Asian Games 2023: पहले दिन रोइंग में भारत का जलवा, 2 सिल्वर समेत जीते 3 मेडल

रोइंग लाइटवेट डबल्स स्कल्स का सिल्वर मेडल जीतने के बाद अपने कोच के साथ अर्जुन और अरविंद।
रोइंग लाइटवेट डबल्स स्कल्स का सिल्वर मेडल जीतने के बाद अपने कोच के साथ अर्जुन और अरविंद।

चीन के हांगझाओ में खेले जा रहे 19वें एशियन गेम्स में मेडल ईवेंट्स के पहले दिन भारत के लिए रोइंग में पदकों की झड़ी लग गई। इस खेल में भारत को दो सिल्वर और एक ब्रॉन्ज सहित कुल 3 पदक हासिल हुए।

रविवार को सबसे पहले पुरुषों की लाइटवेट डबल्स स्कल्स स्पर्धा में अर्जुन लाल और अरविंद सिंह की जोड़ी ने भारत को सिल्वर मेडल दिलाया था। अर्जुन अवॉर्ड विजेता अर्जुन लाल और अरविंद की जोड़ी ने 6 मिनट 28 सेकेंड में रेस पूरी की जबकि गोल्ड पाने वाली चीनी जोड़ी ने 6 मिनट 23 सेकेंड का समय लगाया। उजबेकिस्तान को स्पर्धा में तीसरा स्थान मिला।

कोक्स्ड 8 की शुरुआती रेस में भी भारतीय टीम चीन के बाद दूसरे स्थान पर रही थी। नीरज मान, नरेश कलवानिया, नीतिश कुमार, चरणजीत सिंह, जसविंदर सिंह, भीम सिंह, पुनित कुमार, आशीष गोलियां और धनंजय उत्तम की टीम ने फाइनल में भी दूसरा स्थान प्राप्त कर रजत पदक जीता। स्पर्धा का गोल्ड चीन के नाम रहा जबकि इंडोनिशिया की टीम ने कांस्य जीता।

पुरुष कॉक्सलेस पेयर में भारत के बाबूलाल यादव और लेख राम ने 6 मिनट और 42 सेकंड के समय के साथ तीसरा स्थान हासिल किया। इस इवेंट में उज़्बेकिस्तान ने स्वर्ण और हांगकांग ने रजत पदक जीता।

इन भारतीयों के हाथ लगी निराशा

रोइंग की कुछ अन्य स्पर्धाओं के फाइनल भी रविवार को खेले गए जिनमें भारतीय खिलाड़ी पदक से चूक गए। पुरुषों के डबल्स स्कल्स फाइनल में भारत के सतनाम सिंह और परमिंदर सिंह की जोड़ी छठे स्थान पर रही और पदक जीतने में नाकामयाब रही। वहीं महिलाओं के 4 फाइनल में भारतीय खिलाड़ियों की टीम पांचवें नंबर पर रही। इस टीम में अश्वती बाबू, मृणमयी सालगाओकर, प्रिया देवी और रुकमणी शामिल थे।

और पदकों की उम्मीद

अब 25 सितंबर के दिन रोइंग के कुछ अन्य फाइनल ईवेंट खेले जाएंगे जहां से भारत पदकों की उम्मीद कर सकता है। पुरुषों के सिंगल्स स्कल्स फाइनल में भारत के बलराज पंवार उतरेंगे। वहीं पुरुषों की फोर फाइनल स्पर्धा में भी भारतीय टीम खेलेगी। इसके अलावा दो अन्य ईवेंट्स में भी भारतीय खिलाड़ी फाइनल मुकाबला खेलेंगे।

Edited by निशांत द्रविड़