Create

भव्य समारोह में शुरु हुए 22वें कॉमनवेल्थ गेम्स, दिखाई इतिहास और आधुनिकता की झलक

बेहद सुंदर आतिशबाजी के बीच बर्मिंघम खेलों की शुरुआत की गई।
बेहद सुंदर आतिशबाजी के बीच बर्मिंघम खेलों की शुरुआत की गई।
Hemlata Pandey

बर्मिंघम कॉमनवेल्थ खेलों का आधिकारिक शुभारंभ भव्य ओपनिंग सेरेमनी के साथ किया गया और 72 देशों और क्षेत्रों की टीमों के हजारों खिलाड़ियों ने खेल भावना से इन गेम्स में प्रदर्शन का वायदा किया। 22वें कॉमनवेल्थ खेलों की ओपनिंग सेरेमनी में रंगारंग प्रस्तुतियां दी गईं। बर्मिंघम के इतिहास से लेकर आधुनिकता के प्रमाण दिखाते हुए इन खेलों को शुरु किया गया। भारत की ओर से बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू और हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने राष्ट्रीय ध्वज पकड़ते हुए भारतीय दल का नेतृत्व स्टेडियम के अंदर किया। इस बार के कॉमनवेल्थ खेल ऐतिहासिक हैं क्योंकि पहली बार महिला एथलीटों की स्पर्धाओं की संख्या पुरुष एथलीटों की तुलना में ज्यादा है।

बर्मिंघम के ऐलेग्जेंडर स्टेडियम में हुए समारोह में नाइजीरिया के ड्रमर अब्राहम पैडी ने अपने ड्रम की ताल से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया। इसके बाद भारतीय मूल की गायिका रंजना घाटक ने अपने सुरों से समा बांधा और इन खेलों की डायवर्सिटी से सभी को रूबरू करवाया। मूल रूप से पाकिस्तान की रहने वाली नोबल शांति पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई ने कार्यक्रम में सभी का स्वागत किया। तालिबानी हमले के बाद मलाला को इलाज के लिए यहीं लाया गया था और उनका परिवार अब बर्मिंघम में ही निवास करता है।

Flagbearers @Pvsindhu1 and @manpreetpawar07 lead #TeamIndia out in the Parade of Nations at the #B2022 Opening Ceremony 🇮🇳🎆What a moment! 😍#EkIndiaTeamIndia | @birminghamcg22 https://t.co/rKFxWTzMfz

कार्यक्रम में बर्मिंघम के आम नागरिकों के जीवन को दर्शाया गया। कार्यक्रम का आकर्षण रहा Raging Bull, जो 10 मीटर ऊंचे एक बुल का मैकेनिकल मॉडल था जिसे महिला आर्टिस्ट खींचती दिखाई गई। ये प्रतीक था औद्योगिक क्रांति के समय का जब बर्मिंघम समेत इंग्लैंड में महिलाएं मोटी-मोटी चेन बनाया करती थीं।

Taking five months to build and standing 10m high, the raging bull is pulled along by female chain-makers. In the 19th century, women worked long hours in hot and cramped outhouses for hardly any pay making chains, which led to a famous strike for better conditions. #B2022 https://t.co/bfJ4ByQlP0

इन महिला मजदूरों को उस जमाने में काम के हिसाब से तनख्वाह न के बराबर मिलती थी। ऐसे में साल 1910 में महिलाओं ने सभी पाबंदिया तोड़ी और बराबर और अच्छी तनख्वाह के लिए आंदोलन किया। इसी को दर्शाते हुए इस बुल को प्रदर्शित किया गया। हर कोई इस लाजवाब आकृति को देखकर हैरान था।

🤩An amazing spectacle.👑A Royal arrival.🥰An incredible welcome.This. clip. has. it. all!#B2022 https://t.co/93SznXFKiw

इसके अलावा कारों के निर्माण के लिए मशहूर बर्मिंघम की आम जनता में से चुने हुए लोग अपनी कारें लेकर स्टेडियम के अंदर आए और इंग्लैंड के ध्वज की आकृति बनाई। इसके आखिर में ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स खुद अपनी कार चलाते हुए स्टेडियम के अंदर आए, साथ में उनकी पत्नी प्रिसेंज कैमिला भी थीं। प्रिंस चार्ल्स के आते ही स्टेडियम तालियों से गूंज गया। कार्यक्रम में लेखक विलियम शेक्सपियर समेत इस शहर की मशहूर हस्तियों को भी दर्शाया गया।

The magnificent Bards of Brum represent some of the City's most famous exports: William Shakespeare, composer Edward Elgar, the inventor of the modern dictionary – and bookworm! - Samuel Johnson and the 18th century Lunar Society, the forefathers of modern Birmingham. #B2022 https://t.co/q888LLGnJh

इसके बाद परेड ऑफ नेशंस में पिछली बार के मेजबान ऑस्ट्रेलिया के दल के साथ एक-एक कर सभी देशों के खिलाड़ी अपने-अपने राष्ट्रीय ध्वज के साथ आते दिखे। इन कॉमनवेल्थ खेलों में पहली बार महिला एथलीटों की कुल 136 स्पर्धाएं खेली जा रही हैं जबकि पुरुषों में इनकी संख्या 134 है जबकि मिक्स्ड इवेंट में 10 गोल्ड मेडल रहेंगे। महिला टी-20 क्रिकेट को पहली बार इन खेलों में शामिल किया गया है जिससे फैंस में उत्साह और बढ़ गया है।


Edited by Prashant Kumar

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...