अपने भारतीय ओलम्पियन को जानें: दीपा करमाकर(जिमनास्ट) के बारे में 10 बातें

जिम्नास्टिक्स फेडरेशन ऑफ़ इंडिया का अपना कोई विकिपीडिया पेज नहीं है, लेकिन त्रिपुरा में पैदा होने वाली दीपा करमाकर ने इस खेल में भारत को ग्लोबल स्तर पर पहचान दिलाई है। 22 बरस की दीपा के पांव बचपन से समतल थे, उन्होंने भारत का मस्तक कई बार गर्व से ऊँचा कर दिया है। साथ ही वह पहली भारतीय महिला जिमनास्ट हैं, जिसने ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया है। यहाँ हम आपको दीपा के बारे में 10 अहम बातें बता रहे हैं: #1 त्रिपुरा के अगरतला में दीपा करमाकर का जन्म 9 अगस्त 1993 में हुआ था। दीपा ने 6 साल की उम्र से जिम्नास्टिक की ट्रेनिंग बिस्बेश्वर नंदी से लेनी शुरू कर दी थी। वह तब से आज तक उनके कोच बने हुए हैं। #2 जब दीपा जिमनास्टिक्स में ही अपना भविष्य सोच रही थीं, तभी फर्स्टपोस्ट के इंटरव्यू के मुताबिक उनके कोच नंदी ने कहा था कि उनके पैर फ्लैट थे। जो जिम्नास्टिक के लिए आदर्श नहीं थे। जिसे कर्व देने में काफी मेहनत करनी पड़ी। #3 साल 2007 में दीपा ने 14 साल की उम्र में जल्पैगुरी में हुए राष्ट्रीय जूनियर में जीत हासिल की। साल 2010 में दिल्ली कामनवेल्थ खेलों में वह भारतीय टीम की सदस्य थीं। जहाँ उन्होंने भारतीय जिमनास्ट आशीष कुमार को पदक जीतते हुए देखा था। जिससे उन्हें प्रेरणा मिली। #4 साल 2011 में करमाकर ने त्रिपुरा की तरफ से राष्ट्रीय स्तर पर खेलते हुए 5 स्वर्ण पदक जीते। उन्होंने गजब का आलराउंड प्रदर्शन किया था। #5 साल 2014 के कामनवेल्थ खेलों में करमाकर ने 7 का स्कोर हासिल कर भारत की पहली महिला कांस्य पदक विजेता बनी। जहाँ उन्होंने कुल स्कोर 14.366 किया था। आशीष कुमार के बाद वह कामनवेल्थ खेलों में जिमनास्ट में पदक जीतने वाली दूसरी भारतीय एथलीट बनी थीं। #6 कुछ महीने बाद एशियन खेलों में करमाकर ने इंचियोन में 14.200 का फाइनल स्कोर बनाकर चौथे स्थान पर रहीं थीं। #7 साल 2015 में करमाकर ने प्रादुनोवा में 15.100 का स्कोर बनाया। जिसमे एक 7 और दूसरे 8.1 अंक हासिल किया। इस दौरान उन्हें डोमिनिकन रिपब्लिक की यमिलेट पना और इजिप्ट की फ़दवा महमूद ने ही चुनौती पेश की थी। #8 पिछले साल एशियन चैंपियनशिप में करमाकर ने वोल्ट इवेंट में कांस्य पदक जीता था। साथ ही बीम इवेंट में उन्हें 8वां स्थान मिला था। #9 साल 2015 में हुए वर्ल्ड आर्टिस्टिक जिमनास्टिक्स चैंपियनशिप में वह पहली भारतीय जिसने फाइनल तक का सफर तय किया। क्वालीफाइंग राउंड में दीपा ने 14.9 का स्कोर किया। जबकि फाइनल में उन्होंने 14.863 का स्कोर किया। जिससे उन्हें 5वां स्थान मिला। #10 18 अप्रैल 2016 को करमाकर रियो ओलंपिक में क्वालीफाई करने वाली भारत की पहली महिला जिमनास्ट बनीं। क्वालीफाइंग राउंड में दीपा ने 52.698 का स्कोर बनाया। फाइनल में उन्हें 42 वां स्थान मिला था। दीपा को बंगलौर का एनजीओ गोस्पोर्ट्स फाउंडेशन मदद करता है। जिसने अबतक उनके ट्रेनिंग और प्रतिस्पर्धी जरुरी चीजों के लिए फण्ड देकर अहम योगदान दिया है। दीपा करमाकर की यात्रा को दर्शाता ये वीडियो देखें जो दीपा की कहानी को बयान करता है:

App download animated image Get the free App now