Rio Olympics 2016: 10 मीटर एयर राइफल के बारे में जानिए

रियो ओलंपिक्स 2016 में निशानेबाजों को लिए नेशनल शूटिंग सेंटर में पहला मुकाबला 10 मीटर एयर राइफल का होगा। महिलाओं का मुकाबला 6 अगस्त से शुरू होगा। वहीं भारतीय दर्शक पुरुषों के ईवेंट पर नज़र गड़ाएं बैठे होंगे क्योंकि दो भारतीय निशानेबाज़ गगन नारंग और अभिनव बिंद्रा इसमें हिस्सा ले रहे हैं। नारंग ने जहां लंदन ओलंपिक्स 2012 में कांस्य पदक जीता था, वहीं बिंद्रा ने इतिहास रचते हुए बीजिंग ओलंपिक्स 2008 में रजत पदक जीता था। भारतीय महिलाओं में से अपूर्वी चंदेला और अयोनिका पॉल 6 अगस्त को स्वर्ण पदक पर निशाना लगाएंगी। निशानेबाज़ी के इस ईवेंट प्रतियोगिता में बहुत ही प्रतिस्पर्धा है, क्योंकि कोई भी निशानेबाज़ अपना पहला स्थान बचाने में सफल नहीं हुआ है। हालांकि इस खेल में महिलाओं और पुरुषों के मुकाबले के बीच में थोड़ा अंतर है। यहां पर हम उस विषय पर चर्चा करेंगे। क्या होता है 10 मीटर एयर राइफल ईवेंट? जैसा की इसका नाम है, यहां पर निशानेबाज़ टारगेट से 10 मीटर की दूरी पर खड़े होते हैं। टारगेट 1.4 मीटर की ऊंचाई पर रखी जाती है। टारगेट पर 10 रिंग बने हुए होते हैं और आखरी रिंग के अंदर और 10 रिंग बने होते हैं। इसलिए एक खिलाडी अधिकतम 10.9 स्कोर कर सकता है। कई बार हम खिलाडियों को किसी खास कपड़े का इस्तेमाल करते हुए देखते हैं, उससे उनकी स्थिरता बढ़ती है। यहां पर 4.5mm कैलिबर की राइफल का इस्तेमाल होता है जिसका वज़न 5.5 किलो होता है। नियम: इस खेल के नियम बिल्कुल सरल है। क्वालिफिकेशन राउंड में खिलाडी को 75 मिनटों में 60 शॉट्स लेने होते हैं। इन 60 शॉट्स में कोई भी खिलाडी अधिकतम 654 अंक हासिल कर सकता है। महिलाओं को 50 मिनट में 40 शॉट्स लेने होते हैं। उन्हें भी एक शॉट पर अधिकतम 10.9 अंक मिलते हैं। फाइनल: क्वालिफिकेशन के बाद शिर्ष के 8 निशानेबाज़ फाइनल राउंड में जाते हैं। यहां पर नए नियम इस खेल को और मजेदार बना देते हैं। ISSF के नए नियम के अनुसार सभी आठों शूटर्स 0 से शुरू करते हैं। पहले उन्हें 150 सेकंड में 2 सेट के 3 शॉट लेने होते हैं और उसके बाद 14 शॉट लेने पड़ते हैं। ये 14 शॉट 50 सेकंड के अंतर में पूरे करने पड़ते हैं। हर आठवें शॉट के बाद सबसे कम स्कोर करने वाले निशानेबाज़ को बाहर किया जाता है। यानि 2 सेट के तीन शॉट और बाद में के दो के बाद आपके अंक सबसे कम हैं तो आपको बाहर जाना पड़ता है। अगर शिर्ष के दो शूटर्स के अंक सामान्य है तो उनके बीच शूट आउट किया जाता है। यहां पर वही 10.9 अंक वाला नियम लागू होता है और खिलाडी अधिकतम 218 अंक हासिल कर सकता है। 10 मीटर एयर राइफल शूटिंग में भारतीय खिलाडी: पुरुष: गगन नारंग, अभिनव बिंद्रा महिला: अपूर्व चंदेली, अयोनिका पॉल। लंदन ओलंपिक्स 2012 के विजेता: पुरुष स्वर्ण: एलिन जॉर्ज मोल्दोवीनु (रोमानिया) रजत: निकोलो कमप्रियानी (इटली) कांस्य: गगन नारंग (भारत) महिला स्वर्ण: सीलिंग यी (चीन) रजत: सिल्विया बोगाका (पोलैंड) कांस्य: दान यू (चीन) लेखक: सैयद आदिम करीम, अनुवादक: सूर्यकांत त्रिपाठी

App download animated image Get the free App now