Create

Tokyo Olympics - फवाद मिर्ज़ा और सानिया मिर्ज़ा रिश्तेदार हैं क्या?

Tokyo Olympics
Tokyo Olympics

टोक्यो ओलंपिक 2020 में घुड़सवारी के जंपिंग इवेंट में उतरे भारतीय घुड़सवार फवाद मिर्जा ने बेहतरीन प्रदर्शन से दिल जीत लिया। हालाँकि उन्होंने पदक नहीं जीता लेकिन ओलंपिक के फाइनल तक पहुंच कर उन्होंने एक ख़ास उपलब्धि ज़रूर हासिल कर ली है।

आपको बता दें कि 20 साल बाद फवाद मिर्जा के रूप में एक ऐसा घुड़सवार सामने आया है, जो टोक्यो ओलंपिक में देश का प्रतिनिधित्व कर रहा है। ख़बर के मुताबिक, ओलंपिक में दो दशक से अधिक समय में घुड़सवारी में उतरे एकमात्र भारतीय फवाद मिर्जा ने क्रॉस कंट्री स्पर्धा 11. 20 पेनल्टी अंक के साथ जीती। इसी के साथ वो स्पर्धा में 22वां स्थान हासिल करने में कामयाब रहे।

ओलंपिक में अपनी ज़बरदस्त परफ़ॉर्मेंस को लेकर सुर्खियों में आये फवाद मिर्जा एक और वजह से सुर्खियों में छाये हुए हैं। क्या आप जानते हैं कि फवाद मिर्जा और टेनिस प्लेयर सानिया मिर्जा का गहरा नाता है। यकीन के साथ कह सकते हैं कि आपको इसकी जानकारी नहीं होगी। चलिये अब आपको बताते हैं कि आखिर भारत के घुड़सवार और देश की टेनिस प्लेयर के बीच ख़ास रिश्ता क्या है।

सानिया मिर्जा के पिता इमरान मिर्जा ने फवाद मिर्जा और सनिया मिर्जा के रिलेशन को लेकर बड़ा खुलासा किया है। सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी देते हुए वो लिखते हैं कि दुनिया बहुत छोटी है। पता चलता है कि फवाद मिर्जा के पिता, हसनैन और चाचा ज़ैन हमारी युवा अवस्था में मेरे करीबियों में से एक थे, क्योंकि वे मेरे एक प्रिय मित्र के चचेरे भाई थे, जबकि मेरे अपने चचेरे भाई के करीबी दोस्त भी थे।

रिपोर्ट के मुताबिक, फवाद मिर्जा ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने वाले तीसरे भारतीय घुड़सवार हैं। फवाद मिर्जा से पहले इंद्रजीत लांबा (1996, अटलांटा) और इम्तियाज अनीस (2000, सिडनी) भी ओलिंपिक ‘इवेंट’ में देश का प्रतिनिधित्व करने का सौभाग्य प्राप्त कर चुके हैं। गौरतलब है कि इंद्रजीत लांबा ओलिंपिक में देश का प्रतिनिधित्व करने वाले पहले भारतीय व्यक्तिगत घुड़सवार थे।

चलो भाई अब फवाद मिर्जा के बारे में भी पता चल गया। इसके साथ उनके और सानिया मिर्जा के रिश्ते के बारे में, इससे अच्छी बात और क्या होगी।

Tokyo Olympics पदक तालिका

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़
Be the first one to comment