Asian Games : भव्य समारोह के जरिए हुई 19वें एशियाड की शुरुआत, 650 एथलीटों के दल के साथ उतरा भारत

चीनी कलाकारों के बीच भारतीय ध्वज को थामे चलते हरमनप्रीत सिंह और लोवलीना।
चीनी कलाकारों के बीच भारतीय ध्वज को थामे चलते हरमनप्रीत सिंह और लोवलीना।

चीन के हांगझाओ शहर में रंगारंग कार्यक्रम के साथ ही 19वें एशियन गेम्स की शुरुआत हो गई। बेहद भव्य समारोह में चीन की पारंपरिक झलक के साथ ही नई तकनीक के कार्यक्रम की प्रस्तुति भी दी गई। काफी अटकलों के बाद करीब 650 एथलीटों से भरा भारतीय दल भी ओपनिंग सेरेमनी में शामिल हुआ।

परंपरा और आधुनिकता का मिलन

हांगझाओ के ओलंपिक स्पोर्ट्स सेंटर स्टेडियम में हजारों की तादाद में दर्शक एशियन गेम्स की ओपनिंग सेरेमनी देखने पहुंचे थे। सबसे पहले चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग समेत कई गणमान्य व्यक्ति स्टेडियम में पहुंचे और कार्यक्रम की आधिकारिक शुरुआत हुई। इसके बाद चीनी सेना के सैनिकों ने चीनी राष्ट्रीय ध्वज का आरोहण किया। इस दौरान काफी सुंदर डिजिटल प्रेजेंटेशन चलता रहा।

इसके बाद पारंपरिक चीनी ओपेरा की आधुनिक धुन के बीच इन खेलों के तीनों मैस्कॉट सभी के सामने आए और कलाकारों ने नृत्य की प्रस्तुति दी। इस प्रस्तुति के बीच ही सभी देशों के एथलीट एक-एक कर अपने राष्ट्र ध्वज के साथ बाहर आए।

दो दलों के साथ उतरा अफगानिस्तान

अफगानिस्तान की ओर से दो दल समारोह में शामिल हुए। एक दल तालिबान शासित अफगानिस्तान की ओर से आया जिसमें कोई महिला एथलीट शामिल नहीं थी। वहीं दुनियाभर में रहने वाले अफगानी मूल के एथलीटों का दल अलग से भी आया जिसमें 17 महिला एथलीट शामिल थीं। इसके बाद बांग्लादेश, उत्तर कोरिया समेत कई देशों के दल आए।

भारतीय दल के आने पर जोरदार शोर के साथ खिलाड़ियों का स्वागत किया गया। भारत के पुरुष खिलाड़ियों ने जहां कुर्ता, वेस्टकोट और पैंट पहनीं थीं, तो वहीं महिला एथलीट साड़ी में नजर आईं। भारत की ओर से इस बार 600 से अधिक एथलीट इस बार इन खेलों का भाग बन रहे हैं। भारत उन गिने-चुने देशों में शामिल है जिसने एशियाड के हर संस्करण में भाग लिया है। सभी देशों के आने के बाद अंत में मेजबान चीन का बड़ा दल सामने आया और तालियों की गड़गड़ाहट से स्टेडियम गूंज उठा।

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने इन खेलों की आधिकारिक शुरुआत की घोषणा की और बेहद शानदार आतिशबाजी से आसमान जगमगा गया। इसके बाद ओलंपिक काउंसिल ऑफ एशिया के झण्डे को फहराया गया। इसके बाद एथलीटों ने खेलों के लिए शपथ ली। फिर दर्शकों ने पौराणिक चीन और आधुनिक चीन के मिलन की अद्भुत प्रस्तुति देखी।

कलाकारों का तालमेल और डिजिटल रूप में फर्श पर दिखाई गई चीनी तस्वीरें मनमोहक रहीं। प्रस्तुति के बाद सैकड़ों चीनी कैण्डल को हवा में उड़ाया गया। चीन ने महिला जिमनास्ट कलाकारों के साथ भी सुंदर प्रस्तुति दी। अंत में बेहद सुंदर अंदाज में खेलों की मशाल जलाई गई और खेलों के आधिकारिक गीत की प्रस्तुति के साथ कार्यक्रम समाप्त हुआ। यह खेल 8 अक्टूबर तक आयोजित होंगे जहां 45 देशों के 12 हजार से अधिक एथलीट भाग लेंगे।