हिमा दास ने रचा इतिहास, वर्ल्ड जूनियर एथलेटिक्स में गोल्ड मेडल जीतने वाले पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनीं

असम की 18 वर्षीय एथलीट हिमा दास ने इतिहास रच दिया है। उन्होंने फिनलैंड के टैम्पेयर शहर में आयोजित आईएएएफ विश्व अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप की 400 मीटर दौड़ स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीता है। ये कारनामा करने वाली वो पहली महिला भारतीय एथलीट हैं। हिमा ने यह दौड़ 51.46 सेकेंड में पूरी की। रोमानिया की एंड्रिया मिकलोस को सिल्वर और अमरीका की टेलर मैंसन को ब्रॉन्ज मेडल मिला। दौड़ के 35वें सेकेंड तक हिमा शीर्ष तीन खिलाड़ियों में भी नहीं थीं, लेकिन बाद में उन्होंने रफ्तार पकड़ी और इतिहास बना लिया। स्पर्धा के बाद जब हिना ने गोल्ड मेडल लिया और देश का राष्ट्रगान बजा तो उनकी आंखों से आंसू छलक पड़े। यह पहली बार है जब भारत को आईएएएफ की ट्रैक स्पर्धा में गोल्ड मेडल हासिल हुआ है। उनसे पहले भारत की कोई महिला खिलाड़ी जूनियर या सीनियर किसी भी स्तर पर विश्व चैम्पियनशिप में गोल्ड नहीं जीत सकी थी।

हिमा दास की इस उपलब्धि पर उन्हें चारों तरफ से बधाईंया मिल रही हैं। खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने ट्वीट कर हिमा दास को बधाई दी और कहा कि आपने देश का नाम रोशन किया है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने भी हिमा दास को ट्वीट कर बधाई दी और कहा कि देश को आप पर गर्व है। आपके इस प्रदर्शन से युवाओं को काफी प्रेरणा मिलेगी:

App download animated image Get the free App now