Create

कोविड के कारण 19वें एशियन गेम्स हुए पोस्टपोन, नई तारीखों का ऐलान नहीं

चीन के शहर हांगझाओ में 10 सितंबर से 25 सितंबर तक एशियाड का आयोजन होना था।
चीन के शहर हांगझाओ में 10 सितंबर से 25 सितंबर तक एशियाड का आयोजन होना था।

चीन के हांगजाओ में सितंबर 2022 में होने वाले एशियन गेम्स फिलहाल तय तारीख पर नहीं होंगे। खबरों के मुताबिक एशियन ओलंपिक काउंसिल ने ऐलान किया है कि 10 सितंबर से 25 सितंबर तक एशियाई देशों के बीच होने वाले खेलों के इस बड़े आयोजन को पोस्टपोन किया गया है। माना जा रहा है कि चीन में कोविड के संक्रमण में एक बार फिर बढ़ोत्तरी को देखते हुए ये फैसला लिया गया है। फिलहाल नई तारीखों के संबंध में कोई घोषणा नहीं हुई है। लेकिन माना जा रहा है कि इस साल अब इन खेलों का आयोजन होना संभव नहीं है।

The Olympic Council of #Asia said on Friday that the 19th Asian Games scheduled to be held in #China's #Hangzhou from September 10 to 25, 2022, will be postponed. @AsianGamesOCA https://t.co/FwnqV8MUj6

खास बात ये है कि एक दिन पहले ही चीन के सिचुआन प्रांत में जून में आयोजित होने वाले वर्ल्ड यूनिवर्सिटी गेम्स के पोस्टपोन होने की खबर आई थी, और अब एशियाड की तारीख आगे होने की खबरें मीडिया में हैं। इसके साथ ही 9 अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक आयोजित होने वाले पैरा एशियन गेम्स को भी पोस्टपोन ही माना जा रहा है।

चीन में कोविड के कारण लगातार मामले बढ़ रहे हैं और प्रशासन की मुश्किलें बढ़ रही हैं।
चीन में कोविड के कारण लगातार मामले बढ़ रहे हैं और प्रशासन की मुश्किलें बढ़ रही हैं।

इसी साल फरवरी में चीन ने विंटर ओलंपिक का आयोजन किया था। लेकिन मार्च में चीन के शंघाई में कोविड ओमिक्रोन वेरिएंट की वजह से जब मामले बढ़ने लगे तो तो तुरंत शहर में लॉकडाउन लगा दिया गया। अब देश के कई इलाकों से कोविड के मामले बढ़ने की खबर आ रही है और माना जा रहा है कि इस वजह से ही एशियाड खेलों की तारीख आगे बढ़ाई जा रही है।

चीन इससे पहले दो बार साल 1990 और 2015 में एशियन गेम्स का आयोजन कर चुका है।
चीन इससे पहले दो बार साल 1990 और 2015 में एशियन गेम्स का आयोजन कर चुका है।

एशियन गेम्स का आयोजन हर 4 साल में किया जाता है। इस बार 19वें एशियाई खेलों का आयोजन होना था। चीन में इससे पहले बीजिंग में साल 1990 में और गुआंगझाओ में साल 2010 में एशियन गेम्स का आयोजन हुआ था। ऐसे में ये तीसरा मौका होता जब चीन के किसी शहर में इन भव्य खेलों को आयोजित किया जाता। हांगझाओ को साल 2015 में बतौर मेजबान शहर चुना गया था। इस बार बेसबॉल, सॉफ्टबॉल, स्पोर्ट्स क्लाइंबिंग जैसे खेल भी शामिल किए जाने वाले थे। इनके अलावा पहली बार ESports और ब्रेकडांसिंग जैसे ईवेंट भी एशियाई खेलों में स्पर्धा के रूप में रखे गए थे।

साल 1951 में पहली बार भारत ने इन खेलों का आयोजन किया था और नई दिल्ली इन खेलों का पहला आयोजक शहर बना था। साल 2018 में पिछला बार एशियन गेम्स आयोजित हुए थे जिसमें खेलों के सुपरपावर चीन ने 290 पदकों के साथ पदक तालिका टॉप की थी जबकि भारत 16 गोल्ड सहित 70 मेडल के साथ आठवें नंबर पर था। फिलहाल खिलाड़ियों और खेल प्रेमियों को नई तारीखों का इंतजार है।

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment