अपने भारतीय ओलंपियन को जानें: अचंता शरत कमल (टेबल टेनिस)

भारत के अचंता शरत कमल टेबल टेनिस के दिग्गज खिलाड़ी है और भारत की ओर से रियो ओलंपिक्स में हिस्सा ले रहे हैं। ये रही उनके करियर से जुडी 10 बातें:

  1. अचंता का जन्म 12 जुलाई 1982 को हुआ। वे घर पर तेलगु भाषा का इअस्तेमाल करते हैं।
  2. उन्होंने अपने स्कूल की पढाई PSBB स्कूल से की और ग्रेजुएशन चेन्नई के लोयला कॉलेज से की।
  3. अचंता शरत कमल, भारत की ओर से खेलने वाले सबसे अच्छे खिलाडी है। मई 2015 में उनकी रैंकिंग 32 थी लेकिन 2016 में यही रैंकिंग 69 वे स्थान पर था।
  4. साल 2004 में उन्हें अर्जुन पुरस्कार मिला और वें इंडियन आयल कारपोरेशन में अफसर की पोजीशन पर काम कर रही है।
  5. यूरोपियन लीग जैसे स्वीडन और स्विस के लिए भी खेल चुके हैं। वें अभी जर्मनी के डसेलडोर्फ में रहते हैं और बुंदेसलीगा में बोरुसिया डसेलडोर्फ क्लब की ओर स्व खेलते हैं।
  6. उन्होंने 2010 में मिशिगन में आयोजित US टेबल टेनिस चैंपियनशिप जीती। उसी साल उन्होंने मिस्र ओपन भी जीता। ITTF प्रो टूर पर सिंगल ख़िताब जीतनेवाले वें पहले भारतीय बने। उन्होंने पुरुषों के टीम की भी अगुवाई की, जिसने नौ बार की चैंपियन इंग्लैंड को हराया।
  7. 2006 के मेलबॉर्न, कामनवेल्थ खेल में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के विलियम हेंज़ेल को उनके घरेलू दर्शकों के सामने फाइनल में मात देकर स्वर्ण पदक जीता।
  8. सुभाजीत साहा के साथ मिलकर 2010 में दिल्ली के कामनवेल्थ खेल के टीम इवेंट में उन्होंने स्वर्ण जीता।
  9. 2004 के एथेंस समर ओलंपिक्स और 2006 के क़तर एशियाई खेलों में वें भारत की ओर से खेलने गये।
  10. बीजिंग ओलंपिक्स में भारत की ओर से टेबल टेनिस खेलनेवाले वें एकमात्र खिलाडी थे।
लेखक: तेजस, अनुवादक: सूर्यकांत त्रिपाठी
App download animated image Get the free App now