Create
Notifications

12 खिलाड़ी जिन्हें मेजर ध्यानचंद खेल रत्न अवॉर्ड से सम्मानित किया गया 

राष्ट्रपति के हाथों खेल रत्न प्राप्त करते टोक्यो ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा।
राष्ट्रपति के हाथों खेल रत्न प्राप्त करते टोक्यो ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा।
ANALYST

देश के सर्वोच्च खेल सम्मानों का वितरण राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद द्वारा किया गया। राष्ट्रपति भवन में हुए समारोह में देश का सबसे बड़ा खेल पुरस्कार ध्यानचंद खेल रत्न कुल 12 खिलाड़ियों को दिया गया। इतिहास में पहली बार एक साथ इतने अधिक खिलाड़ियों को ये पुरस्कार दिया गया है। टोक्यो ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा, सिल्वर मेडलिस्ट रवि दाहिया समेत कांस्य जीतने वाली भारतीय पुरुष हॉकी टीम, पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाले एथलीट, सभी को अलग-अलग कैटेगरी में पुरस्कृत किया गया।

सामान्य रूप से राष्ट्रीय खेल पुरस्कार 29 अगस्त को दिए जाते हैं क्योंकि इस दिन हॉकी के जादूगर कहे जाने वाले मेजर ध्यानचंद की स्मृति में राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है। पहले राजीव गांधी खेल रत्न के नाम से कहलाए जाने वाले इस सर्वोच्च खेल सम्मान का नाम इसी साल सरकार ने बदलकर ध्यानचंद खेल रत्न रखा है। आपको मिलाते हैं इन खेल रत्न विजेताओं से -

1) नीरज चोपड़ा -

नीरज चोपड़ा ने पिछले 4 सालों में जैवलिन थ्रो की दुनिया में भारत का झंडा ऊंचा किया है। 23 साल के चोपड़ा ने जुलाई में हुए टोक्यो ओलंपिक में जैवलिन थ्रो का गोल्ड जीतकर इतिहास रचा था और ऐथलेटिक्स में भारत को गोल्ड दिलाने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बने। अंडर-20 विश्व चैंपियन नीरज देश को अब गोल्डन ब्वॉय कहा जाता है और टोक्यो में जीत के बाद उन्हें खेल रत्न दिया जाना सभी तय मान ही रहे थे।

2) रवि दाहिया -

पहलवान रवि दाहिया ने टोक्यो ओलंपिक में कुश्ती का सिल्वर मेडल जीता ।
पहलवान रवि दाहिया ने टोक्यो ओलंपिक में कुश्ती का सिल्वर मेडल जीता ।

23 साल के रवि दाहिया ने टोक्यो ओलंपिक में 57 किलोग्राम वर्ग में कुश्ती का सिल्वर मेडल अपने नाम किया था। रवि दाहिया सुशील कुमार के बाद कुश्ती में भारत को ओलंपिक सिल्वर मेडल दिलाने वाले दूसरे पहलवान हैं। हालांकि रवि दाहिया ने पुरस्कारों की घोषणा होने के बाद इच्छा जताई थी कि उन्हें खेल रत्न से पहले अर्जुन अवॉर्ड दिया जाए। लेकिन उन्हें सर्वोच्च सम्मान खेल रत्न ही दिया गया।

3) लोवलीना बोर्गोहिन -

बॉक्सर लोवोलीना को टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने के लिए खेल रत्न दिया गया।
बॉक्सर लोवोलीना को टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने के लिए खेल रत्न दिया गया।

साल 2019 में विश्व बॉक्सिंग चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली लोवलीना ने टोक्यो ओलंपिक में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए वेल्टरवेट कैटेगरी में कांस्य पदक जीता। इस प्रदर्शन के लिए उन्हें भी खेल रत्न दिया गया। लोवलीना ओलंपिक मेडल जीतने वाली मेरी कॉम के बाद भारत की दूसरी महिला बॉक्सर हैं।

