Senior National Kabaddi Championship: पवन सेहरावत का जबरदस्त प्रदर्शन और राहुल चौधरी की टीम टूर्नामेंट से बाहर, सेमीफाइनल में पहुंची 4 टीमें

Kabaddi
पवन सेहरावत की टीम सेमीफाइनल में पहुंची (Photo: Senior National Kabaddi Championship)

Kabaddi: महाराष्ट्र में चल रहे 70वें सीनियर नेशनल कबड्डी चैंपियनशिप (Senior National Kabaddi Championship 2024) के क्वार्टर फाइनल मुकाबले 23 मार्च को खेले गए। इस बीच सेमीफाइनल के लिए 4 प्रमुख टीमों ने क्वालीफाई कर लिया है और इस बीच राहुल चौधरी की कप्तानी वाली यूपी टूर्नामेंट से बाहर हो गई है।

आपको बता दें कि अंतिम 8 में उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़, इंडियन रेलवे, राजस्थान, सेना, हरियाणा, महाराष्ट्र और कर्नाटक ने जगह बनाई थी। इन 8 टीमों में से महाराष्ट्र, इंडियन रेलवे, हरियाणा और चंडीगढ़ ने सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया है। राहुल चौधरी, अर्जुन देशवाल, सुरजीत सिंह जैसे खिलाड़ियों की टीमों का सफर क्वार्टर फाइनल में हार के साथ समाप्त हो गया।

क्वार्टर फाइनल में असलम इनामदार (10 रेड पॉइंट्स), मोहित नांदल (4 टैकल पॉइंट्स), जयदीप दहिया (4 टैकल पॉइंट्स), सुरेंदर गिल (11 रेड पॉइंट्स), नितेश कुमार (4 टैकल पॉइंट्स), पवन सेहरावत (11 रेड पॉइंट्स) और नरेंदर कंडोला (10 रेड पॉइंट्स) ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए अपनी-अपनी टीमों को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

Senior National Kabaddi Championship 2024 के क्वार्टर फाइनल में हुए मैचों के नतीजे इस प्रकार हैं:

-) चंडीगढ़ ने उत्तर प्रदेश को 49-43 से हराया।

-) इंडियन रेलवे को राजस्थान के खिलाफ 53-49 से जीत मिली।

-) हरियाणा और सेना के बीच रोमांचक मैच खेला गया, जिसे हरियाणा ने 30-27 से जीता।

-) महाराष्ट्र ने एकतरफा मुकाबले में कर्नाटक को 45-25 से हराया।

पहले सेमीफाइनल में चंडीगढ़ का सामना इंडियन रेलवे के खिलाफ होगा और दूसरे सेमीफाइनल में महाराष्ट्र और हरियाणा आमने-सामने होने वाले हैं। इंडियन रेलवे लगातार 4 बार सीनियर नेशनल कबड्डी चैंपियनशिप को जीत चुके हैं, लेकिन इस बार उनके सामने पवन सेहरावत होने वाले हैं, जिन्होंने रेलवे के लिए खेलते हुए जबरदस्त प्रदर्शन करके दिखाया है। दूसरे सेमीफाइलन में आशु मलिक और असलम इनामदार के ऊपर सभी की नज़रें रहने वाली हैं। दोनों सेमीफाइनल मुकाबले 24 मार्च को शाम 6 बजे से खेले जाने वाले हैं।

Quick Links

Edited by मयंक मेहता