमारी प्रतिद्वंदी की कमजोरी रहेगी उसी साइड के दो रेडर्स को हम खिलाएंगे और खिलाड़ियों को रोटेशन में इस्तेमाल करेंगे।

#) हरियाणा स्टीलर्स की टीम में अनुभव की कमी है, आपको लगता है यह टीम के लिए अहम मौकों पर दिक्कत का सबब बन सकती है?

-) मनप्रीत बैठा है। मैं जब हूं, तो खिलाड़ियों को किसी भी चीज़ की चिंता करने की जरूरत नहीं है। उन्हें सिर्फ खेलना है और जो मैं प्लान दूंगा उसे ही फॉलो करना है। हमारे पास कुछ ऐसे खिलाड़ी हैं जोकि PKL का फाइनल खेल चुके हैं और अनुभव की इतनी कमी मेरे हिसाब से नहीं है।

चलो शुरू करें? 🔥Our #DhaakadBoys have regrouped at the @IIS_Vijayanagar for their pre-season ahead of the @ProKabaddi League Season 9. #ShaanSeSteelers ⚡️ https://t.co/PqLwJBKmaC

#) हरियाणा स्टीलर्स के कॉर्नर्स को साथ में खेलने का अनुभव नहीं है, तो तालमेल बिठाना कितनी बड़ी चुनौती होने वाली है?

-) अभी कबड्डी काफी ज्यादा एडवांस हो गई है और टेक्नोलोजी का काफी फायदा हुआ है। आज की कबड्डी और तीन-चार साल पहले की कबड्डी में काफी अंतर आ गया है। अभी आपको एक साथ तालमेल बिठाने के लिए लंबे समय तक खेलने की जरूरत नहीं पड़ती है। आपके पास फिटनेस होनी चाहिए और कोच की आपके लिए क्या प्लानिंग है। एक-दो महीने का जो कैंप होता है, वो हर खिलाड़ी के लिए कॉम्बिनेशन बनाने में मदद करता है। हमें पूरा समय मिला है और इसके साथ ही हमारे पास चार कॉर्नर हैं। दो लेफ्ट और दो राइट के, उनके साथ अच्छा कॉम्बिनेशन बना हुआ है। पूरे इंडिया में सुनील-परवेश के बाद कवर में जयदीप और मोहित का ही नबंर आता है। इन्होंने नेशनल में भी काफी अच्छा करके दिया है। नितिन रावल और जोगिंदर नरवाल लेफ्ट कॉर्नर हैं, आमिरहोसैन बस्तामी और मोनू राइट कॉर्नर हैं। मैं 12 टीमों के डिफेंस को रेट करना चाहूंगा, तो हरियाणा स्टीलर्स को सबसे ऊपर रखूंगा।

#) PKL 9 में हरियाणा स्टीलर्स के लिए सबसे बड़ी चुनौती क्या होने वाली है और कौन सा खिलाड़ी सबसे ज्यादा छाप छोड़ सकता है?

-) प्रो कबड्डी लीग में सभी टीमें पूरी तैयारी के साथ आएंगी, आप किसे को भी हल्के में नहीं ले सकते। हमारे लिए सबसे बड़ी चुनौती यह ही होने वाली है कि हम किसी को हल्का या अपने से ज्यादा हैवी ना समझे। हर मुकाबला नया होता है और उसके लिए प्लानिंग करनी होती है। हमारी नजर पहले प्ले-ऑफ में पहुंचना और फिर सेमीफाइनल-फाइनल खेलने पर होगी। इसके अलावा आमिर होसैन बस्तामी पर सभी की नजर रहेगी और टीमें उनके लिए प्लानिंग करके आएगी। साथ ही दो-तीन युवा खिलाड़ी हैं और उनसे भी अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी। मेरी नजर में सभी खिलाड़ी अच्छे हैं।


Edited by मयंक मेहता

Comments

comments icon

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...