4) पी आर श्रीजेश -

हॉकी टीम के गोलकीपर श्रीजेश को खेल रत्न दिया गया।
हॉकी टीम के गोलकीपर श्रीजेश को खेल रत्न दिया गया।

टोक्यो ओलंपिक में कांस्य पदक जीतकर 41 साल बाद हॉकी में ओलंपिक मेडल दिलाने वाली पुरुष हॉकी टीम की जीत के मु्ख्य नायक रहे गोलकीपर पी आर श्रीजेश जिन्होंने कांस्य पदक के मुकाबले में भी आखिरी चंद सेकेंड में पेनेल्टी कॉर्नर रोककर टीम का कांस्य पदक पक्का किया था। श्रीजेश को खेल रत्न दिया गया। श्रीजेश को 2015 में अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका है।

5) अवनि लेखड़ा -

अवनि लेखड़ा को खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित करते राष्ट्पति।
अवनि लेखड़ा को खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित करते राष्ट्पति।

20 साल की अवनि लेखड़ा ने टोक्यो पैरालंपिक खेलों में 10 मीटर एयर रायफल ईवेंट में गोल्ड मेडल के साथ ही 50 मीटर रायफल थ्री पोजिशन स्पर्धा में कांस्य जीतकर एक ही पैरालंपिक में 2 मेडल जीतने का गौरव हासिल किया।अवनि पैरालंपिक गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला हैं। अवनि को इस शानदार प्रदर्शन के लिए खेल रत्न से सम्मानित किया गया।

6) सुमित अंतिल -

सुमित अंतिल ने जैवलिन थ्रो में पैरालंपिक 2020 का गोल्ड जीता जिसके लिए खेल रत्न दिया गया।
सुमित अंतिल ने जैवलिन थ्रो में पैरालंपिक 2020 का गोल्ड जीता जिसके लिए खेल रत्न दिया गया।

22 साल के सुमित पैरा जेवलिन थ्रो खिलाड़ी हैं और 2020 टोक्यो पैरालंपिक खेलों में उन्होंने F64 कैटेगरी में गोल्ड मेडल जीता। पैरालंपिक फाइनल में 68.55 मीटर की दूरी पर जैवलिन फेंककर सुमित ने विश्व रिकॉर्ड भी बनाया। सुमित को खेल रत्न से सम्मानित किया गया।

7) प्रमोद भगत -

विश्व नंबर 1 पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी प्रमोद भगत खेल रत्न से सम्मानित किए गए।
विश्व नंबर 1 पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी प्रमोद भगत खेल रत्न से सम्मानित किए गए।

पैरा बैडमिंटन खिलाड़ी प्रमोद भगत को खेल रत्न दिया गया है। प्रमोद भगत SL3 कैटेगरी में विश्व के नंबर 1 बैडमिंटन खिलाड़ी हैं और टोक्यो पैरालंपिक खेलों में गोल्ड जीतने में कामयाब रहे। 2019 की विश्व पैरा बैडमिंटन चैंपियनशिप में भी प्रमोद ने 2 गोल्ड जीते थे।

8) मनीष नरवाल -

मनीष नरवाल को पैरा शूटिंग में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए खेल रत्न दिया गया।
मनीष नरवाल को पैरा शूटिंग में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए खेल रत्न दिया गया।

मनीष नरवाल पैरा पिस्टल शूटर हैं और पैरालंपिक खेल 2020 में 50 मीटर मिक्स्ड स्पर्धा में गोल्ड जीतने में कामयाब रहे। मनीष को पिछले ही साल अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था।

9) मिताली राज -

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी मिताली राज हैं।
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी मिताली राज हैं।

अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में भारतीय महिला खिलाड़ियों का पर्याय बन चुकीं कप्तान मिताली राज को खेल रत्न से सम्मानित किया गया। मिताली अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला खिलाड़ी हैं।

