Create

Pro Kabaddi League में डिफेंडर्स द्वारा टैकल के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले फेमस मूव्स जिनके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए

कबड्डी में डिफेंस में इस्तेमाल होते हैं कई स्किल (Photo: Pro Kabaddi League)
कबड्डी में डिफेंस में इस्तेमाल होते हैं कई स्किल (Photo: Pro Kabaddi League)

PKL: कबड्डी में डिफेंडिंग का मतलब केवल ताकत दिखाना ही नहीं होता है। डिफेंडिंग के दौरान कई ऐसे मूव्स का इस्तेमाल किया जाता है जिसकी मदद से रेडर्स को रोका जा सके। डिफेंडिंग के दौरान इस्तेमाल होने वाली मूव्स के लिए सही टाइमिंग और अच्छी तकनीक काफी जरूरी होती है। आइए एक नजर डालते हैं कबड्डी के कुछ सबसे मशहूर डिफेंडिंग स्किल पर।

#1 Pro Kabaddi League में खूब होता है एंकल होल्ड का इस्तेमाल

एंकल होल्ड डिफेंस के सबसे अहम स्किल में से एक है। इसमें डिफेंडर नीचे बैठकर रेडर के एंकल को पकड़ता है और उसे रोकता है। कई बार डिफेंडर्स डाइव लाकर रेडर के एंकल को पकड़ते हैं और इसे डाइविंग एंकल होल्ड कहते हैं। रविंदर पहल और सुरेन्दर नाडा जैसे दिग्गजों ने सटीक एंकल होल्ड के उदाहरण दुनिया के सामने पेश किए हैं।

#2 ब्लॉक में लगती है काफी ताकत

यह मूव पूरी तरह से ताकत पर निर्भर करती है। यह काफी खतरे वाला मूव है जिसमें डिफेंडर को अपना पूरा शरीर झोंकना होता है। डिफेंडर इंतजार करते हैं कि रेडर डीप जाए और इसके बाद उसके निकलने के रास्ते को ब्लॉक किया जाता है। डिफेंडर को इस मूव के लिए सही पोजीशन में होना होता है।

#3 चेन टैकल में दिखता हैं टीम वर्क

चेन टैकल में कई डिफेंडर्स साथ आकर रेडर को रोकने की कोशिश करते हैं। अक्सर दो डिफेंडर्स चेन बनाते हैं और साथ में रेडर पर हमला करते हैं। चेन लेकर आने वाले डिफेंडर्स थोड़ा झुके होते हैं ताकि रेडर उनके नीचे से निकलकर भाग ना सके। सफलता के साथ मूव करने के लिए तालमेल और टीम वर्क की जरूरत होती है।

#4 डैश करना आज भी आंखों में लाता है चमक

किसी रेडर को मैट से डैश करके बाहर आज भी कबड्डी की डिफेंस का सबसे अच्छा दिखने वाला मूव लगता है। इस मूव में डिफेंडर तेजी से आकर रेडर को धक्का देकर मैट से बाहर करते हैं। इस दौरान डिफेंडर को यह भी देखना होता है कि वह खुद मैट के बाहर ना जाएं। इसमें डिफेंडर को इस बात का ध्यान रखना होता है कि वो खुद डैश करते हुए मैट से बाहर नहीं निकल जाए।

#5 थाई होल्ड

थाई होल्ड ऐसा मूव है जो सही तरीके से इस्तेमाल करने पर निश्चित तौर पर प्वाइंट देके जाता है। इस मूव में डिफेंडर जांघ पर हमला करते हैं और दोनों हाथों से जांघ पकड़कर रेडर को वहीं रुकने पर मजबूर कर देते हैं। इस मूव के लिए डिफेंडर्स को सटीक तरीके से हमला करना होता है क्योंकि इसमें गलती की गुंजाइश नहीं होती है।

#6 वेस्ट होल्ड से डिफेंडर्स दिखाते हैं अपनी ताकत

कबड्डी का एक और जोरदार डिफेंसिव स्किल है वेस्ट होल्ड। इस स्किल में रेडर को पीछे से कमर से पकड़ा जाता है। जब रेडर वापस जाने की कोशिश करता है तो डिफेंडर पीछे से उसकी कमर को दोनों हाथों से पकड़ता है और उसे खींचने या पटकने की कोशिश करता है। यह ऐसा मूव हो जो सही से लग जाए तो रेडर को मिड लाइन के बगल से भी खींचा जा सकता है।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता
Be the first one to comment