अपने भारतीय ओलंपियन को जानिए : मनिका बत्रा के बारे में 10 बातें

मनिका बत्रा 2016 रिओ ओलंपिक्स में टेबल टेनिस में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी। रैंकिंग में शीर्ष भारतीय होने के साथ विश्व रैंकिंग में 115वें स्थान पर काबिज मनिका ने 2016 अप्रैल में दक्षिण एशियाई समूह का क्वालिफिकेशन टूर्नामेंट जीतकर महिला सिंगल्स के लिए क्वालीफाई किया था। आईए इस शानदार पेडलर के बारे में 10 रोचक बातें जानते हैं, जिन्हें भारतीय टेबल टेनिस के उज्जवल भविष्य के रूप में देखा जा रहा है : 1) मनिका बत्रा का जन्म 15 जून 1995 को नई दिल्ली में हुआ। 2) 19 वर्षीया मनिका ने 5 साल की उम्र से ही टेबल टेनिस खेलना शुरू कर दिया था। उन्हें टेबल टेनिस खेलने की प्रेरणा अपनी बड़ी बहन अंचल से मिली जोकि खुद भी खिलाड़ी हैं। 3) 16 वर्ष की उम्र में मनिका को स्वीडन में पीटर कार्लसन एकेडमी से स्कॉलरशिप का ऑफर मिला था, जिसे उन्होंने ठुकरा दिया। 4) युवा खिलाड़ी ने एक वर्ष जीसस एंड मैरी कॉलेज में पढ़ाई की, लेकिन टेबल टेनिस पर ध्यान देने के इरादे से कॉलेज छोड़ दिया। 5) मनिका ने 2014 में ग्लासगो में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत का टेबल टेनिस में प्रतिनिधित्व किया था, जिसमें वह क्वार्टरफाइनलिस्ट रही थी। 6) दिसंबर 2015 में हुए कॉमनवेल्थ टेबल टेनिस चैंपियनशिप्स में पेडलर ने टीम इवेंट में दो रजत पदक जबकि सिंगल्स वर्ग में कांस्य पदक जीता था। 7) मार्च 2016 में वर्ल्ड टेबल टेनिस टीम चैंपियनशिप्स के दूसरे भाग में मनिका ने स्वर्ण पदक जीता। 8) सचिन तेंदुलकर उनके आदर्श हैं और वह साइना का भी बहुत सम्मान करती हैं। 9) 2011 में चिली ओपन की अंडर-21 वर्ग में मनिका ने रजत पदक जीता। 10) 5 फीट 10 इंच लंबी पेडलर ने गुवाहाटी और शिलोंग में इस वर्ष हुए 12वें दक्षिण एशियाई खेलों में तीन स्वर्ण और एक रजत पदक जीता।

App download animated image Get the free App now