Create
Notifications

Rio Olympics: 5 युवाओं के प्रदर्शन पर रहेगी सबकी नज़रें

सुर्यकांत त्रिपाठी

भारतीय टीम ने रियो ओलंपिक 2016 की पूरी तैयारी कर ली है और इस टीम में कई युवा खिलाड़ियों को मौके दिए गए हैं। कई खिलाडी पहली बार ओलंपिक में हिस्सा ले रहे हैं। ये रहे 5 युवा भारतीय खिलाड़ी जो अपने पहले ही ओलंपिक खेल में सभी को चौंका सकते है: 1. जीतू राय jitubjzhs-1460376541-800 अगर आपसे कहा जाये कि आप किसी एक ऐसे खिलाडी के बारे में सोचिये जिसने अपने करियर की शुरुआत देर से की मगर सफलता की सीधी पर बड़ी तेज़ी से बढ़ा हो, तो शायद सबसे पहला नाम आपके दिमाग में आएगा वो है जीतू राय। 28 वर्षीय जीतू को साल 2010 में ट्रेनिंग के लिए चुना गया था, लेकिन अच्छा प्रदर्शन न करने के कारण उन्हें आर्मी यूनिट में वापस भेज दिया गया था, यहाँ पर उनकी ट्रेनिंग बंद कर दी गयी। लेकिन हालात जल्द ही बदलें और साल 2014 में ग्रेनाडा में हुए 10 मीटर एयर राइफल शूटिंग के वर्ल्ड चैंपियनशिप में उन्हें रजत पदक मिला। इसी से उन्होंने रियो ओलंपिक के लिए रास्ता बनाया। इसी केटेगरी में उन्होंने मारिबोर विश्व कप, कामनवेल्थ खेल और एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीता। साल 2015 की शुरुआत भी अच्छी रही, हालांकि उन्हें थोड़े चोट भी लगीं लेकिन उन्होंने शानदार वापसी करते हुए बैंकॉक वर्ल्ड कप में 50 मीटर राइफल शूटिंग में स्वर्ण पदक जीता। भारत की ओर से रियो गये चार शूटर्स में से एक हैं जीतू राय और उनसे पदक की उम्मीदें हैं। 2. नरसिंह यादव narsinghhhd-1460376589-800 नरसिंह यादव से 13 साल की उम्र से रैस्लिंग करनी शुरू कर दी थी, लेकिन उनके करियर ने सबसे बड़ा मोड़ तब लिया जब कामनवेल्थ खेलों में उन्हें 74 किलो केटेगरी में बदलाव के रूप में शामिल किया गया और उन्होंने मौके को भुनाते हुए स्वर्ण पदक जीता। साल 2011 और 2012 उनके लिए मिला जुला रहा, लेकिन साल 2014 में वें वापस चमके। इस बार उन्होंने इंचियोन में हुए एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीता और उसके बाद उसी साल में लास वेगास में हुए वर्ल्ड चैंपियनशिप में उन्होंने कांस्य पदक जीतकर रियो ओलंपिक्स के 74 किलो कैटेगिरी के लिए क्वालीफाई किया। इस जगह को लेकर नरसिंह और सुशिल कुमार के बीच खींच-तान चल रही थी और आख़िरकार नरसिंह को ही मौका मिला। 3. खुशबीर कौर khushbir-1460377008-800 रेसवाकिंग जैसे खेल पर भले ही भारतीय मीडिया द्वारा ज्यादा बात न करें। लेकिन इस ईवेंट से अगर किसी युवा पर सबसे ज्यादा भरोसा किया जा सकता है, तो वो है खुशबीर कौर। एशियाई ओपन जूनियर चैंपियनशिप कांस्य पदक जीतकर ये 22 वर्षीय खिलाडी सभी की नज़रों में आई। साल 2015 उनके लिए और अच्छा रहा उन्होंने जापान के एशियाई खेलों 1:33:37 की टाइमिंग के साथ कांस्य पदक जीता और अपने खुद का नेशनल रिकॉर्ड तोडा। इतना ही नहीं अपने इवेंट के एशियाई खेल में पदक जीतनेवाली वें पहली महिला बनी। पिछले साल बीजिंग चैंपियनशिप में 1:33:58 की टाइमिंग के साथ उन्होंने रियो ओलंपिक के लिए जगह बनाई। 4. अपूर्वी चंदेला chandeaasknc-1460377377-800 पिछले कुछ सालों से भारतीय शूटिंग टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया है और इसके पीछे 23 वर्षीय अपूर्वी चंदेला जैसे खिलाडियों की मेहनत है। 2014 के ग्लासगो कामनवेल्थ खेलों में स्वर्ण पदक जीतकर वें चर्चा का विषय बनी। 2015 में चांगवों विश्व कप में कांस्य पदक जीतकर रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया। उसी साल उन्होंने अपना पहला विश्व कप रजत पदक, म्यूनिख में जीता। जयपुर की इस खिलाडी से उनके पहले ही ओलम्पिक से काफी उम्मीदें हैं और हम ये आशा करते हैं कि वें सभी की उम्मीदें पूरी करे। 5. इंद्रजीत सिंह is-1460377473-800 साल 2015 में अगर किसी ने भारतीय एथेलेटिक्स पर दबदबा कायम किया है, तो वो है इंद्रजीत सिंह। 27 वर्षीय इस खिलाडी ने साल 2015 में कुल 8 स्वर्ण पदक जीते। जिसमें से उन्होंने तीन स्वर्ण पदक थाईलैंड में हुए एशियाई ग्रैंड प्रिक्स सीरीज में जीते। इसके अलावा उन्होंने भारत में पहली बार हुए यूनिवर्सिटी गेम्स में पदक जीता। एथेलेटिक्स में भारत दो बार पदक जीतने के करीब आई थी, लेकिन अगर इस बार इंद्रजीत ने सबकुछ सही किया तो भारतीय टीम की झोली में पदक पक्का है। लेखक: शंकर नारायण, अनुवादक: सूर्यकांत त्रिपाठी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...