10) सुनील छेत्री -

भारत के लिए सर्वाधिक मैच खेलने वाले फुटबॉल कप्तान सुनील छेत्री को भी खेल रत्न दिया गया।
भारत के लिए सर्वाधिक मैच खेलने वाले फुटबॉल कप्तान सुनील छेत्री को भी खेल रत्न दिया गया।

पिछले 19 साल से भारतीय राष्ट्रीय फुटबॉल टीम का हिस्सा रहे सुनील छेत्री पहले फुटबॉल खिलाड़ी हैं जिन्हें खेल रत्न दिया गया है। छेत्री ने हाल ही में हुई सैफ चैंपियनशिप में अपने दम पर टीम को खिताब तक पहुंचाया। छेत्री अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल में सबसे ज्यादा गोल करने वाले खिलाड़ियों की वर्तमान सूची में अर्जेंटीन के मेसी के साथ दूसरे नंबर पर हैं।

11) मनप्रीत सिंह -

भारती को टोक्यो ओलंपिक में कांस्य दिलाने वाली हॉकीटीम के कप्तान मनप्रीत सिंह।
भारती को टोक्यो ओलंपिक में कांस्य दिलाने वाली हॉकीटीम के कप्तान मनप्रीत सिंह।

भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने टीम की शानदार अगुवाई करते हुए भारत को 41 साल बाद ओलंपिक में हॉकी के खेल में मेडल दिलाकर इतिहास रचा। मनप्रीत सिंह ने बतौर कप्तान टीम को पोडियम तक पहुंचाया और कांस्य पदक दिलाकर हॉकी को फिर से जिंदा कर दिया। इसी प्रदर्शन के लिए उन्हें खेल रत्न दिया गया है।

12) कृष्णा नागर -

टोक्यो पैरालंपिक में कृष्णा नागर ने बैडमिंटन का स्वर्ण पदक जीता। कृष्णा खेल रत्न स्वयं प्राप्त नहीं कर पाए क्योंकि पुरस्कार वितरण से ठीक पहले उनकी माता का निधन हो गया जिस कारण वह सेरेमनी का हिस्सा नहीं बन पाए।

राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में शामिल राष्ट्रीय खेल पुरस्कार विजेता।
राष्ट्रपति भवन में आयोजित समारोह में शामिल राष्ट्रीय खेल पुरस्कार विजेता।

खेल रत्न के इतिहास में पहली बार इतने खिलाड़ियों को एक साथ देश का सर्वोच्च खेल सम्मान दिया गया है।

अर्जुन अवॉर्ड प्राप्त करते शिखर धवन।
अर्जुन अवॉर्ड प्राप्त करते शिखर धवन।

इनके अलावा कुल 35 खिलाड़ियों को अर्जुन अवॉर्ड दिया गया जिनमें क्रिकेटर शिखर धवन और ओलंपिक में कांस्य जीतने वाली भारतीय टीम के सभी खिलाड़ी (मनप्रीत सिंह और श्रीजेश को छोड़कर) शामिल हैं।

ओलंपिक कांस्य पदक विजेता हॉकी टीम के स्टार खिलाड़ी रुपिंदर पाल सिंह अर्जुन अवॉर्ड के साथ ।
ओलंपिक कांस्य पदक विजेता हॉकी टीम के स्टार खिलाड़ी रुपिंदर पाल सिंह अर्जुन अवॉर्ड के साथ ।

पैरालंपिक खेल 2020 में सिल्वर जीतने वाले ऐथलीट योगेश कथुनिया, निषाद कुमार, प्रवीण कुमार को भी अर्जुन अवॉर्ड दिया गया। इन्हीं खेलों में पैरा बैडमिंटन में सिल्वर जीतने वाले सुहास यतिराज को भी अर्जुन अवॉर्ड दिया गया। सुहाय यतिराज भारतीय प्रशासनिक सेवा में हैं और अर्जुन अवॉर्ड जीतने वाले पहले आईएएस ऑफिसर हैं।


Edited by निशांत द्रविड़
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now