हरियाणा सरकार ने खिलाड़ियों को कमाई का एक तिहाई हिस्सा राज्य खेल परिषद में जमा करने का फरमान सुनाया

हरियाणा सरकार ने एक अजीब निर्णय लेते हुए प्रोफेशनल खिलाड़ियों को आय का एक तिहाई हिस्सा राज्य खेल समिति को जमा कराने के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है। यह ड्राफ्ट 18 अप्रैल 2018 का बनाया हुआ है। इसके अनुसार खेलकर कमाई गई राशि का 33 फीसदी राज्य स्पोर्ट्स कमेटी को देने से उस धन का उपयोग राज्य में खेलों को प्रोत्साहित करने के लिए किया जा सके। इसके बाद जमकर खिलाड़ियों ने इस फैसले का विरोध किया तब सरकार ने एक तिहाई कमाई राज्य खेल परिषद को देने के फैसले पर रोक लगा दी है। इस नोटिफिकेशन के सामने आने के बाद खिलाड़ियों ने सरकार पर तीखे प्रहार करने शुरू किये। सबसे पहले महिला पहलवान बबीता फोगाट सामने औए और कहा कि मैं पूछना चाहती हूँ कि क्या सरकार जानती है हम कितनी मेहनत करते हैं। सरकार एक तिहाई हिस्सा देने को कैसे कह सकती है क्योंकि वह हमारी मेहनत की कमाई है। मैं इस फैसले के पक्ष में नहीं हूँ। पहलवान बजरंग पुनिया और योगेश्वर दत्त ने भी इस फैसले का विरोध किया। पुनिया ने कहा कि पदक विजेताओं का सम्मान सरकार को करना चाहिए, यह फैसला बिलकुल गलत है। योगेश्वर दत्त ने कहा कि ऐसे फैसले पतन की तरफ ले जाते हैं और खिलाड़ी यहाँ से पलायन करेंगे।