Create
Notifications

अपने भारतीय ओलंपियन के बारे में 10 बात जानें: इंदरजीत सिंह (शॉट पुटर)

सोहैल आब्दी

पिछले कुछ सालों में शॉट पुटर इंदरजीत सिंह भारत के सबसे तेज़ उभरते हुए एथलीट रहे हैं। साल 2015 में उन्होंने अपनी प्रतिभा का बेहतरीन प्रदर्शन किया और दो महीनों के अंदर लगातार पांच अंतर्राष्ट्रीय स्वर्ण पदक हासिल कर लिए। जिसने उन्हे एशिया का नंबर-1 एथलीट बना दिया। 6 फीट 5 इंच के इस 150 केजी वज़न वाले एथलीट को क्वाड्रेनियल गेम्स के लिए भारत का सबसे मजबूत दावेदार माना जा रहा है। यहां दस ऐसी बातें हैं जो आपको इंदरजीत सिंह के बारे में जानना चाहिए: #1 इंदरजीत सिंह ने 19 अप्रैल 1988 में शहीद भगत सिंह नगर, पंजाब में जन्म लिया। उसके बाद उनका परिवार मध्य प्रदेश के सिंगरौली में जाकर बस गया। उनके पिता गुरदयाल सिंह नॉर्थन कोलफील्ड लिमिटेड में कार्यरत थे। #2 अपने स्कूल के दिनों से ही उनके पिता ने उन्हें एथलीट बनाने की ठान ली थी। कुछ ही दिनों बाद उन्हें मध्य प्रदेश के मुख्य मंत्री शिवराज चौहान द्वारा एकलव्य खेल पुरुस्कार से सम्मानित किया गया। #3 साल 2013 में पहली बार 27वें समर यूनिवरसिटी, कजान में इंदरजीत सिंह को लोगों ने पहचानना शुरू किया। इंदरजीत सिंह ने रूस के एक इवेंट में भारत को पहला पदक दिलाया जिसमें उन्होंने 19.70मी का रिकॉर्ड बनाया। #4 साल 2014 के एशियन गेम्स में भी उन्होंने 19.63 मी के बेहतरीन प्रदर्शन से कांस्य पदक हासिल किया। उसी साल उन्होंने पटियाला के फेडेरेशन में 19.89 मीटर का बेहतरीन रिकॉर्ड बनाया। #5 उसके ठीक एक बाद साल फरवरी 2015 में इंडियन नेश्नल गेम्स के दौरान शॉट पुट में 20मीटर की दूरी तय कर अपना स्तर और भी सुधार लिया। उसके ठीक बाद उन्होंने लंबे चले 19.38मी के रिकॉर्ड को तोड़ते हुए अपना 20.14मी का नया रिकॉर्ड बना दिया। #6 इंदरजीत ने 2015 के 19वें फेडेरेशन कप के दौरान रियो ओलंपिक में खेलते हुए गेंद को 20.65मी की दूरी तक फेक कर अपना सर्वश्रेष्ठ रिकॉर्ड बना लिया। वो ओम प्रकाश के नेश्नल रिकॉर्ड से मात्र .04मी दूर रह गए। #7 इंदरजीत ने साल 2015 में लगातार पांच स्वर्ण पदक जीता। जिसकी शुरुआत एशियन चैम्पियनशिप युहान से हुई। 3 जून 2015 को उन्होंने 20.41मी दूरी पर गेंद फेक कर स्वर्ण पदक जीत कर एक नया रिकॉर्ड अपने नाम किया। #8 वो उन दो भारतियों में शामिल हैं जिन्होंने इस इवेंट के तीनों लेग में स्वर्ण पदक हासिल करने में कामयाब हुए हैं। उनकी इसी निरंतरता ने उन्हें एशिया का एशिया का सबसे बेहतरीन शॉट पुटर बना दिया है। #9 इंदरजीत इसी तरह बेहतरीन प्रदर्शन करते रहे और फिर जुलाई में साउथ कोरिया में हुए वर्ल्ड यूनिवरसिटि गेम्स में स्वर्ण पदक हासिल किया, जो भारत की उस इवेंट में पहली गोल्ड मेडल थी। #10 पिछले साल अगस्त में हुई अपनी पहली वर्ल्ड चैम्पियनशिप में इंदरजीत ने बॉल को 20.47मी की दूरी तक फेक कर आखिरी आठ में अपनी जगह बना ली। जिसने उन्हें ऐसा करने वाला पहला भारतीय बना दिया। उस इवेंट में इंदरजीत 19.52मी की दूरी के साथ 11वें स्थान पर रहें।


Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...