रियो ओलम्पिक को नजरअंदाज करें गर्भवती महिलाएं : डब्ल्यूएचओ

IANS

उल्लेखनीेय है कि ब्राजील में जीका वायरस का खतरा फैला हुआ है और इसी कारण उन्हें यह सुझाव दिया गया है। समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, एक संयुक्त विज्ञप्ति में दोनों संगठनों ने गुरुवार को कहा कि एथलीट और कर्मचारी इन खेलों पर काम कर रहे हैं और जीका से होने वाले खतरे के संदर्भ में अधिक जानकारी की जरूरत है। जीका वायरस को माइक्रोसेफेली से भी जोड़ा जा रहा है, जो नवजात शिशुओं में होने वाली एक प्रकार की बीमारी है। डब्ल्यूएचओ और पीएएचओ ने कहा कि ब्राजील में शीत ऋतु के दौरान इन खेलों का आयोजन किया जा रहा है, क्योंकि इस दौरान मच्छरों के पनपने की संभावना न के बराबर होती है। डब्ल्यूएचओ/पीएएचओ सलाहकारों का लक्ष्य एडीज मच्छरों पर भी ध्यान केंद्रित करना है। इन मच्छरों के कारण ही चिकनगुनिया, डेंगू, पीला बुखार और जीका के फैलने की संभावना अधिक होती है। ओलम्पिक खेलों का आयोजन पांच अगस्त से और पैरालम्पिक खेलों का आयोजन 18 सितम्बर से होगा। --आईएएनएस

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment