Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

ओलम्पिक क्वालीफायर्स के लिए विदेश जाकर भी तैयारी करूंगी: दुती चंद

Naveen Sharma
FEATURED WRITER
विशेष
16 Oct 2019, 02:14 IST

 दुती चंद
दुती चंद

हाल ही में ओपन नेशनल चैम्पियनशिप में अपना ही रिकॉर्ड तोड़ स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाने वाली भारतीय धाविका दुती चंद की नजरें टोक्यो ओलम्पिक 2020 क्वालीफायर्स पर हैं। उन्होंने एक ही दिन में दो रिकॉर्ड तोड़ते हुए बेहतरीन प्रदर्शन किया। प्यूमा इंडिया के प्रॉपर लैडी (Propah Lady) कैम्पेन में दिल्ली आई दुती चदं ने स्पोर्ट्सकीड़ा से विशेshबातचीत करते हुए अपनी तैयारियों और योजनाओं के बारे में बताया।

प्रश्न: सबसे पहले आपको बहुत बधाई क्योंकि आपने एक ही दिन में नेशनल रिकॉर्ड दो बार तोड़ा, ओलम्पिक क्वालीफायर्स के बारे में क्या कहेंगी, कैसी तैयारी चल रही है?

तैयारी फिलहाल अच्छी चल रही है, मेरे कोच और फिजियो के नेतृत्व में भुवनेश्वर में ट्रेनिंग कर रही हूं। इसके लिए पूरी धनराशि मुझे राज्य सरकार की तरफ से मिल रही है। सौ मीटर रेस की तैयारी अच्छी चल रही है। इसका समय 11.22 कर लिया है और 7 माइक्रो सेकंड नीचे लाना है।

प्रश्न: सौ मीटर रेस में 7 माइक्रो सेकंड का समय काफी अंतर पैदा करता है और आपके पास ओलम्पिक क्वालिफाई करने के लिए 29 जून तक का समय है, आप कितना आश्वस्त हो?

अभ्यास में 10.8 का समय भी मैंने निकाला है लेकिन प्रतियोगिता में बॉडी नर्वस हो जाती है, कुछ फर्क वातावरण और वहां के खान-पान से भी होता है जिससे दस से पंद्रह माइक्रो सेकंड का समय बढ़ जाता है। इस पर काम किया जा रहा है और ट्रेनिंग काफी अच्छी चल रही है। दिसम्बर तक मेहनत करुँगी और फिर विदेश जाकर भी ट्रेनिंग करूंगी।

प्रश्न: आपने कहा माइक्रो सेकण्ड कम करने के लिए विदेश में भी जाएंगी, कहां जाकर प्रशिक्षण लेने की योजना है?

फ़िलहाल इसके बारे में निर्णय नहीं हुआ है लेकिन हां, मेरे कोच साहब जो भी तय करेंगे वहां जाकर ट्रेनिंग करूंगी।

प्रश्न: पटियाला नेशनल कैम्प में जा रही हैं आप?

नहीं, वहां विदेशी कोच आते हैं लेकिन उनका काम सबको ट्रेनिंग देना होता है, वहां व्यक्तिगत रूप से कोई ट्रेनिगं नहीं होती इसलिए वहां जाने का नहीं सोचा है।

Advertisement

प्रश्न: दोहा एशियन चैम्पियनशिप में आपका 200 मीटर में गोल्ड आया था, क्या आप ओलम्पिक में भी इस वर्ग में हिस्सा लेने का सोच रही हैं?

मेरा व्यक्गित रूप से फोकस सौ मीटर रेस पर है, इसमें अगर अच्छा किया तो 200 मीटर में भी हो जाएगा। दोनों तरफ ध्यान देने से ट्रेनिंग पर फर्क पड़ता है।

प्रश्न: पिछले साल आपने रैंकिंग में सुधार के लिए डायमंड लीग में भाग लिया था, इस बार भी ऐसी कोई योजना होगी?

इसका आयोजन यूरोप में होता है और यह पूरी तरह से फेडरेशन पर निर्भर करता है कि वे किसे भेजें, जिसे फेडरेशन भेजता है, वही जाता है।

बातचीत करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद दुती, शुभकामनाएं।

धन्यवाद।

Advertisement
Advertisement
Fetching more content...