आईपीएल के बाद अब प्रो कबड्डी लीग से स्‍पॉन्‍सरशिप हटाने की फिराक में वीवो - रिपोर्ट

प्रो कबड्डी लीग
प्रो कबड्डी लीग

चीनी स्‍मार्टफोन उत्‍पादक वीवो अब प्रो कबड्डी लीग से स्‍पॉन्‍सरशिप हटाने की फिराक में लग रहा है। इकोनॉमिक टाइम्‍स की रिपोर्ट के मुताबिक यह फैसला उसके अगले दिन लिया गया जब बीसीसीआई के साथ आगामी आईपीएल सत्र के लिए वीवो ने टाइटल प्रायोजन करार निलंबित किया। इस करार में शामिल एक व्‍यक्ति ने द इकोनॉमिक टाइम्‍स से कहा, 'भारत-चीन सीमा पर टकराव के बाद से सभी नकारात्मक प्रचार के बीच वीवो ने कम झूठ बोलने का फैसला किया है। कंपनी ने कम से कम इस साल सभी प्रमुख करारों से खुद को दूर रखने का फैसला किया है। वीवो का ध्‍यान अब अधिक खुदरा छूट और कमीशन के माध्‍यम से उत्‍पादों को बेचने पर लगा रहेगा।'

प्रो कबड्डी को लेकर वीवो ने दी जानकारी

वीवो ने स्‍टार इंडिया के साथ पांच साल का करार 300 करोड़ रुपए में किया था, लेकिन वीवो ने अब स्‍टार इंडिया को करार खत्‍म करने के अपने इरादे की जानकारी दे दी है। द इकोनॉमिक टाइम्‍स की रिपोर्ट में बताया गया कि लीग के मीडिया अधिकार भी इस साल के अंत में नीलामी में जाएंगे। प्रो कबड्डी फ्रेंचाइजी ने स्‍पष्‍ट व निष्‍पक्ष नीलामी की मांग की है अगर स्‍टार इंडिया बेहतर ऑफर के साथ नहीं आता है तो। एक फ्रेंचाइजी के मालिक ने कहा, 'हम सभी ने मशाल स्पोर्ट को आईपीएल की नीलामी की तरह, स्टार के बिना 'राइट टू मैच' के साथ एक नीलामी आयोजित करने के लिए कहा है। प्रो कबड्डी लीग में बहुत अधिक मूल्‍य है और मशाल स्‍पोर्ट के स्‍टार का स्‍वामित्‍व हितों के टकराव का संघर्ष है।'

एक रिपोर्ट के मुताबिक स्टार इंडिया ने प्रत्येक फ्रेंचाइजी को अगले पांच वर्षों के लिए मीडिया अधिकारों के हिस्से के रूप में प्रति वर्ष 14-15 करोड़ रुपये की पेशकश की है, लेकिन फ्रेंचाइजी प्रति वर्ष 22 करोड़ रुपये की मांग कर रहे थे। बता दें कि प्रो कबड्डी लीग का 2020 सीजन कोरोना वायरस महामारी के कारण रद्द हो चुका है।

पता हो कि 2014 में प्रो कबड्डी लीग की शुरूआत हुई थी। इसमें पहला विजेता जयपुर पिंक पैंथर्स बना था, जिसने यू मुंबा को फाइनल में मात दी थी। 2015 में यू मुंबा ने बेंगलुरु बुल्‍स को हराकर खिताब जीता था। 2016 में लीग के दो सीजन आयोजित किए गए। पटना पाइरेट्स ने इन दोनों सीजन में गजब का प्रदर्शन करते हुए खिताब जीता। 2016 जनवरी में हुई लीग में पटना ने फाइनल में यू मुंबा को पटका जबकि जून में हुई लीग के फाइनल में पटना ने जयपुर पिंक पैंथर्स को मात दी थी। 2017 में पटना पाइरेट्स ने फाइनल में गुजरात फॉर्च्‍यून जायंट को मात देकर खिताब की हैट्रिक पूरी की थी। 2018 में बेंगलुरु बुल्‍स ने फाइनल में गुजरात को मात देकर प्रो कबड्डी लीग में अपना पहला खिताब जीता। पिछले साल बंगाल वॉरियर्स ने फाइनल में दबंग दिल्‍ली को मात देकर खिताब जीता था।

Quick Links

App download animated image Get the free App now