Create
Notifications

Paralympics - वो एथलीट जिन्होंने सबसे ज्यादा स्वर्ण पदक जीता

Paralympics 2021 - वो एथलीट जिन्होंने सबसे ज्यादा स्वर्ण पदक जीता
Paralympics 2021 - वो एथलीट जिन्होंने सबसे ज्यादा स्वर्ण पदक जीता
ANALYST

पूरे विश्व में इन दिनों टोक्यो पैरालंपिक खेलों की चर्चा जोरो पर है। इसी क्रम में एक नजर डालते हैं, उन खिलाड़ियों पर जिन्होने पैरालंपिक में सबसे ज्यादा पदक जीता।

1) ट्रीस्चा जोर्न

अमेरिकी तैराक ट्रीस्चा जोर्न का नाम इस सूची में पहले आता है। जोर्न के नाम पैरालंपिक खेलों में 51 स्वर्ण पदक हैं। जन्म से ही आंखो से ना देखने वाली इस खिलाड़ी ने वो सब कर दिया, जिसकी कल्पना किसी ने नहीं की होगी। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि उन्होने ये कारनामा 1980 से 2004 के बीस किया है। वहीं ट्रिस्चा ने 1992 बार्सिलोना पैरालंपिक में 10 स्वर्ण पदक अपने नाम किया था।

2) बीट्रीस हेस

फ्रेंच तैराक बीट्रीस हेस के नाम पैरालंपिक खेलों में 20 स्वर्ण पदक है। इसके साथ ही हेस के नाम 5 रजत पदक भी है। वहीं सिडनी ओलंपिक में इस महिला पैराएथलीट के नाम 9 स्वर्ण पदक है। बीएट्रेस के बारे में बात करें तो वो सेरेब्रेल पेल्सी नाम के रोग से ग्रसित हैं। बावजूद इसके उन्होने जो कारनामा किया वो काबिल-ए-तारीफ है।

3) माइकल एडग्सन

कनाडा के माइकल एडग्सन इस सूची में तीसरे पायदान पर आते हैं। नेत्रहीन एडग्सन के नाम पैरालंपिक में 18 स्वर्ण पदक हैं। जो विश्व में किसी भी पैरालंपिक एथलीट से ज्यादा है। 1984 से 1992 तक उन्होने लगातार पदक अपने नाम किए हैं।वहीं 1988 सिउल ओलंपिक में उनके नाम स्वर्ण पदक है।

4) जोनस जैकबसन

स्विडीश शूटर जोनस जैकबसन का भी एक लंबा करियर रहा है। जैकबसन एस एस-1 कैटेगरी में हिस्सा लेने वाले पैरा शूटर हैं। स्विडीश खिलाड़ी के नाम 17 ओलंपिक पदक है। जैकबसन के लिए 2004 रियो ओलंपिक सबसे यादगार रहा है। जहां पर वो 4 पदक जीतने में सफल हो पाए थे।

5) रोबर्टो मार्सन

रोबर्टो मार्सन के पैर में पेड़ गिरने से उनका पैर ने काम करना बंद कर दिया था। हालांकि मार्सन ने इस परिस्थिति को अपने उपर हावी नहीं होने दिया और उस पर विजय पाकर वो लगातार आगे बढ़ते चले गए। इटली के इस पैरा फेंसर के नाम 1964,1968 और 1972 पैरालंपिक में 5 स्वर्ण पदक है। मार्सन ने ये सारे पदक एथलेटिक्स, तैराकी और तलवारबाजी में जीते हैं। अपने करियर में 16 से 10 स्वर्ण पदक इस खिलाड़ी ने 1968 पैरालंपिक में जीते हैं। 2011 में रोबोर्टो मोर्सन की मौत उस दौरान हो गई जब अंतरराष्ट्रीय पैरालंपिन हॅाल आफ फेम में इनका नाम दिया गया।

विश्व भर में ये ऐसे पैरालंपिक एथलीट हैं, जिन्होने अपने उपलब्धियों से पूरे देश में अपना डंका बजवाया।

Edited by निशांत द्रविड़
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now